गुरुग्राम से अमेरिका के लोगों को धमका कर ठगी करने का भंडाफोड़ : फर्जी काल सेंटर चलाने वाले 3 गिरफ्तार

60 / 100
Font Size

गुरुग्राम: अमेरिका के लोगों को SSN (सोसल सेक्युर्टी नंबर) को ब्लॉक करने व ड्रग्स प्रयोग करने, फर्जी बैंक खाते खुलवाने व फर्जी लोन लिए जाने का भय दिखाकर धोखाधड़ी करने का सनसनी खेज मामला सामने आया है. बड़े पैमाने पर इस ठगी की वारदात को अंजाम देने वाले एक फर्जी कॉल सेंटर्स पर थाना साईबर अपराध, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने छापा मारा और तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार ये लोग गुरुग्राम सेक्टर 23 में चला रहे काल सेंटर से अमेरिकी लोगों के सोसल सेक्युर्टी नंबर को ब्लॉक करने, झूठा ड्रग्स प्रयोग करने, फर्जी बैंक खाते खुलवाने व फर्जी लोन लिए जाने के नाम पर गिफ्ट वाउचर को रीडीम करवाते थे. इनकी बात ना मानने पर फर्जी अरेस्ट वारंट तक भेजकर उन पर पैसे देने के लिए दबाव बनाते थे।

 

गुरुग्राम पुलिस के पी आर ओ सुभाष बोकन के अनुसार फर्जी कॉल सेंटर चलाने वाले 03 आरोपियों को पुलिस ने काबू किया है. उनके द्वारा धोखाधड़ी में प्रयोग किये जा रहे 02 लेपटाप व 02 मोबाइल फोन भी आरोपियों के कब्जा बरामद किये हैं।

 

उन्होंने बताया कि 05 जून 2021 को थाना साईबर अपराध, गुरुग्राम की पुलिस टीम को अपने विश्वशनीय सूत्रों के माध्यम से एक गुप्त सूचना  मिली कि कुछ लोग Plot No. 3202 सैक्टर-23, गुरुग्राम में फर्जी कॉल सेंटर चलाकर अमेरिका के लोगों के साथ धोखाधड़ी करते हैं. ठगी की वारदात को अंजाम देने में कई लोग शामिल हैं.

 

सहायक पुलिस आयुक्त डी.एल.एफ. व सहायक पुलिस आयुक्त उद्योग विहार गुरुग्राम के नेतृत्व में निरीक्षक आजाद सिंह ने पुलिस रेडिंग टीम तैयार की. रेडिंग टीम द्वारा सूचना में दिए गए  स्थान पर पहुँचकर रेड की गई जहां पर काफी लड़के व लड़कियां लैपटॉप से हैड फोन पहनकर इंग्लिश में बात कर रहे थेI उनसे पूछताछ करने पर पता चला की काल सेंटर के मालिक जिगर परमार, भोला, दीपक व मौलिक है।

मामले की ख़ास बातें :

 

इसी दौरान पूछताछ में ज्ञात हुआ कि जरार हैदर जो इस कॉल सेंटर का टीम लीडर है, पार्थेश पटेल जो तकनीकी कार्य देखता है तथा निशर्ग पुत्र श्री चेतन भाई जो डॉईलर पर विदेशी लोगों से कैसे बातचीत करते है इत्यादि देखता है और तीनों कॉल सेंटर पर मौजूद हैं, तभी पुलिस टीम ने कॉल सेंटर पर उक्त कार्य करने वाले निम्नलिखित तीनों युवकों से कॉल सेंटर के मालिकों/संचालकों के बारे में पुछताछ करते हुए कॉल सेंटर से सम्बंधित वैध दस्तावेज मांगे तो वे कोई भी दस्तावेज पेश नही कर पाए:-

 

  1. जरार हैदर पुत्र अलमदार हैदर निवासी 136/9 आजमी नगर, गेट नंबर-7 मालवानी मलाड़, वेस्ट मुम्बई।
  2. प्राथेस पटेल पुत्र शैलेश भाई निवासी B-44, ऐश्वर्य फ्लैट तेजस के पीछे घुम्मा रोड़, भोपाल मध्य-प्रदेश।
  3. निशर्ग पुत्र चेतन भाई निवासी A-1204 स्वसि स्ट्रेटा, वेजलपुर, अहमदाबाद, गुजरात।

 

▪️उक्त आरोपियों द्वारा फर्जी तरीके से अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर फर्जी कॉल सेंटर चलाकर अमेरिका के लोगों के साथ धोखाधड़ी करके ठगी करने पर आरोपियों के खिलाफ थाना साईबर अपराध, गुरुग्राम में धारा  420, 467, 468, 120-B IPC & 43, 66-D, 75 IT

Act के तहत अभियोग अंकित किया गया व तीनों आरोपियों को अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया।

 

▪️आरोपियों से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि ये विभिन्न वेबसाइटस से अमेरिकी लोगों के डेटा खरीदते थे, उसके बाद ये अपने सर्वर (VICI Dialer) में डेटा अपलोड करके अमेरिकी लोगों को मैसेज भेजते थे। उसके बाद ये उनसे कॉल करके उनकी identity का गलत उपयोग करते हुए व उन्हें कानूनी कार्यवाही से बचने के लिए उनके SSN (शोसल सिक्युरिटी नंबर) ब्लॉक करने, उनके द्वारा फर्जी तरीके से लोन लिए जाने, उनके द्वारा ड्रग्स प्रयोग करने तथा उनके द्वारा फर्जी बैंक खाते खुलवाने इत्यादि का भय दिखाकर उनसे 200 से 500 डॉलर की डिमांड करते है और भुगतान ना करने और SSN suspend करने के लिए कहते व उनपर दबाव बनाने के लिए उनके पास फर्जी अरेस्ट वारंट भेजते।

 

▪️आरोपियों से पुलिस पूछताछ में यह भी ज्ञात हुआ कि ये USA के नागरिकों को SSN (सोसल सेक्युर्टी नंबर) को ब्लॉक करने व उन पर विभिन्न प्रकार से उनपर कानूनी दबाव बनाकर उनसे  200-500 डालर के गिफ्ट कार्ड खरीदकर उनको रीडीम करवाकर धोखाधड़ी से राशि प्राप्त कर लेते है।

 

▪️आरोपियों द्वारा धोखाधड़ी की वारदातों को अंजाम देने में प्रयोग किये जा रहे 02 लैपटाप व 02 मोबाइल फोन पुलिस टीम द्वारा आरोपियों के कब्जा से बरामद किए गए है।

 

▪️आरोपियों को आज दालत के सम्मुख पेश कर 10.06.2021 तक पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया गया है। पुलिस हिरासत रिमाण्ड के दौरान आरोपियों से अन्य साथी आरोपियों व उक्त मामले में गहनता से पूछताछ की जाएगी। अभियोग अनुसंधानाधीन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page