पुलिस टीम पर गोली चलने वाले तीन कुख्यात बदमाश मुठभेड़ के बाद पकड़े गये

Font Size

गुरुग्राम : चोरी की वारदातों को अंजाम देने में सक्रिय व पुलिस टीम पर गोली चलाकर जानलेवा हमला करने वाले तीन शातिर कुख्यात बदमाशों को मुठभेड़ के बाद अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरूग्राम की पुलिस टीम ने गिरफ्तार कर लिया । आरोपियों द्वारा पुलिस टीम पर  हमला करने में प्रयोग किया गया 01 पिस्टल,01 जिंदा कारतूस, 01 खाली खोल कारतूस, 01 नंबर प्लेट व 01 जीप (थार) पुलिस टीम ने  आरोपियों के कब्जा से बरामद की है ।

गुरुग्राम पुलिस के पी आर ओ सुभाष बोकन ने बताया कि शुक्रवार यानी 01/02. अक्टूबर 2021 की रात को निरीक्षक आनंद कुमार, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम को अपने विश्वशनीय सूत्रों की सहायता से एक सूचना 4/5 लडके एक पुराने टाईप की थार गाडी बिना नम्बर प्लेट में सवार होकर छावला रोड, दिल्ली गाँव बजघेड़ा के पास हथियारों सहित किसी बडी वारदात को अजांम देने की फिराक में घूमने के सम्बंध में प्राप्त हुई।

उन्होंने बताया कि  प्राप्त सूचना पर निरीक्षक आनंद कुमार, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरूग्राम की पुलिस टीम ने तत्परता से कानूनी औपचारिकताओं को पूरा करते हुई एक पुलिस रेडिंग टीम तैयार की गई व सभी को सूचना के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए सैक्टर-114 रोड पर नजदीक गांव बजघेडा, गुरूग्राम के पास पहुँचकर टॉर्च वा रिफलेक्टर जॉकेट पहनकर नाका बन्दी शुरु की और आने-जाने वाले व्हीकल को टॉर्च की मदद से रोकने का ईशारा करके करीब आधा घन्टा तक चैकिग की गई।

इसी दौरान एक गाडी दिल्ली से आने वाले रास्ते पर आती दिखाई दी जिसके पास आने पर टॉर्च की मदद से देखा तो वह एक पुरानी मॉडल की थार गाडी थी जिसके सामने कोई नम्बर प्लेट नही थी और सूचना में बताई हुई प्रतीत हो रही थी। जिस गाडी के चालक को टार्च का ईशारा करके गाडी रोकने का ईशारा किया तो गाडी चालक ने गाडी नही रोकी और सीधी बैरीगेट के पास खडे प्रधान सिपाही बीर सिह की तरफ बैरीगेट मे टक्कर मारी जिससे प्रधान सिपाही बीर सिह के दाहिने पैर मे बैरीगेट से चोट आई और जमीन पर गिर गया।

उसी समय गाडी थार में पीछे बैठे 3 नौजवान लडके वा चालक भी गाडी से नीचे उत्तर कर भागने लगे तथा गाडी की अगली बाई सीट पर बैठे लडके ने गाडी से उतरते ही अपने पास लिए हथियार से गोली चलाई जो गोली ASI नीरज के पास से निकलकर सरकारी गाडी की ड्राईवर साईड वाली खिडकी में लगी। पुलिस टीम ने बड़ी ही निडरता व साहस से उन लोगों का सामना करते हुए अपनी समझबूझ व अपने विवेक से गोली चलाने वाले बदमाश व उनके 02 साथी आरोपियों सहित 03 आरोपियों को काबू करने में बड़ी सफलता हासिल की.

हालांकि 02 अन्य अधेरे का फायदा उठाकर भागने में कामयाब हो गए। पुलिस टीम द्वारा काबू किए गए युवकों से उनका नाम व पता पूछा तो।उन्होंने अपना नाम व पता निम्नलिखित बताया:-

1. दारा सिह उपनाम धारा पुत्र स्वर्गीय पप्पु निवासी मकान नम्बर B-20 D-BLOCK दिनपुर एक्सटेंशन थाना छावला नफजगढ, दिल्ली। (पुलिस टीम पर गोली चलाने वाला आरोपी)

1. अमित उपनाम मीता पुत्र सुभाष निवासी गांव न्यु रोशनपुर मकान नम्बर-81 थाना छावला नफजगढ नई दिल्ली।

3. अभिनव शर्मा उपनाम चुन्नु पुत्र रमेशचन्द निवासी प्लाट नम्बर 205 खेवट नम्बर-365 रोशन बिहार-2 थाना छावला नफजगढ नई-दिल्ली।

▪️आरोपियों द्वारा पुलिस/सरकारी डयूटीके बाधा डालने, पुलिस टीम पर गोली चलाकर जानलेवा हमला करने पर उपरोक्त आरोपियों के खिलाफ थाना बजघेड़ा में धारा 186, 332, 353, 307, 34 IPC & 25(1B)(a) आर्म्स एक्ट के तहत अभियोग अंकित किया गया व आरोपियों को अभियोग के नियमानुसार गिरफ्तार किया गया।

▪️आरोपियों से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि ये जिस थार गाड़ी में सवार थे ये उस गाड़ी को अपने एक अन्य साथी से लेकर आए थे। ये चोरी लूटपाट की वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे थे तभी इनकी पुलिस के साथ मुठभेड़ हो गई।

▪️उपरोक्त आरोपियों के द्वारा पहले भी निम्नलिखित अभियोगों में वारदतों को अंजाम देना स्वीकार किया है:-

1. अभियोग संख्या 309 दिनाँक 21.08.2021 धारा 454, 457, 380, 381, 120B IPC थाना खेड़की दौला, गुरूग्राम।

2. अभियोग संख्या 155 दिनाँक 22.06.2021 धारा 379 IPC, थाना मानेसर, गुरूग्राम।

▪️आरोपियों द्वारा उपरोक्त अभियोग में पुलिस टीम पर गोली चलाकर व बैरिगेट को टक्कर मारकर जानलेवा हमला करने की वारदात को अंजाम देने में प्रयोग की गई 01 पिस्टल, 01 खाली खोल कारतूस, 01 जिंदा कारतूस, 01 जीप (थार) व जीप में रखी 01 नंबर प्लेट पुलिस टीम द्वारा आरोपियों के कब्जा से बरामद किया गया है।

▪️आरोपियों को आज दिनाँक 02.10.2021 को माननीय अदालत के सम्मुख पेश करके पुलिस हिरासत रिमांड पर लिया जाएगा।

▪️पुलिस हिरासत रिमांड के दौरान आरोपियों से अन्य साथी आरोपियों व अन्य वारदतों के बारे में गहनता से पूछताछ करते हुए नियमानुसार आगामी कार्यवाही की जाएगी। अभियोग अनुसन्धानधीन है।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: