मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए 25 बड़े फैसले लिए , बिहार से बाहर रहने वालों से शीघ्र लौटने की अपील की

12 / 100
Font Size

सुभाष चौधरी

पटना। कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण से निपटने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रदेश के सभी जिले के अधिकारियों के साथ आज महत्वपूर्ण बैठक की। बैठक के बाद शाम को आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने अधिकारियों से मिली जानकारी व सुझाव के आधार पर उन्होंने प्रदेश में कोरोना नियंत्रण के लिए 25 महत्वपूर्ण फैसले लिए हैं। इन फैसलों की जानकारी बैठक के बाद आज शाम को उन्होंने स्वयं दी। उन्होंने बिहार से बाहर रहने वाले सभी बिहार वासियों से शीघ्र अति शीघ्र वापस आने की अपील की है उन्होंने कहा कि विलंब होने के बाद उन्हें कठिनाई झेलनी पड़ सकती है वह स्वयं ही प्रतिदिन प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए व्यवस्था की मॉनिटरिंग करेंगे।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के 25 प्रमुख फैसले :

बिहार में लॉकडाउन लागू नहीं किया जाएगा

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी को रोकने के मद्देनजर कुछ सख्त कदम उठाने की जरूरत है.

बिहार में नाइट कर्फ्यू रात्रि 9:00 बजे से सुबह 5:00 बजे तक जारी रहेगा.

बिहार में सभी जिले में दुकान, प्रतिष्ठान, व्यावसायिक गतिविधियों वाले केंद्र , फल सब्जी की दुकान अब केवल शाम 6:00 बजे तक ही खुली रहेंगी। जबकि पहले की घोषणा के अनुरूप 7:00 बजे तक खुले रखने की अनुमति दी गई थी

प्रदेश के किसी भी जिले में शहरी या फिर अन्य क्षेत्रों में रेस्टोरेंट्स होटल या ढाबे में बैठकर खाना प्रतिबंधित रहेगा जबकि आप होम डिलीवरी रात्रि 9:00 बजे तक मंगा सकेंगे।

सरकारी विभागों में अब केवल शाम 5:00 बजे तक ही काम करने की अनुमति होगी।। हालांकि राज्य सरकार ने यह पहले ही साफ कर दिया था कि सरकारी कार्यालयों में केवल 33% कर्मचारियों को ही व्यक्तिगत रूप से उपस्थित रहने की अनुमति होगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी जिले में सिनेमा हॉल मॉल और सभी पार्क आगामी 15 मई तक बंद रहेंगे।

सभी जिले के स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर विभिन्न प्रकार के शिक्षण संस्थान आगामी 15 मई तक बंद रखे जाएंगे। राज्य सरकार किसी भी प्रकार की परीक्षा आयोजित नहीं करेगी

कोरोना महामारी से लड़ाई में अग्रिम पंक्ति में योगदान देने वाले डॉक्टर , नर्सिंग स्टाफ एवं मेडिकल क्षेत्र में काम कर रहे अन्य कर्मियों को राज्य सरकार 1 माह का अतिरिक्त वेतन देगी।

प्रदेश के सभी जिले में सभी प्रकार के धार्मिक स्थल, मंदिर, मस्जिद ,गिरजाघर और गुरुद्वारे या अन्य धार्मिक संस्थान आगामी 15 मई तक बंद रहेंगे।

किसी भी प्रकार के सरकारी या गैर सरकारी आयोजनों की अनुमति आगामी 15 मई तक नहीं दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने साफ कर दिया है कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम की दृष्टि से विवाह के आयोजन में अब केवल 100 लोगों के उपस्थित होने की अनुमति मिलेगी। हालांकि उन्होंने राज्य के लोगों से इस संख्या में भी कमी करने की अपील की है.

अंत्येष्टि के दौरान केवल 25 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति होगी।

सभी जिले में भीड़भाड़ वाले इलाके में चलने वाली सब्जी मंडी बंद रहेगी और उसे नए खुली जगह में तत्काल स्थानांतरित किया जाएगा साथ ही सभी जगह सब्जियों की मंडियां नहीं लगेगी.

जिस इलाके में कोरोनावायरस संक्रमित व्यक्ति मिलेंगे वहां माइक्रो कंटेनमेंट जोन के मजा आए बड़े कंटेनमेंट जोन बनाए जाएंगे जिसे आवाजाही की दृष्टि से नियंत्रित करने के लिए बैरियर लगाए जाएंगे

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सभी जिले के अधिकारियों से आरटी पीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट निर्धारित समय पर मुहैया कराने को कहा है उन्होंने कहा कि टेस्ट की रिपोर्ट देरी से आने के कारण समय पर संबंधित व्यक्ति का इलाज शुरू नहीं हो पाता है इसलिए इसे किसी भी कीमत पर सुनिश्चित किया जाए.

सभी जिले में डेडीकेटेड कोरोना केयर सेंटर और हॉस्पिटल की स्थापना की जाएगी

सबसे बड़ी समस्या हॉस्पिटल को ऑक्सीजन की आपूर्ति नहीं होने की है मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी कीमत पर अब ऑक्सीजन की आपूर्ति में कमी नहीं होगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेडिकल ट्रीटमेंट प्रोटोकोल के तहत इंजेक्शन की व्यवस्था की जाएगी इस इंजेक्शन की अनुपलब्धता के कारण किसी की भी जान नहीं जानी चाहिए.

होम आइसोलेशन में रहने वाली संक्रमित मरीजों की मॉनिटरिंग संबंधित जिले के अधिकारी और डॉक्टर्स करेंगे साथ ही सरकार एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए एंबुलेंस की सुविधा भी उपलब्ध करवाएगी.

नीतीश कुमार ने बिहार से बाहर दूसरे राज्यों में रहने वाले बिहार वासियों से अपील की है कि जितनी जल्दी हो सके सभी वापस बिहार आ जाएं अन्यथा उन्हें आगे कठिनाई होगी उन्होंने कहा कि सभी के लिए यहां मुकम्मल व्यवस्था की जाएगी.

उन्होंने कहा कि सभी जिले में सब डिवीजन स्तर पर क्वारंटाइन सेंटर की स्थापना की जाएगी

पूरे प्रदेश में शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लाउडस्पीकर के माध्यम से लोगों को कोविड-19 संक्रमण से बचाव के तरीके बताए जाएंगे और उन्हें बीमारी के प्रति जागरूक किया जाएगा.

मुख्यमंत्री ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि आज पिछले वर्ष की तुलना में 1 दिन में आने वाली नई कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों की संख्या का रिकॉर्ड टूट गया है आज 1 दिन के दौरान कुल 8690 कोरोना पॉजिटिव के नए मामले सामने आए हैं. कुल संक्रमित लोगों की संख्या पिछले साल की तुलना में कल यानी शनिवार को ही अधिक हो गया था.

उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र में नगर निगम नगर पालिका लोगों को निशुल्क मास्क मुहैया कराएगी जबकि ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायतें यह जिम्मेदारी निभाएगी. प्रत्येक घरों में मास्क पहुंचाई जाएंगे.

सभी जिलाधिकारियों को आवश्यकतानुसार शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में धारा 144 लागू करने का अधिकार दिया गया है.

सभी प्रकार के आवश्यक सुविधाओं से संबंधित सेवाओं प्रतिबंध से बाहर रखा गया है. इनमें बैंक पोस्ट ऑफिस हॉस्पिटल दवाई की दुकानें खाद्य वस्तुओं से संबंधित ई-कॉमर्स की सुविधाएं पुलिस मीडिया शामिल है.

एक प्रदेश से दूसरे प्रदेश में जाने वाली ट्रांसपोर्ट बस से और एक जिले से दूसरे जिले में आने जाने वाली बसें या ट्रांसपोर्ट पर कोई प्रतिबंध नहीं रहेगा.

उन्होंने साफ कर दिया है कि निर्माण कार्य पर कोई प्रतिबंध नहीं लगाया जाएगा.

उन्होंने कहा कि वे स्वयं प्रतिदिन राज्य में कोविड-19 संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करेंगे और हालात की मॉनिटरिंग करेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: