सीएम केजरीवाल ने दिल्ली स्विच टू इलेक्ट्रिक व्हेकिल का प्रोग्राम लांच किया, दिल्ली सरकार केवल इलेक्ट्रिकल वाहन ही किराए पर लेगी

50 / 100
Font Size

सुभाष चौधरी

नई दिल्ली : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज दिल्ली स्विच टू इलेक्ट्रिक व्हेकिल का प्रोग्राम लांच किया. इस अवसर पर संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि दुनिया में सबसे बेहतरीन इलेक्ट्रिकल व्हेकिल पॉलिसी दिल्ली सरकार द्वारा लागू की गई ई वी पॉलिसी है. उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि अब सभी को मिलकर इस पॉलिसी को लागू करवाना है. इसके लिए हमने बहुत दूरदर्शी सोच रखी है क्योंकि हमें दिल्ली में वाहनों से होने वाले प्रदूषण पर पूरी तरह नियंत्रण पाना है. उन्होंने घोषणा की कि अब दिल्ली सरकार अपने कामकाज के लिए केवल इलेक्ट्रिकल वाहन ही किराए पर लेगी.


मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि अब हमारी पॉलिसी है कि दिल्ली में जितने वाहनों की खरीद हो रही है उनमें से कम से कम 25% वाहन इलेक्ट्रिकल वाहन ही खरीदे जाएं. इस तरीके से हमें अपनी दिल्ली का खाका तैयार करना है. उन्होंने कहा कि जन सामान्य अधिक से अधिक इलेक्ट्रिकल वाहन खरीदें इसके लिए दिल्ली सरकार ने बड़े पैमाने पर सब्सिडी देने का प्रावधान किया है. उनके अनुसार दिल्ली में टू व्हीलर और थ्री व्हीलर वाहन खरीदने पर लगभग ₹30 हजार की सब्सिडी दी जाएगी साथ ही फोर व्हीलर वाहन खरीदने वालों को लगभग डेढ़ लाख रूपये की सब्सिडी दी जाएगी.

उन्होंने स्पष्ट किया यह सब्सिडी वाहन खरीदने के 3 दिन के अंदर वाहन मालिकों के खाते में सीधे दिए जाते हैं. इलेक्ट्रिक वाहनों पर कोई रोड टैक्स नहीं लगेगा, किसी भी प्रकार के पंजीकरण की फीस भी नहीं लगेगी।

उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक वाहनों में पेट्रोल या ईंधन का खर्च नहीं होता है उसे चार्ज करने की आवश्यकता होती है तो इसलिए दिल्ली सरकार ने दिल्ली में अलग-अलग स्थानों पर 100 चार्जिंग स्टेशन भी स्थापित करने का निर्णय लिया है. इसके लिए टेंडर जारी किए जा रहे हैं. बहुत जल्द चार्जिंग स्टेशन स्थापित कर दिए जाएंगे. उनका कहना था कि गत साल अगस्त में इलेक्ट्रिक व्हेकिल पॉलिसी लागू करने से लेकर अब तक छह हजार इलेक्ट्रिकल वाहनों की खरीद दिल्ली में हो चुकी है।

उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए इलेक्ट्रिकल वाहन खरीद को जन आंदोलन के रूप में लेना होगा. हम सभी को एक साथ मिलकर इसके लिए काम करना होगा जिससे प्रदूषण पर हम नियंत्रण कर पाएंगे. उनका कहना था कि जब तक इसमें जन भागीदारी नहीं होगी तब तक केवल सरकार के प्रयास करने से यह सफल नहीं होगा. उन्होंने कहा कि वाहनों के कारण ही दिल्ली में सबसे अधिक प्रदूषण होता है.इसे जन आंदोलन बनाने के लिए आज से हमने दिल्ली टू स्विच इलेक्ट्रिकल व्हेकिल अभियान शुरू किया है।

इस अभियान के तहत दिल्ली के लोगों को इलेक्ट्रिकलवाहनों के बारे में जागरूक किया जाएगा. इसके फायदे की जानकारी दी जाएगी और स्वच्छ प्रदूषण में इसकी भूमिका को विस्तार से समझाया जाएगा।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने दिल्ली की सभी कालोनियों की आरडब्ल्यूए और मार्केट एसोसिएशन एवं अन्य व्यावसायिक संगठनों के प्रतिनिधियों से अपील की है कि उन्हें भी दिल्ली स्विच टू इलेक्ट्रिक व्हेकिल के अभियान के साथ जोड़ना चाहिए और लोगों को अपने प्रदूषित वाहनों से अब इलेक्ट्रिकल वाहन की ओर मुड़ने के लिए प्रेरित करना चाहिए।

उन्होंने कहा कि जो डिलीवरी फीड्स के व्यवसाय में हैं उन्हें भी डिलीवरी के लिए अपने-अपने वाहनों को इलेक्ट्रिकल वाहन में तब्दील करना चाहिए. सभी बड़ी कंपनियों को भी अपने इंधन वाले वाहनों से इलेक्ट्रिकल वाहन की ओर जाना चाहिए . उन्होंने सभी बड़ी कंपनियों से अपने कैंपस में ही चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने का आह्वान किया. साथ ही उन्होंने सभी सिनेमा हॉल, मॉल, रेस्टोरेंट्स, होटल एवं अन्य व्यावसायिक संस्थानों के प्रबंधनों से भी अपने कैंपस में ही चार्जिंग स्टेशन स्थापित करने का सुझाव दिया. उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार भी इस मद में अपनी भूमिका अदा कर रही है

उन्होंने घोषणा की कि दिल्ली सरकार के अंदर कामकाज की दृष्टि से अलग-अलग विभागों या एजेंसियों के द्वारा जितने वाहन कॉन्ट्रैक्ट पर लिए जाते हैं उस मामले में भी अगले छह माह में इलेक्ट्रिकल वाहनों को ही किराए पर लिए जाने का निर्णय लिया गया है। अगले 6 माह बाद दिल्ली सरकार केवल इलेक्ट्रिकल वाहन ही किराए पर लेगी. उन्होंने दिल्ली के युवाओं से खास अपील की कि वे अपनी पहली गाड़ी इलेक्ट्रिकल वाहन ही खरीदें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page