नारायण राणे ने किया भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले में “एमएसएमई मंडप” का उद्घाटन

Font Size

नई दिल्ली :   केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री नारायण तातू राणे ने आज नई दिल्ली में 40वें भारत अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले (आईआईटीएफ) में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम राज्य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा की उपस्थिति में “एमएसएमई मंडप” का उद्घाटन किया। एमएसएमई मंडप का आयोजन नई दिल्ली में प्रगति मैदान के हॉल नंबर 7-एफजीएच में किया गया है।

 

उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए श्री राणे ने कहा कि यह व्यापार मेला एमएसएमई उद्यमियों, विशेष रूप से महिलाओं, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति और आकांक्षी जिलों के व्यवसाइयों को अपने कौशल/उत्पादों का प्रदर्शन करने, विकास के नए अवसर पैदा करने तथा आत्मनिर्भरता का लक्ष्य प्राप्त करने का अवसर प्रदान करेगा। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सरकार की अनुकूल औद्योगिक नीति और एमएसएमई मंत्रालय द्वारा कार्यान्वित विभिन्न योजनाएं/कार्यक्रम एमएसएमई क्षेत्र को 5 ट्रिलियन अमरीकी डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने के प्रधानमंत्री के असाधारण स्वप्न को साकार करने में अपनी पूरी क्षमता का दोहन करने में मदद कर रहे हैं।

https://static.pib.gov.in/WriteReadData/userfiles/image/image002VYUR.jpg

श्री राणे ने एमएसएमई पेवेलियन का दौरा किया और विभिन्न एमएसएमई प्रदर्शकों से भी मुलाकात की। कुल 316 एमएसएमई लगभग 20 क्षेत्रों में अपने उत्पादों का प्रदर्शन कर रहे हैं। जिनमें आयुष, सिरेमिक, रसायन, सौंदर्य प्रसाधन, इलेक्ट्रिकल/इलेक्ट्रॉनिक्स, कढ़ाई, भोजन, जूते, हस्तशिल्प, हथकरघा, गृह सज्जा, शहद, जूट, चमड़ा, धातु विज्ञान, रत्न और आभूषण, कपड़ा, खिलौने, लकड़ी आदि शामिल हैं।

इस वर्ष, एमएसएमई पवेलियन में देश के विभिन्न हिस्सों से अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के उद्यमियों के साथ-साथ महिलाओं के नेतृत्व वाले उद्यमों (71%) की अब तक की सबसे अधिक भागीदारी देखी गई है।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: