खेल खेलने के लिए सप्ताहांत या छुट्टियों के दिनों का इंतजार नहीं करना चाहिए : अनुराग ठाकुर

Font Size

अनुराग ठाकुर ने पादुकोण-द्रविड़ सेंटर फॉर स्पोर्ट्स एक्सीलेंस में अत्याधुनिक सुविधाओं का उपयोग करने तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा करने के लिए अधिक कौशल विकसित करने का आह्वान किया

नई दिल्ली :  केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण, युवा कार्यऔर खेल मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा कि हमें खेल खेलने के लिए सप्ताहांत या छुट्टियों के दिनों का इंतजार नहीं करना चाहिए बल्कि कहीं भी और किसी भी समय खेल शुरू कर देना चाहिए। उन्होंने पादुकोण-द्रविड़ सेंटर फॉर स्पोर्ट्स एक्सीलेंस (सीएसई) में खिलाड़ियों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि इस केंद्र की अत्याधुनिक सुविधाओं का उपयोग अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिस्पर्धा के लिए अधिक कौशल विकसित करने के उद्देश्य हेतु किया जाना चाहिए।

 

पादुकोण-द्रविड़ सेंटर फॉर स्पोर्ट्स एक्सीलेंस (सीएसई) बेंगलुरु में 15 एकड़ में बना एक विश्व स्तरीय एकीकृत खेल परिसर है। इसमें बैडमिंटन, क्रिकेट, फुटबॉल, टेनिस, तैराकी, स्क्वॉश, बास्केटबॉल और निशानेबाजी में अत्याधुनिक सुविधाएं मौजूद हैं। इसका उद्देश्य प्रतिस्पर्धी और मनोविनोद एथलीटों, पेशेवर कोचों, खेल अकादमियों और इच्छुक युवा प्रतिभाओं को उनकी पसंद के खेल में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करना है। सीएसईको अभी हाल में भारतीय खेल प्राधिकरण द्वारा बैडमिंटन और तैराकी दोनों के लिए राष्ट्रीय उत्कृष्टता केंद्र के रूप में मान्यता दी गई थी।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image0024VET.jpg

सीएसई की अकादमियां खेल संस्कृति के निर्माण और प्रोत्साहन के लिए जमीनी स्तर पर कार्यक्रमों को पूरा करती हैं और साथ-साथ ही भविष्य में अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों को तैयार करने का लक्ष्यभी निर्धारित करती है। सीएसईनेपहले ही लक्ष्य सेन, श्रीहरि नटराज, अश्विनी पोनप्पा और अपूर्वी चंदेली जैसे भारत के कुछसर्वाधिक प्रतिभाशाली और सफल एथलीटों की मेजबानी की है।

सीएसई देश में कुछ सबसे सफल और प्रसिद्ध खेल अकादमियों का घर है,जो द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता विमल कुमार (प्रकाश पादुकोण बैडमिंटन अकादमी के मुख्य प्रशिक्षक) और निहार अमीन (डॉल्फिन एक्वेटिक्स के प्रमुख प्रशिक्षक) सहित कुछ बहुत कुशल प्रशिक्षकों द्वारा संचालित की जा रही हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image003SPJ9.jpg

किसी एथलीट की यात्रा काएक महत्वपूर्ण पहलू वह समर्थन है जिसकी उसे विश्व स्तर पर प्रदर्शन करने के लिए खेल विज्ञानों के माध्यम से जरूरत पड़ती है। सीएसई में, अभिनव बिंद्रा टार्गेटिंग परफॉर्मेंस सेंटर (एबीटीपी), वेसोमा स्पोर्ट्स मेडिकल सेंटर और समीक्षा साइक्लॉजी हमारे एथलीटों कोग्राहक सेवाएं प्रदान करते हैं जिनमें फिजियोथेरेपी, चोट पुनर्वास, हाइड्रोथेरेपी, जेरियाट्रिक देखभाल, खेल पोषण और खेल मनोविज्ञान शामिल हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image004I3GR.jpg

एबीटीपीकी स्थापना भारत के एकमात्र व्यक्तिगत ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता, अभिनव बिंद्रा द्वारा की गई थीऔर इसकेंद्र में अभिजात वर्ग के एथलीटों और मनोरंजक उपयोगकर्ताओं दोनों के लिए मूल्यांकन और प्रशिक्षण के लिए अत्याधुनिक उपकरण मौजूद हैं, जिसमें पिलाटे के कमरे और क्रायोथेरेपी कक्ष तक पहुंच भी शामिल है।

यह केन्द्र खेल प्रेमी व्यक्तियों और कॉरपोरेट को खेल सदस्यता भी प्रदान करता है। इसके साथ-साथ उन्हें अपनी पसंद के खेल के साथ, पूरी तरह कार्यात्मक फिटनेस केन्द्र और इसपरिसर के बीचों-बीच स्थित दो मंजिला क्लब हाउस ‘द ग्रैंडस्टैंड’ तक पहुंच भीउपलब्ध है।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image005KAUR.jpg

श्री राहुल द्रविड़क्रिकेटर, श्री विवेक कुमारप्रबंध निदेशक, पादुकोण-द्रविड़ सेंटर फॉर स्पोर्ट्स एक्सीलेंस (सीएसई)सदस्य और वरिष्ठ अधिकारी भी श्री अनुराग ठाकुर की यात्रा के दौरान उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: