भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने यूपी के 5 एअरपोर्ट के लिए योगी सरकार से किया समझौता

Font Size

भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण  ने अलीगढ़, आजमगढ़,चित्रकूट, मुइरपुर, श्रावस्ती हवाई अड्डों के संचालन और प्रबंधन के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के समझौते पर हस्ताक्षर किए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में समझौते पर हस्ताक्षर

 

नई दिल्ली : भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) ने आज 30 वर्षों की अवधि के लिए उत्तर प्रदेश सरकार के स्वामित्व वाले पांच हवाई अड्डों के संचालन के लिए एक संचालन और प्रबंधन समझौते पर हस्ताक्षर किए। ये पांच हवाई अड्डे अलीगढ़, आजमगढ़, चित्रकूट, मुइरपुर और श्रावस्ती हैं।

एएआई की ओर से श्री एनवी सुब्बारायुडु, ईडी (एसआईयू) उत्तर प्रदेश के नागरिक उड्डयन विभाग के विशेष सचिव श्री कुमार हर्ष, मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए गए। एमओयू का आदान-प्रदान एएआई के अध्यक्ष श्री संजीव कुमार और उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री एसपी गोयल द्वारा किया गया। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव श्री डी एस मिश्रा और सदस्य योजना (एएआई) श्री एके पाठक  भी उपस्थित थे।

 

समझौते के अनुसार, एएआई हवाई अड्डों का संचालन और प्रबंधन करेगा और सभी आवश्यक सेवाएं प्रदान करेगा। संचार नेविगेशन निगरानी/हवाई यातायात प्रबंधन (सीएनएस/एटीएम) सेवाएं भी एएआई द्वारा प्रदान की जाएंगी, जिसके लिए राज्य सरकार एक अलग समझौता करेगी। इसके अलावा, आरक्षित संबंधित सेवाएं भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाएंगी जिसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार नागरिक उड्डयन मंत्रालय (एमओसीए), भारत सरकार के साथ अलग समझौता ज्ञापन (एमओयू) करेगी। एएआई इन पांच हवाई अड्डों के लिए हवाई अड्डा लाइसेंस प्राप्त करने और उसे बनाए रखने के लिए भी जिम्मेदार होगा।

समझौते के अनुसार, उत्तर प्रदेश सरकार हवाई अड्डों को वाणिज्यिक संचालन के लिए तैयार करने के लिए प्रारंभिक पूंजीगत कार्यों को पूरा करेगी और सभी चल और अचल संपत्तियों के साथ-साथ प्रासंगिक अनुमोदन, संचालन और प्रबंधन के लिए एएआई को दस्तावेज सौंपेगी। उत्तर प्रदेश सरकार हवाई अड्डे पर (अंदर और बाहर) पानी, बिजली और जल निकासी कनेक्शन आदि जैसी उपयोगिताओं के लिए समर्पित बुनियादी ढांचा प्रदान करेगी।

यह पहली बार है जब एएआई राज्य सरकार के स्वामित्व वाले हवाई अड्डों के संचालन के लिए राज्य सरकार के साथ एक ओ एंड एम समझौता कर रहा है। एएआई सबसे बड़ा हवाई अड्डा परिचालक और एकमात्र हवाई नौवहन सेवा प्रदाता होने के नाते देश भर में हवाई संपर्क प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

 

One thought on “भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने यूपी के 5 एअरपोर्ट के लिए योगी सरकार से किया समझौता

Comments are closed.

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: