इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट (ISTD) की नई कार्यकारिणी का गठन : नवनिर्वाचित प्रबंधन समिति ने आज कार्यभार संभाला

Font Size

अब तक डिप्लोमा कार्यक्रम के 82 बैच तक के छात्रों के लिए संपर्क कक्षाओं का किया आयोजन

-संपर्क कार्यक्रम से लगभग 100 प्रतिभागी लाभान्वित हुए

-आईएसटीडी गुड़गांव चैप्टर में सदस्यों की संख्या बढ़कर 151 हुई 

-अध्यक्ष राज सिंह आंतिल ने भविष्य में रचनातमक गतिविधियों के विस्तार की बात की 

गुरुग्राम :  इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट (ISTD) का वार्षिक अधिवेशन रविवार को मारुति ट्रेनिंग सेंटर में सम्पन्न हुआ। इसकी  अध्यक्षता राज सिंह आंतिल ने की जो गुरुग्राम चैपटर के अध्यक्ष हैं। केनरा बैंक के पूर्व सीएम डी राजीव कुमार दूबे को  सम्मेलन में मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया था। नई कार्यकारिणी का अगले दो वर्षों के लिए चयन किया गया जबकि नवनिर्वाचित प्रबंधन समिति ने आज कार्यभार भी ग्रहण किया. अधिवेशन के दौरान इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट के कोषाध्यक्ष एम एस दहिया ने वर्ष 2021 -22 का लेखा-जोखा प्रस्तुत किया. संस्था की आम सभा ने इसे ध्वनि मत से पारित कर दिया। सभा का संचालन संस्था की सचिव अर्चना द्वारा किया गया।

उल्लेखनीय है कि इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट (ISTD), अप्रैल 1970 में स्थापित, एक राष्ट्रीय स्तर का पेशेवर और गैर-लाभकारी पंजीकृत सोसायटी है. प्रशिक्षण के क्षेत्र में शामिल प्रोफेशनल्स और संस्थान बड़ी संख्या में इस संस्था के सदस्य हैं । साथ ही सरकार, सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के संगठनों और औद्योगिक प्रतिष्ठानों, मानव संसाधन विकास के लिए शैक्षिक और प्रशिक्षण के लिए समर्पित संस्थान और अन्य व्यावसायिक निकाय भी इस सोसाइटी से जुड़े हुए हैं।

संस्था के गुड़गांव चैप्टर की स्थापना जून 2013 में कि गई थी. स्थापना के वर्ष से ही विशेष रूप से कौशल, प्रशिक्षण और विकास के क्षेत्र में ISTD के लक्ष्यों और उद्देश्यों को हासिल करने की दिशा में सक्रीय भूमिका में है।

इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट (ISTD) की नई कार्यकारिणी का गठन : नवनिर्वाचित प्रबंधन समिति ने आज कार्यभार संभाला 2वार्षिक अधिवेशन को संबोधित करते हुए  इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट के अध्यक्ष राज सिंह आंतिल ने वर्ष 2021-22 की वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की. 9 वें वार्षिक अधिवेशन में उन्होंने संस्था की लम्बी यात्रा और उसकी शानदार उपलब्धियों का विस्तार से उल्लेख किया. उन्होंने कहा कि जिस लक्ष्य को लेकर इस संस्था का गठन किया गया उस दिशा में हमारा सामूहिक प्रयास निरंतर जारी है. श्री आंतिल ने इसके लिए सोसाइटी की पूरी टीम के प्रयासों की सरहाना की.

उन्होंने बताया कि इंडियन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट ( ISTD ) गुड़गांव चैप्टर में सदस्यों की संख्या मार्च 2021 में 109 थी जबकि  मार्च 2022 में यह संख्या बढ़कर 151 हो गई. उनका कहना था कि यह सुखद और उत्साहवर्धक  तथ्य है कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान कुल 27 सदस्य ISTD गुरुग्राम चैप्टर में शामिल हुए।

राज सिंह आंतिल के अनुसार आईएसटीडी डिप्लोमा प्रोग्राम के लिए 75 वें बैच के लिए शुरू की गई संपर्क कक्षाएं गुड़गांव चैप्टर द्वारा आनलाइन आयोजित की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि “ हमने डिप्लोमा कार्यक्रम के 82 बैच तक के छात्रों के लिए संपर्क कक्षाओं का आयोजन किया है। अब कक्षाएं ऑनलाइन आयोजित की जाती हैं. हम डिप्लोमा छात्रों के लिए ऑनलाइन कक्षाओं का आयोजन करने वाली  पहली संस्था हैं.” उन्होंने भविष्य में भी जनहित को ध्यान में रखते हुए रचनातमक गतिविधियों के आयोजन का आश्वासन दिया.

उन्होंने जानकारी दी कि ये संपर्क कक्षाएं आईएसटीडी गड़गांव चैप्टर के सदस्यों द्वारा संचालित की जाती हैं. उनके प्रशिक्षण को लेकर उत्साहजनक रेस्पोंस मिल रहे है। गौरतलब है कि संस्था द्वार चलाये जा रहे इस संपर्क कार्यक्रम से लगभग 100 प्रतिभागी लाभान्वित हुए हैं।

गुड़गांव चैप्टर ने अप्रैल 2020 से महामारी की स्थिति के बावजूद मई 2021 से जून 2022 के दौरान विभिन्न विषयों पर 11 शाम की वार्ता और वेबिनार का आयोजन किया। टीम आईएसटीडी समय-समय पर विभिन्न कार्यक्रमों के आयोजन में हमेशा सक्रिय भूमिका अदा करती रही है. सामाजिक ज़िम्मेदारी के रूप में ISTD GURUGRAM  ने COVID के दौरान लगभग 10 हजार मास्क का वितरण भी कमजोर वर्ग के नागरिकों में किया।

आईएसटीडी की नवनिर्वाचित प्रबंधन समिति ने आज कार्यभार भी ग्रहण किया. नई प्रबंधन समिति में राज सिंह आंतिल चेयरमैन, मुसरत हुसैन उप चेयरमैन, अर्चना ठाकरान सचिव जबकि कोषाध्यक्ष की जिम्मेदारी एम एस दहिया ने संभाली .

एन सी सदस्य के रूप में एस पी गुप्ता, ए. डी. बर्मन तथा श्रीमती रमिता जबकि कार्यकारिणी सदस्य आर के दूबे व एन के दास को शामिल किया गया। इस नई कार्यकारिणी का चयन आगामी दो वर्षों 2022- 24  के लिए सर्वसम्मति से किया गया।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: