शहीद स्मारकों को प्रेरणा स्थल के रूप में स्थापित करने को हरियाणा भाजपा ने तैयार की रूपरेखा

Font Size

-देश के शहीद स्मारकों और शहादत स्थलों के दर्शन करने की योजना तैयार

-26 दिसंबर को पोर्ट ब्लेयर की 4 दिवसीय यात्रा पर निकलेंगे  हरियाणा से सैंकड़ों भाजपाई

-गुरुग्राम में प्रदेश स्तरीय “प्रशिक्षण योजना बैठक” में आगामी कार्यक्रम भी तय

-बलिदानियों की गाथाओं को घर-घर पहुंचाना हर भाजपाई की जिम्मेदारी : ओमप्रकाश धनखड़

-शहीदी स्थलों पर जाने वाले आजादी के बलिदानियों के परिवार की यात्रा का खर्च उठाएगी भाजपा

गुरुग्राम : भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को गुरुग्राम में आयोजित एक प्रदेश स्तरीय “प्रशिक्षण योजना बैठक” में अपनी आगामी योजनाओं का खाका तैयार किया है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ की अध्यक्षता और प्रदेश के मंत्रियों, सांसदों, प्रदेश पदाधिकारियों और जिला प्रभारियों एवं अध्यक्षों की उपस्थिति वाली इस बैठक में आगामी संगठनात्मक कार्य तय करने के अलावा एक बड़ी योजना पर काम करने का निर्णय लिया गया। प्रदेश भाजपा की योजना है कि आजादी के बलिदानियों के स्मारकों और बलिदान स्थलों को प्रेरणा स्थल के रूप में स्थापित किया जाए ताकि अनजान बलिदानियों की गाथाएं भी घर-घर तक पहुंच सके। इसकी शुरुआत प्रदेश भाजपा 26 दिसंबर से करने जा रही है।

शहीद स्मारकों को प्रेरणा स्थल के रूप में स्थापित करने को हरियाणा भाजपा ने तैयार की रूपरेखा 2
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने बताया कि जिन भारतीयों को अंग्रेजी राज में काला पानी की सजा हुई और जिनकी शहादत भी वहीं हुई, ऐसे वीर शहीदों को याद करने हरियाणा भाजपा के सैंकड़ों कार्यकर्ता 26 दिसंबर को पोर्ट ब्लेयर रवाना होंगे।  वहां शहीदों की गाथाओं को अपने अंदर बसा लेने के बाद 30 दिसंबर को सभी कार्यकर्ता वापिस लौटेंगे और जन-जन तक बलिदानियों की गाथाएं पहुंचाएंगे।
धनखड़ के अनुसार यह सिलसिला लगातार जारी रहेगा।

बैठक में फैसला हुआ कि पोर्ट ब्लेयर के बाद जलियांवाला बाग, दांढी मार्च स्थल गुजरात, हुसैनीवाला आदि देश भर के शहीदी स्थलों पर भाजपा का कार्यकर्ता पहुंचेगा। शुरुआत में प्रदेश स्तर के कार्यकर्ताओं को इन यात्राओं पर ले जाने का निर्णय लिया गया है। शहीद स्मारकों की यात्रा पर जाने वाला भाजपा कार्यकर्ता अपना खर्च खुद उठाएगा। धनखड़ ने बताया कि यह योजना भी बनाई जा रही है कि हरियाणा में ऐसे शहीद परिवारों के लोग अगर ये यात्रा करना चाहेंगे तो इनका खर्च भाजपा उठाएगी।

बैठक में ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि आजादी के लिए हजारों लोगों ने शहादत दी। भाजपा की  कोशिश है कि उनकी गाथाएं देश का बच्चा-बच्चा जाने और उनके अंदर अपने बलिदानियों के प्रति सम्मान और गर्व के भाव उत्पन्न हों। उन्होंने कहा कि ऐसा कोई गांव या शहर नहीं जहां आजादी के लिए बलिदान नहीं हुए हों। हमें सभी नायकों की गाथाएं सामने लानी है। धनखड़ ने कहा कि शहीदी स्थलों तक जाकर ही हम विभाजन की पीड़ा को समझ सकते हैं।

आज की इस बैठक में जिला प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन 15 दिसंबर तक सभी जिलों में कर लेना भी तय हुआ। 25 दिसंबर के दिन अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती को हर बूथ पर मनाने का फैसला भी बैठक में हुआ। ओमप्रकाश धनखड़ ने बताया कि हर बूथ पर कम से कम 11 कार्यकर्ताओं द्वारा वाजपेयी जी को याद किया जाएगा। ऐसे प्रदेश भर में 2 लाख कार्यकर्ता अटल जी को याद करेंगे। इस मौके पर अटल बिहारी बाजपेयी द्वारा शहीदों के लिए किए गए कार्य के पत्रक भी कार्यकर्ताओं में वितरित किए जाएंगे।

इससे पहले 19 दिसंबर को प्रदेश के सभी 308 मंडलों में एक साथ बैठक कर एक दिन में ही 30 हजार से अधिक कार्यकर्ताओं से रूबरू होने और उन्हें प्रशिक्षित किये जाने का फैसला बैठक में हुआ। ओमप्रकाश धनखड़ ने सभी जिला अध्यक्षों को निर्देश दिए कि हर बैठक में कम से कम  100 कार्यकर्ता जरूर हों। सभी जिलाध्यक्षों ने हाथ उठाकर इस कार्यक्रम को सफलता पूर्वक कर लेने का आश्वासन प्रदेश अध्यक्ष को दिया।

लिखे जाएंगे पुराने कार्यकर्ताओं के अनुभव

ने जिला कार्यालय में हवन के बाद शुरू हुई इस पहली बैठक में एक बड़ा फैसला यह भी लिया गया कि प्रदेश भाजपा के पुराने नेताओं और कार्यकर्ताओं के अनुभव लिखें जाएंगे। ओम प्रकाश धनखड़ ने डाक्टर मंगल सेन के संबंध में लिखने की जिम्मेदारी पूर्व शिक्षा मंत्री राम बिलास शर्मा को दी। इसके अलावा बैठक में ही अनेक नेताओं को ऐसे ही पार्टी के लिए खप जाने वाले कार्यकर्ताओं के बारे में लिखकर मोदी एप पर “कमल पुष्प” पर डालने के लिए कहा। रामबिलास शर्मा को ही ऐसे कार्यकर्ताओं की सूची बनाने की जिम्मेदारी दी गई है।

बैठक में प्रदेश महामंत्री वेदपाल एडवोकेट, महामंत्री पवन सैनी, महामंत्री मोहनलाल, संगठन मंत्री रविंद्र राजू और सभी जिला प्रभारी, सभी जिला अध्यक्ष, सभी प्रशिक्षण प्रमुख के अलावा केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह, हरियाणा के मंत्री ओमप्रकाश यादव, मंत्री बनवारी लाल , मंत्री संदीप सिंह, मंत्री कमलेश ढांडा, जेपी दलाल, मंत्री कंवर पाल गुर्जर, पूर्व सांसद सुधा यादव, सांसद अरविंद शर्मा, सांसद रमेश कौशिक, रत्नलाल कटारिया, राज्य सभा सांसद डीपी वत्स, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला, पूर्व मंत्री राम बिलास शर्मा, विधानसभा उपाध्यक्ष रनवीर गंगवा, पूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर, पूर्व प्रदेश महामंत्री संदीप जोशी, प्रदेश उपाध्यक्ष जीएल शर्मा, प्रशिक्षण प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष ओमप्रकाश अत्रे, प्रदेश सचिव समय सिंह, सचिव मनीष मित्तल, प्रदेश मीडिया सह प्रमुख अरविंद सैनी, प्रवक्ता प्रवीण अत्रे, जिला अध्यक्ष गार्गी कक्कड़ सहित प्रदेश और जिला के वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: