गुरुग्राम् में शिक्षा मंत्री कंवरपाल ने फहराया झंडा, वन विभाग की नई योजना का किया आरम्भ, शिक्षा के क्षेत्र में किये गए बदलाव की चर्चा की

Font Size

गुरुग्राम् 26 जनवरी। गुरुग्राम में 72वां गणतंत्र दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। प्रदेश के शिक्षा तथा वनमंत्री कंवर पाल ने मुख्य अतिथि के रुप में राष्ट्रीय झंडा तिरंगा फहराया और लोगों को संबोधित किया। स्कूलों के बच्चों के जोश के आगे कोरोना संक्रमण का भय गौण नजर आया और गणतंत्र दिवस का जज्बा भारी पड़ा।  गुरुग्राम के सैक्टर 38 स्थित ताऊ देवीलाल स्टेडियम में आयोजित जिला स्तरीय समारोह में शिक्षा तथा वनमंत्री ने वन विभाग की एक नई योजना की शुरूआत भी की जिसके अंतर्गत पौधारोपण, जल संरक्षण तथा पर्यावरण विषय पर रागनी, गीत, कविता या नाटक प्रस्तुत करने वाले बच्चों को सरकार पुरस्कृत करेगी।

वन मंत्री कंवर पाल ने आज के कार्यक्रम में राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जैकमपुरा की छात्राओं द्वारा पौधारोपण तथा जल संरक्षण विषय पर प्रस्तुत की गई रागनी से प्रसन्न होकर उन छात्राओं के लिए 51हजार रूपए की राशि के ईनाम की घोषणा करके प्रदेश में वन विभाग की नई स्कीम की विधिवत् शुरूआत की। इस रागनी के बोल थे ‘हरियाणा के लोगो सुन लो एक अभियान चलाणा सै, जल ही आधार जीणे का इसनै सबनै बचाणा सै‘।  देश के स्वतंत्रता सेनानियों तथा शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद दिए गए अपने संदेश में शिक्षा तथा वनमंत्री कंवर पाल ने राज्य व केंद्र सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार सूचना प्रौद्योगिकी के माध्यम से ईज आॅफ लिविंग की दिशा में काम कर रही है। इस वर्ष को सुशासन परिणाम वर्ष के रूप में मनाया जा रहा है।

उन्होंने शिक्षा के क्षेत्र में वर्तमान राज्य सरकार द्वारा किए गए कार्यों का उल्लेख करते हुए बताया कि मौजूदा सरकार के कार्यकाल में 67 नए काॅलेज खोले गए हैं जिनमें से 42 काॅलेज केवल लड़कियों के लिए हैं। यही नहीं, प्रदेश में 11 नए काॅलेज खोलने की घोषणा भी पिछले रक्षाबंधन पर की गई। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 15 किलोमीटर के दायरे में एक काॅलेज होगा और शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए बड़े पैमाने पर संस्कृति माॅडल स्कूल खोले जा रहे हैं। श्री कंवर पाल ने यह भी कहा कि पैसे के अभाव में प्रतिभा दबी ना रहे इसलिए सरकार ने होनहार विद्यार्थियों को सरकारी खर्च पर कोचिंग दिलाने का बीड़ा उठाया है। विशेष रूप से सरकारी स्कूलों के होनहार विद्यार्थियों के लिए सुपर-100 कार्यक्रम शुरू किया गया है।

  उन्होंने कहा कि दोहरी प्रशिक्षण प्रणाली की तर्ज पर गुरूग्राम जिला की आईटीआई ऊंचा माजरा के भवन मंे जापान-भारत विनिर्माण संस्थान स्थापित करने के लिए मारूति सुजुकि इंडिया लिमिटिड के साथ समझौता किया गया है। शिक्षामंत्री ने यह भी बताया कि आईटीआई पास करने वाले विद्यार्थियों को हिंदी व अंगे्रजी विषय की परीक्षा पास करने के बाद 10वीं व 12वीं की समक्षता प्रदान की जा रही है। उन्होंने प्रदेश में खेलांे को प्रोत्साहन देने के लिए बढाई गई मानदेय राशि का भी अपने संबोधन में उल्लेख किया।  प्रदेश में औद्योगिकिकरण की नीतियों पर बोलते हुए श्री कंवर पाल ने कहा कि उद्यमियों को एक ही छत के नीचे स्वीकृतियां प्रदान करने के लिए हरियाणा उद्यम प्रोत्साहन केंद्र की स्थापना की गई है और सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों को बढावा देने के लिए अलग से एमएसएमई विभाग बनाया गया है।

उन्होंने यह भी बताया कि व्यापारियों के लिए मुख्यमंत्री व्यापारी सामुहिक निजी दुर्घटना बीमा योजना और मुख्यमंत्री व्यापारी क्षतिपूर्ति बीमा योजना के नाम से दो नई बीमा योजनाएं भी शुरू की गई हैं।  उन्होंने कहा कि उद्योगों के फलने-फुलने तथा प्रदेश के समुचित विकास के लिए बुनियादी ढांचे का विकास जरूरी है। मौजूदा सरकार के कार्यकाल में प्रदेश में 1070 किलोमीटर लंबे 17 राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित किए गए हैं। केंद्रीय मंत्रीमण्डल से 5617 करोड़ रूप्ए की लागत से 121 किलोमीटर लंबे हरियाणा आॅर्बिटल रेल काॅरिडोर प्रोजेक्ट को मंजूरी मिल चुकी है। यह काॅरिडोर पलवल से सोनीपत वाया सोहना-मानेसर-खरखौदा से निकलेगा।

श्री कंवर पाल ने प्रधानमंत्री के वर्ष 2022 तक हर परिवार के पास अपना घर होने के सपने का जिक्र करते हुए कहा कि हरियाणा मंे प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अब तक 55900 मकान और 19600 से अधिक फलैट बनाकर उस सपने को पूरा करने की दिशा में काम किया जा रहा है।  श्री कंवर पाल ने कहा कि कोविड-19 महामारी ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया और स्वयं को महाशक्ति समझने वाले देश भी इसके सामने लाचार नजर आए लेकिन भारत ने इस महामारी का डटकर मुकाबला किया। स्वास्थ्यकर्मियों, पुलिस, सफाई कर्मियों तथा आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने कोरोना योद्धा के रूप में मानवता की सेवा की मिसाल कायम की। अब वैक्सीन आने से उम्मीद की जा रही है कि जल्द ही हम इस महामारी को हराने में कामयाब होंगे। 

इस जिला स्तरीय कार्यक्रम में आने से पहले वन एवं शिक्षामंत्री कंवर पाल गुरूग्राम के सिविल लाईन्स स्थित स्वतंत्रता  सेनानी जिला परिषद हाॅल परिसर में बने युद्ध स्मारक पर भी गए जहां उन्होंने पुष्पचक्र चढाकर देश के सभी शहीदों की शहादत को नमन किया। गणतंत्र दिवस के मौके पर गुरूग्राम जिला प्रशासन ने जिला के सभी स्वतंत्रता सेनानियों, उनकी वीरांगनाओं तथा युद्ध वीरांगनाओं को कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखते हुए उनके घर पर ही जाकर सम्मानित किया।  आज के जिला स्तरीय कार्यक्रम में भव्य मार्च पास्ट प्रस्तुत किया गया। परेड का नेतृत्व सहायक पुलिस आयुक्त ऊषा ने किया।

परेड में 6 टुकड़ियों ने भाग लिया। कार्यक्रम में स्कूली बच्चों द्वारा सूर्य नमस्कार, लेजियम तथा डंबल के अलावा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई। इन प्रस्तुतियों से प्रसन्न होकर वन तथा शिक्षामंत्री ने सभी बच्चों के लिए 2 लाख 51 हजार रूप्ए के ईनाम की घोषणा की और 27 जनवरी बुधवार को स्कूलों में अवकाश की भी घोषणा की। इसके अलावा सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं पर आधारित झांकियां भी प्रस्तुत की गई।

कार्यक्रम में कोरोना काल में गुरूग्राम जिला प्रशासन को सीएसआर के तहत सहयोग देने वाले चार कंपनियों के प्रतिनिधियों के अलावा विभिन्न क्षेत्रों में सराहनीय प्रदर्शन करने वाले 48 व्यक्तियों को भी सम्मानित किया गया। इसके अतिरिक्त एक आवाज संस्था, चिराग वैलफेयर फाउंडेशन, परिवर्तन एक प्रयास नामक संस्थाओं को भी प्रशंसा पत्र दिए गए। इकोग्रीन की कचरा इक्कट्ठा करने वाली टीम को भी कोविड मरीजों के घरों से कचरा इक्कट्ठा करने के लिए प्रशंसा पत्र दिया गया। 

इस अवसर पर गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद, विधायक सुधीर सिंगला, सत्यप्रकाश जरावता, संजय सिंह, सांसद सुखबीर जोनापुरिया, पूर्व डिप्टी स्पीकर गोपीचंद गहलोत, पुलिस आयुक्त के के राव, उपायुक्त डा. यश गर्ग, नगर निगम आयुक्त विनय प्रताप सिंह, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के प्रशासक जितेंद्र यादव भी अन्य गणमान्य व्यक्तियों के साथ उपस्थित थे। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page