शहीदों के बलिदान का सदैव ऋणी रहेगा राष्ट्र : डा. बनवारी लाल

7 / 100
Font Size

सहकारिता मंत्री ने गांव आसलवास राउवि का नामकरण शहीद महेश के नाम पर किया

प्रदेश सरकार मनोहर लाल के नेतृत्व में शहीदों को दे रही पूरा मान सम्मान

चंडीगढ़, 23 नवंबर- हरियाणा के सहकारिता, अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्री डा. बनवारी लाल ने कहा कि शहीद किसी परिवार, क्षेत्र व प्रदेश विशेष का नहीं बल्कि पूरे देश की अमूल्य धरोहर है जो युवा शक्ति को देशप्रेम की सीख देता है। देश की सीमाएं हमारे वीर सैनिकों की बदौलत सुरक्षित हैं और इनकी बदौलत ही हम सभी आजादी की खुली हवा में सुख व चैन की सांस ले रहे हैं और राष्ट्र शहीदों के बलिदान का सदैव ऋणी रहेगा।

सहकारिता मंत्री डा. बनवारी लाल आज ज़िला रेवाड़ी के गांव आसलवास के राजकीय उच्च विद्यालय का नामकरण शहीद महेश के नाम पर करने उपरांत आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि यह गौरव की बात है कि गांव के शहीद महेश ने देश की रक्षा में अपने प्राणों की आहुति दी थी। उन्होंने कहा कि वे शहीद के परिजनों के प्रति कृतज्ञता जाहिर करते हैं। सहकारिता मंत्री ने इस अवसर पर शहीद महेश की वीरांगना को सम्मानित भी किया।

उन्होंने कहा कि हमारे देश के वीरों के बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। देश के वीर सैनिक जब सीमाओं की निगरानी में जगते हैं तब हम अपने घरों में चैन की नींद सोते हैं। उन्होंने कहा कि आने वाली पीढ़ी शहीद महेश के जीवन से हमेशा सीख लेगी कि किस प्रकार हमारे वीर जवान हमारी सुरक्षा के लिए अपना सब कुछ बलिदान करने के लिए सदैव तैयार रहे हैं। उन्होंने कहा कि वे शहीद के परिजनों के त्याग को नमन करते हैं।

सरकार दे रही है वीर शहीदों को पूरा मान-सम्मान

डा. बनवारी लाल ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत पहले से और अधिक शक्तिशाली और मजबूत हुआ है। उन्होंने कहा कि सरकार सैनिकों को पूरा मान-सम्मान दे रही है। श्री नरेन्द्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनने से पहले रेवाड़ी में आयोजित सैनिक सम्मान रैली में सैनिकों के लिए वन-रैंक वन पैंशन की घोषणा की थी और प्रधानमंत्री बनते ही उस घोषणा को पूरा कर दिखाया, जिसका लाभ सबसे अधिक अहीरवाल के इस सैनिक बाहुल्य क्षेत्र को मिल रहा है।

सहकारिता मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार मनोहर लाल के नेतृत्व में शहीदों को पूरा मान सम्मान दे रही है। सरकार द्वारा सहायता राशि को बढ़ाकर 20 लाख से 50 लाख किया गया है तथा शहीद परिवारों के लगभग250 आश्रितों को सरकारी नौकरियां दी गई हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की योजनाओं में भी शहीदों के आश्रितों व परिवारों को प्राथमिकता दी जा रही है।

उन्होंने बताया कि रेवाड़ी जिला के 86 राजकीय विद्यालयों का नामकरण क्षेत्र के अमर शहीदों के नाम से रखकर सरकार ने वीर सपूतों की शहादत को नमन किया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल अंत्योदय की भावना के अनुरूप कार्य करवा रहे हैं, जिसके लिए प्रदेश में परिवार पहचान पत्र योजना लागू की गई है, जिसके तहत 50 हजार रुपए सालाना आय से कम गरीब परिवारों को सरकार की योजनाओं का लाभ सबसे पहले दिया जाएगा। गांव के दौरे के दौरान उन्होंने गांव की समस्याएं सुनीं और उन्हें पूरा करने का आश्वासान दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page