उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की

51 / 100
Font Size

नई दिल्ली : उत्तराखंड के नव नियुक्त मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की.  मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद यह पीएम से उनकी पहली मुलाकत थी. श्री धामी ने ट्विट कर इस महत्वपूर्ण मुलाक़ात की जानकारी दी है. हालाकिं इस मुलाक़ात के बारे में पीएमओ से भी ट्विट कर जानकारी साझा की गई है. श्री धामी ने अपने ट्विट में कहा है कि ” हम सभी के प्रेरणास्रोत और देश के यशस्वी प्रधानमंत्री आदरणीय श्री @narendramodi जी से आज दिल्ली में मिलकर उनका स्नेह-रूपी आशीर्वाद प्राप्त किया। राज्य के विकास, कोरोना की सम्भावित तीसरी लहर, चार धाम यात्रा और कांवड़ यात्रा के विषय पर चर्चा एवं उनका मार्गदर्शन प्राप्त किया। ”

पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखण्ड राज्य के विकास में केन्द्र सरकार के सहयोग पर प्रधानमन्त्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में उत्तराखण्ड तीव्र गति से विकास पथ पर आगे बढ रहा है।

प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री बनने पर श्री धामी को बधाई देते हुए आशा व्यक्त की कि युवा नेतृत्व में राज्य का तेजी से चहुँमुखी विकास होगा। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री जी को राज्य से संबंधित ज्वलंत मुद्दों के बारे मे बताया। उन्होंने प्रधानमंत्री जी को कोविड की सम्भावित तीसरी लहर को देखते हुए राज्य सरकार की तैयारियों के बारै में अवगत कराया। साथ ही चारधाम यात्रा, कांवङ यात्रा पर भी चर्चा की। प्रधानमंत्री से मुख्यमंत्री की वार्ता निर्धारित 15 मिनिट से अधिक 1 घंटा 15 मिनिट तक चली।

मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री केदारनाथ धाम में कुल 108 करोङ 78 लाख रूपये की लागत से द्वितीय चरण के निर्माण / पुनर्निर्माण कार्य आरम्भ किए जाने हैं। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से श्री केदारनाथ धाम में द्वितीय चरण के निर्माण / पुनर्निर्माण कार्यों के शिलान्यास/वर्चुअल शिलान्यास के लिए समय प्रदान करने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र के सहयोग से राज्य में हेल्थ सेक्टर में सुधार के लिये अनेक महत्वपूर्ण पहल की गई हैं।

एम्स ऋषिकेश उत्तराखण्ड को केन्द्र सरकार की महत्वपूर्ण देन है। कोविड महामारी से लङाई में इसकी बङी भूमिका रही है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से राज्य की विषम भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए कुमायूं मण्डल में भी इसी प्रकार के एक एम्स की स्थापना का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इसके लिए भूमि उपलब्ध कराएगी। कुमायूं में एम्स की स्थापना से विश्व स्तरीय स्वास्थ्य सुविधाओं से क्षेत्र की जनता लाभान्वित हो सकेगी।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से राष्ट्रीय महत्व की लखवाड़ बहुउद्देशीय परियोजना के शीघ्र क्रियान्वयन के लिये आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति की स्वीकृति प्रदान करवाने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि 300 मेगावाट की लखवाड़ बहुद्देशीय परियोजना से यमुना नदी में जल उपलब्धता बढ़ेगी एवं छः राज्य उत्तर प्रदेश, दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, उत्तराखण्ड एवं हिमाचल प्रदेश लाभान्वित होंगे। इस परियोजना को समस्त स्वीकृतियाँ प्राप्त है एवं भारत सरकार के आर्थिक मामलों की कैबीनेट समिति की स्वीकृति प्राप्त होना शेष है, जिसके उपरान्त परियोजना का निर्माण कार्य प्रारम्भ किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में उत्तराखण्ड देश के अग्रणी राज्यों में स्थान बना रहा है। निर्धारित समय से एक घंटा अधिक समय दिये जाने पर आभार व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह उत्तराखण्ड की जनता के प्रति प्रधानमन्त्री जी के लगाव एवं चिंतन का परिचायक है।

उल्लेखनीय है कि राज्य में नाटकीय ढंग से हुए राजनीतिक फेरबदल के कारण उन्हें उत्तराखंड भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया था. इससे पूर्व तीरथ सिंह रावत ने सीएम पद से संवैधानिक संकट का हवाला देते हुए इस्तीफा दे दिया था.

गत 4 जुलाई को देहरादून स्थित राजभवन परिसर में आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल  बेबी रानी मौर्य द्वारा मुख्यमंत्री  पुष्कर सिंह धामी को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई गई थी । इसके साथ ही राज्यपाल मौर्य ने मंत्रियों को भी पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई थी ।

कार्यक्रम में सतपाल महाराज, डॉ हरक सिंह रावत,  बंशीधर भगत,  यशपाल आर्य,  बिशन सिंह चुफाल,  सुबोध उनियाल,  अरविंद पाडेय,  गणेश जोशी,  धन सिंह रावत,  रेखा आर्य, और स्वामी यतीश्वरानंद को मंत्री पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई थी ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page