केंद्रीय पर्यटन मंत्री ने पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ के पर्यटन की समीक्षा की

Font Size

 पर्यटन विभागों के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की

पर्यटन क्षेत्र में अधिकतम लाभ के लिए केंद्र और राज्य सरकारों में तालमेल जरूरी:  जी. किशन रेड्डी

आनंदपुर साहिब – फतेगढ़ साहिब – चमकौर साहिब – फिरोजपुर – अमृतसर के विकास के लिए पंजाब के पर्यटन मंत्रालय ने स्वदेश दर्शन के तहत एक हेरिटेज सर्किट को मंजूरी दी

नई दिल्ली :  केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति और पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास (डीओएनईआर) मंत्री जी. किशन रेड्डी ने आज एक बैठक में तीर्थयात्रा कायाकल्प और आध्यात्मिक संवृद्धि अभियान (प्रसाद) और भारत सरकार के पर्यटन मंत्रालय की स्वदेश दर्शन योजनाओं के तहत विभिन्न परियोजनाओं की स्थिति की समीक्षा की। यह बैठक चंडीगढ़ में हरियाणा राजभवन में पंजाब, हरियाणा और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पर्यटन विभाग के अधिकारियों और होटल प्रबंधन संस्थानों के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित की गई थी।

 

केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति और पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास (डीओएनईआर) मंत्री  जी. किशन रेड्डी आज हरियाणा राजभवन में अधिकारियों के साथ बैठक के दौरानhttps://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002T6Q5.jpg

केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति और पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास (डीओएनईआर) मंत्री  जी. किशन रेड्डी आज हरियाणा राजभवन में पंजाब, हरियाणा और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के पर्यटन विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक के दौरान

केंद्रीय मंत्री ने अधिकारियों को स्मारकों की सुरक्षा और संरक्षण के लिए कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (सीएसआर) के तहत कॉर्पोरेट क्षेत्र में शामिल होने का भी आह्वान किया। श्री रेड्डी ने कहा कि पर्यटन क्षेत्र में अधिकतम लाभ प्राप्त करने के लिए केंद्र और राज्य सरकारों के विभिन्न कार्यक्रमों के बीच तालमेल बनाने की जरूरत है। उन्होंने ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ को एक ब्रांड के रूप में बढ़ावा देने पर जोर दिया और पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए सोशल मीडिया को एक उपकरण के रूप में उपयोग करने की आवश्यकता पर जोर दिया।

किशन रेड्डी ने बताया कि पर्यटन मंत्रालय ने पंजाब में आनंदपुर साहिब – फतेगढ़ साहिब – चमकौर साहिब – फिरोजपुर – अमृतसर – खतकरकलां – कलानौर – पटियाला के विकास के लिए स्वदेश दर्शन के तहत एक हेरिटेज सर्किट को मंजूरी दी है।

केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय ने पंजाब और हरियाणा के लिए स्वदेश दर्शन और प्रसाद योजनाओं के तहत विभिन्न परियोजनाओं को मंजूरी दी है जिसमें कृष्णा सर्किट, पंचकूला में नाडा साहिब गुरुद्वारा और माता मनसा देवी मंदिर का विकास, अमृतसर में करुणा सागर वाल्मीकि स्थल का विकास, अमृतसर रेलवे स्टेशन / कुरुक्षेत्र रेलवे स्टेशन में पर्यटक सुविधाएं, मेलों और त्योहारों के लिए वित्तीय सहायता आदि शामिल हैं।

पंजाब में पर्यटन संबंधी योजनाओं के विवरण के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा में पर्यटन संबंधी योजनाओं के विवरण के लिए यहां क्लिक करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: