मेयर मधु आजाद ने अधिकारियों को जमकर हड़काया, आदेश की अवहेलना करने वाले एस ई रमेश शर्मा को निगम से बाहर करने का फरमान सुनाया

Font Size
-सही ढ़ंग से कार्य नहीं करने वालों को दिखाया निगम से बाहर का रास्ता : मधु आजाद
– मेयर की अध्यक्षता में नगर निगम गुरूग्राम में कार्यरत सलाहकारों द्वारा किए जा रहे कार्यों की हुई समीक्षा
– विजिलैंस शाखा, स्वच्छ भारत मिशन शाखा, सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज शाखा, शिकायत प्रबंधन, लीगल, राजस्व, आईटी, पर्यावरण आदि शाखाओं में लगे सलाहकारों द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा के दौरान मेयर ने सभी सलाहकारों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश
– सलाहकारों द्वारा उनके अब तक के कार्यकाल में किए गए कार्यों की मेयर मधु आजाद ने मांगी सीधे रिपोर्ट

 – एस ई रमेश शर्मा से किया जवाब तलब, अधिकारी बैठक छोड़ कर चले गये

गुरूग्राम, 6 सितम्बर। गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद आज सलाहकारों की समीक्षा बैठक में तीखे तेवर में दिखीं. उन्होंने एक तरफ उनके निर्देश का पालन नहीं करने वाले एस ई रमेश शर्मा को निगम से बाहर करने की सिफारिश की तो दूसरी तरफ स्वच्छ भारत मिशन शाखा में कार्यरत सलाहकार अनिल मेहता की सेवा समाप्त करने का फरमान जारी कर दिया. उन्होंने आज बैठक में मौजूद निगम के अधिकारियों को उनके निर्देशों की अवहेलना करने के लिए जमकर हड़काया. मेयर ने सख्त लहजे में कहा कि सही ढ़ंग से कार्य नहीं करने वालों की नगर निगम गुरूग्राम में कोई जगह नहीं है.  उन्हें तुरंत प्रभाव से निगम से बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।  नगर निगम गुरूग्राम में कार्यरत सलाहकारों द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा के दौरान मेयर ने सभी सलाहकारों को निर्देश दिया कि वे जनहित तथा निगम हित को ध्यान में रखते हुए अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें। उन्होंने कहा कि हर तीन माह में उनके द्वारा सलाहकारों के कार्यों की समीक्षा की जाएगी।

समीक्षा के दौरान मेयर ने कहा कि सभी सलाहकार अपने-अपने कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यों की रिपोर्ट सीधे मेयर कार्यालय को भेजना सुनिश्चित करेंगे. साथ ही भविष्य में भी किए जाने वाले कार्यों की जानकारी मेयर कार्यालय को समय-समय पर देंगे। मेयर ने नगर निगम गुरूग्राम की कानूनी शाखा, विजिलैंस शाखा, स्वच्छ भारत मिशन, सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज, शिकायत प्रबंधन, आईटी व पर्यावरण आदि शाखाओं में लगे सलाहकारों द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की. बैठक में उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश दिया। स्वच्छ भारत मिशन शाखा में कार्यरत आईईसी एक्सपर्ट डा. हरभजन सिंह द्वारा दिए गए त्यागपत्र को स्वीकृत करने तथा इसी शाखा में कार्यरत सलाहकार अनिल मेहता की सेवाएं समाप्त करने का निर्णय बैठक में लिया गया।

विजिलैंस विंग की समीक्षा के दौरान मेयर मधु आजाद विंग की कार्यप्रणाली से असंतुष्ट नजर आई तथा उन्होंने अपनी नाराजगी खुल कर जाहिर की। उन्होंने कहा कि गांव डूंडाहेड़ा में चौपाल की दीवार गिरने के मामले में विजिलैंस विंग द्वारा पिछले 3 माह में कोई कार्रवाई नहीं की गई, जो कि चिन्ता का विषय है। इसके साथ ही विजिलैंस विंग द्वारा किसी भी प्रकार की रिपोर्ट मेयर कार्यालय को ना देना हरियाणा नगर निगम अधिनियम-1994 की अवहेलना है। अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि हर प्रकार की रिपोर्ट मेयर कार्यालय को उपलब्ध करवाई जाए, ताकि मेयर द्वारा उस पर नियमानुसार कार्रवाई की जा सके।

स्वच्छ भारत मिशन शाखा की समीक्षा के दौरान मेयर ने कहा कि शाखा की तरफ से डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण, कचरा अलगाव, बल्क वेस्ट जनरेटरों सहित बंधवाड़ी लैंडफिल साईट पर प्रभावी रूप से कार्य किया जाना चाहिए। शहर में सफाई व्यवस्था को दुरूस्त करना भी इसी शाखा की जिम्मेदारी है। उन्होंने इस शाखा में लगे सलाहकार अनिल मेहता की सेवाओं को समाप्त करने की सिफारिश की।

 

मेयर ने सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज शाखा से जुड़ी सलाहकार अनिता फलसवाल को निर्देश दिया कि वे सभी सीवरमैनों का प्रशिक्षण करवाएं, ताकि शहर के सीवरों की बेहतर सफाई सुनिश्चित की जा सके। इसके साथ ही जन सामान्य एवं निगम पार्षदों के माध्यम से प्राप्त होने वाली शिकायतों का समाधान भी तत्परता से किया जाना चाहिए। उन्होंने विशेष रूप से वार्ड-22 में सीवर सफाई दुरूस्त करवाने का निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिया ।

एसई रमेश शर्मा के खिलाफ कार्रवाई की अनुशंसा :

 

मेयर मधु आजाद द्वारा जारी आदेशों की पालना नहीं करने तथा बैठक में दुर्व्यवहार करने के कारण अधीक्षण अभियंता रमेश शर्मा के खिलाफ कार्रवाई करने की सिफारिश मेयर मधु आजाद द्वारा की गई। मेयर ने कहा कि उनके द्वारा एसई को वार्ड-22 में विजिट करने के निर्देश गत सप्ताह दिए गए थे, जिनकी पालना एस ई ने नहीं की। जब इस बारे में मेयर ने एस ई से जवाब तलब किया तो वे बैठक को छोडक़र चले गए। इसके चलते एस ई को चार्ज मुक्त करने तथा उनका यहां से दूसरी जगह तबादला करने की अनुशंसा मेयर द्वारा निगमायुक्त से की गई. मेयर ने इस सम्बन्ध में सरकार को रिपोर्ट भेजने का निर्देश दिया।

बैठक में एडीशनल म्युनिसिपल कमिशनर रोहताश बिश्नोई, चीफ इंजीनियर ठाकूरलाल शर्मा, चीफ अकाऊंट ऑफिसर विजय कुमार सिंगला, डीएफओ सुभाष यादव, अधीक्षक अभियंता राधेश्याम शर्मा एवं रमेश शर्मा सहित विभिन्न शाखाओं में कार्यरत सलाहकार उपस्थित थे।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: