आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ हम, अगले 25 वर्षों के भारत की बुनियाद रच रहे हैं : प्रधानमंत्री

13 / 100
Font Size

पीएम नरेंद्र मोदी ने किया एम गतिशक्ति – मल्टी- मॉडल कनेक्टिविटी के लिए राष्ट्रीय मास्टर प्लान का उद्घाटन

सुभाष चौधरी 

नई दिल्ली :  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी @narendramodi ने आज पीएम गतिशक्ति – मल्टी- मॉडल कनेक्टिविटी के लिए राष्ट्रीय मास्टर प्लान का उद्घाटन किया. इस अवसर पर उन्होंने नई दिल्ली के प्रगति मैदान में नव निर्मित 4 प्रदर्शनी परिसर का भी लोकार्पण किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन समारोह को संबोधित करते पूर्व की सरकारों की धीमी गति की कार्यशैली पर कटाक्ष करते हुए कि हमारे देश में इंफ्रास्ट्रक्चर का विषय ज्यादातर राजनीतिक दलों की प्राथमिकता से दूर रहा है। ये उनके घोषणापत्र में भी नजर नहीं आता। उन्होंने कहा कि अब तो ये स्थिति आ गई है कि कुछ राजनीतिक दल, देश के लिए जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण पर भी आलोचना करने लगे हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि दुनिया में ये स्वीकृत बात है कि Sustainable Development के लिए Quality इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण एक ऐसा रास्ता है, जो अनेक आर्थिक गतिविधियों को जन्म देता है, बहुत बड़े पैमाने पर रोजगार का निर्माण करता है. उन्होंने दावा किया कि अब whole of government approach के साथ, सरकार की सामूहिक शक्ति योजनाओं को पूरा करने में लग रही है। उनका कहना था कि इसी वजह से अब दशकों से अधूरी बहुत सारी परियोजनाएं पूरी हो रही हैं.

पीएम ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ हम, अगले 25 वर्षों के भारत की बुनियाद रच रहे हैं। पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान, भारत के इसी आत्मबल को, आत्मविश्वास को, आत्मनिर्भरता के संकल्प तक ले जाने वाला है। उन्होंने सभी राज्य सरकारों को इससे जुड़ने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि स्वाधीनता के 75 वें वर्ष में देश के लिए कुछ कर गुजरने का समय है जिसके लिए सामूहिक प्रयास करना चाहिए .

उनके अनुसार ये नेशनल मास्टरप्लान, 21वीं सदी के भारत को गतिशक्ति देगा. गतिशक्ति के इस महाअभियान के केंद्र में हैं भारत के लोग, भारत की इंडस्ट्री, भारत का व्यापार जगत, भारत के मैन्यूफैक्चरर्स, भारत के किसान।

प्रधानमन्त्री मोदी ने बल देते हुए कहा कि ये भारत की वर्तमान और आने वाली पीढ़ियों को 21वीं सदी के भारत के निर्माण के लिए नई ऊर्जा देगा. उनके रास्ते के अवरोध समाप्त करेगा. हमने ना सिर्फ परियोजनाओं को तय समयसीमा में पूरा करने का work-culture विकसित किया बल्कि आज समय से पहले प्रोजेक्टस पूरे करने का प्रयास हो रहा है.

उन्होंने कहा कि पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान देश की पॉलिसी मेकिंग से जुड़े सभी स्टेकहोल्डर्स को, इन्वेस्टर्स को एक analytical और डिसीजन मेकिंग टूल भी देगा। इससे सरकारों को प्रभावी प्लानिंग और पॉलिसी बनाने में  मदद मिलेगी। 2014 से पहले के 5 सालों में सिर्फ 3,000 किलोमीटर रेलवे का बिजलीकरण हुआ था।

बीते 7 सालों में हमने 24 हजार किलोमीटर से भी अधिक रेलवे ट्रैक का बिजलीकरण किया है। 2014 के पहले लगभग 250 किलोमीटर ट्रैक पर ही मेट्रो चल रही थी। आज 700 किलोमीटर तक मेट्रो का विस्तार हो चुका है और 1,000 किलोमीटर नए मेट्रो रूट पर काम चल रहा।

इस अवसर पर बाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल, पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पूरी सहित कई प्रमुख अधिकारी भी मौजूद थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page