अलीपुर के सरपंच मनोज की हत्या के मामले में 1-1 लाख के दो इनामी बदमाश सहित तीन अपराधी पकड़े गए

Font Size

गुरुग्राम्। जिला के गाँव अलीपुर के सरपंच मनोज की गोली मारकर हत्या करने के मामले में वान्छित 1-1 लाख रुपयों के 02 ईनामी व 01 अन्य साथी सहित कुल 03 कुख्यात बदमाशों को अपराध शाखा सैक्टर-40, अपराध शाखा सैक्टर-39 व अपराध शाखा सैक्टर-17, गुरुग्राम की पुलिस टीमों ने संयुक्त कार्रवाई कर गिरफ्तार कर लिया। ऊक्त आरोपियों के कब्जा से कुल 05 पिस्टल, 04 देशी कट्टा, 36 जिन्दा कारतूस, 02 मोबाईल फोन व 01 wifi डोंगल पुलिस टीम द्वारा बरामद किए गए हैं। पुलिस पूछताछ में अपराधियों ने इस बात का खुलासा किया कि अपने साथी अशोक राठी की हत्या का बदला लेने की नीयत से आरोपियों ने अपने साथियों के कहने पर गोली मारकर हत्या की वारदात को अन्जाम दिया था।

उल्लेखनीय है कि इससे पहले इस मामले में 05 हजार रुपयों के ईनामी बदमाश सहित कुल 04 आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया था, जिनके कब्जा से वारदात में प्रयोग की गई 01 पिस्तौल व 03 जिन्दा कारतूस भी बरामद किए गए थे। गुरुग्राम् पुलिस के एसीपी क्राइम के अनुसार अब तक इस मामले में कुल 07 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

मामले की खास बातें :

गुरुग्राम् पुलिस के एसीपी क्राइम ने बताया कि गत 15 जुलाई 2020 को थाना शहर सोहना, गुरुग्राम में एक सूचना कृष्ण अस्पताल के सामने किसी अज्ञात व्यक्तियों द्वारा गोली मारने की वारदात को अंजाम दिए जाने के संबंध में प्राप्त हुई।

▪ इस सूचना पर थाना शहर सोहना, गुरुग्राम की पुलिस टीम बिना किसी देरी के घटनास्थल पर पहुँच गई जहां पर पुलिस टीम को पता चला कि गोली लगने वाला व्यक्ति मनोज कुमार पुत्र जुगल किशोर मौजूदा सरपंच गाँव अलीपुर है जिसे गोली लगी हुई है। पुलिस टीम ने घायल अवस्था मे उसी की गाड़ी में डालकर उसे ईलाज के लिए मेदंता हस्पताल, गुरुग्राम दाखिल करा दिया। कुछ ही देर में पीड़ित/घायल के परिजन भी हस्पताल में हाजिर आ गए और हस्पताल परिसर में पीड़ित के भाई कुलदीप उर्फ काले पुत्र जुगल किशोर निवासी अलीपुर थाना भोंडसी जिला गुरुग्राम, उम्र 45 वर्ष ने पुलिस टीम को बतलाया कि यह रोड़ी करेसर सप्लाई का काम करता है ये 4 भाई है व 1 बहन है। दिनांक 15.07.2020 को समय लगभग 3.15 PM पर इसका भाई मनोज कुमार अपनी बेटी को दवाई दिलाने के लिए कृष्णा हस्पताल सोहना अपनी गाड़ी में सवार होकर गया था। गाड़ी में इसका भाई व उसकी बेटी ही थे। समय लगभग 04:30 PM पर इसके दूसरे भाई धनराज का इसके पास फोन आया जिसने बताया कि किसी अज्ञात व्यक्ति ने इनके भाई मनोज को गोली मार दी है जो घटना को अंजाम देने वाले पहले ही घात लगाये बैठे थे जिन्होंने इसके भाई मनोज पर जान से मारने की नियत से फायर किए। यह सूचना पाकर यह मेदंता हस्पताल पहुँचा जहां पर इसका भाई दाखिल है और डॉक्टर ने ईलाज के लिए भर्ती किया हुआ है।

▪ उक्त ब्यानों पर थाना शहर सोहना, गुरुग्राम में कानून की संबंधित धाराओं के तहत अभियोग अंकित किया गया।

▪ दिनाँक 13.08.2020 को उपरोक्त अभियोग में पीड़ित मनोज की ईलाज के दौरान मौत होने पर अभियोग में धारा 302 IPC ईजाद (जोड़ी) की गई।

▪ उपरोक्त अभियोग में कार्यवाही करते हुए गुरुग्राम पुलिस ने अपने गुप्त सूत्रों की सहायता से व अपनी समझबूझ से उपरोक्त अभियोग की वारदात में शामिल 04 आरोपियों (1. पुष्कर निवासी हाजीपुर पातली, गुरुग्राम 2. महेश उर्फ निशु निवासी अलीपुर, गुरुग्राम, 3. अंकित पुत्र तेजराम निवासी गाँव कुलताना थाना सांपला, जिला रोहतक व 4. मुकेश कुमार उर्फ प्रिंस पुत्र खेमचन्द निवासी मकान नंबर 1493 वार्ड नंबर-5 न्यू अग्रवाल कॉलोनी कोशी कलां, जिला मथुरा उत्तर-प्रदेश, उम्र-23 वर्ष (05 हजार रुपयों का ईनामी) को काबू करके अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया था।

▪ आरोपियों से पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ था कि इन्हें शक था कि उपरोक्त अभियोग में मृतक मनोज सरपंच ने इनके साथी अशोक राठी की हत्या करवाई है तो इन्होंने अपने साथी अशोक राठी की हत्या का बदला लेने के लिए अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर उपरोक्त अभियोग में हत्या की वारदात को अंजाम दिया था।

—-Follow-Up—-
–16.01.2021👇🏻–

👁️‍🗨️ उपरोक्त अभियोग में आगामी कार्यवाही करते हुए दिनांक 16.01.2021 को उप-निरीक्षक गुनपाल, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-40, उप-निरीक्षक राजकुमार, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-39 व निरीक्षक नरेन्द्र चौहान, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-17, गुरुग्राम की पुलिस टीमों ने पुलिस प्रणाली का प्रयोग करते हुए अपने गुप्त सूत्रों की सहायता से व अपनी समझबूझ से उपरोक्त अभियोग की वारदात को अंजाम देने में शामिल रहे 03 कुख्यात बदमाशों को अलग-अलग स्थानों से काबू करने में बङी सफलता हासिल की ।

1. भारत पुत्र संजय निवासी गाँव टूमोला, थाना कोशीकलां, जिला मथुरा, उत्तर-प्रदेश, 20 वर्ष। (इस आरोपी को अपराध शाखा सैक्टर-40, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने गाँव वजीरपुर नजदीक KMP फ्लाईओवर से काबू किया गया)

2. मोहित पुत्र बीरसिंह निवासी श्याम कॉलोनी, रामबाग, बल्लभगढ,जिला फरीदाबाद, उम्र-27 वर्ष। (इस आरोपी को अपराध शाखा सैक्टर-39, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने फरुखनगर से 03 पिस्टल, 03 देशी कट्टे, 30 जिन्दा कारतूस, 02 मोबाईल फोन्स व 01 wifi डोंगल सहित काबू किया गया)

3. पुनीत पुत्र धनराज निवासी हाजीपुर पातली, थाना फरुखनगर, जिला गुरग्राम, उम्र 24 वर्ष। (इस आरोपी को अपराध शाखा सैक्टर-17, गुरुग्राम की पुलिस टीम द्वारा KMP नजदीक पंचगाँव चौक, गुरग्राम से 02 पिस्टल, 01 कट्टा व 06 जिन्दा कारतूस सहित काबू किया गया)

👁️‍🗨️ उक्त तीनों आरोपियों को उपरोक्त अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया।
आरोपियों से प्रारम्भिक पुलिस पूछताछ में ज्ञात हुआ कि ये सभी अशोक राठी गिरोह के सदस्य है और इन्हें शक था कि उपरोक्त अभियोग में मृतक मनोज सरपंच ने इसके साथी अशोक राठी की हत्या करवाई है, जिसका बदला लेने के लिए अपने उपरोक्त साथी पुष्कर व अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर उपरोक्त अभियोग की वारदात को अन्जाम दिया था। आरोपी भारत उपरोक्त ने उपरोक्त अभियोग में मृतक मनोज सरपंच को गोली मारी थी और ये सभी घटनास्थल पर मौजूद थे और मुस्तैद थे कि यदि मनोज सरपंच (मृतक) दाएं-बाएं भागता है तो ये उसे गोली मारकर उसकी हत्या कर देगा, किन्तु आरोपी भारत द्वारा मारी गई गोली से ही उपरोक्त अभियोग में मृतक मनोज सरपंच वही गिर गया और ये वहां से भाग गए।

👁️‍🗨️ आरोपी भारत व मोहित की गिरफ्तारी पर हरियाणा पुलिस द्वारा 1-1 लाख रुपयों का ईनाम भी घोषित किया हुआ था और उक्त तीनों आरोपी भारत, मोहित व पुनीत) उपरोक्त अभियोग में वान्छित थे तथा अपराधिक वारदातों को अन्जाम देने में सक्रिय थे।

👁️‍🗨️ आरोपी मोहित पुत्र बीर सिंह के खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, लङाई-झगङा व अवैध हथियार रखने के करीब 01 दर्जन मामले गुरुग्राम, फरीदाबाद सहित विभिन्न थानों में अंकित है। यह अशोक राठी का सबसे विश्वस्नीय व मुख्य गुर्गा रहा है। आरोपी ने पुलिस पूछताछ में निम्नलिखित मुख्य वारदातों को अन्जाम देने का खुलाशा भी किया हैः-

👉🏻 आरोपी मोहित ने वर्ष – 2014 में अपने गिरोह के सरगना अशोक राठी को सूर्यान्श होटल, सोहना के पास से पुलिस कस्टडी से भगाया था। अशोक राठी को यू.पी. पुलिस, गुरुग्राम में पेश करने आ रही थी,इसी दौरान इसने हथियार के बल पर अशोक राठी को पुलिस की कस्टडी से भगाया था।

👉🏻 आरोपी मोहित ने वर्ष – 2020 में अपनी ही कॉलोनी (श्याम कॉलोनी, रामबाग, बल्लभगढ,जिला फरीदाबाद) में रहने वाले भालू नाम के व्यक्ति को जान से मारने की नीयत से गोली चलाई थी। जिस सम्बन्ध में थाना शहर बल्लभगढ में अभियोग भी अंकित है और यह इस अभियोग में अब तक वान्छित चल रहा था। यह अगले 5/6 दिनों में बल्लभगढ़ में एक व्यक्ति की हत्या करने वाला था, किन्तु उससे पहले ही पुलिस ने अवैध हथियारों सहित इसे काबू कर लिया।

👁️‍🗨️ आरोपी पुनित पुत्र धनराज उपरोक्त अशोक राठी गिरोह के मुख्य सदस्य/सरगना बदमाश पुष्कर का भाई है। बदमाश पुष्कर हत्या के मामले में जेल में बन्द है और बदमाश पुष्कर जेल से ही अपने भाई पुनीत उपरोक्त आरोपी के माध्यम से अपने गिरोह में नए युवकों को जोङकर उनसे हत्या व अन्य अपराधिक वारदातों को अन्जाम दिलवाता है। इसके खिलाफ गुरुग्राम, पलवल व फरीदाबाद में हत्या करने के प्रयास व मादक पदार्थ रखने इत्यादि अपराधों के करीब 01दर्जन मामले अंकित है।

👁️‍🗨️ आरोपी पुनित उपरोक्त ने प्रारम्भित पुलिस पूछताछ में निम्नलिखित खुलाशे किए हैः-

👉🏻 पुष्कर के कहने पर इसने अपने उपरोक्त साथी भारत, मोहित व अन्य साथियों के साथ मिलकर डिघल में एक व्यक्ति की हत्या करनी थी।

👉🏻 फरिदाबाद में एक व्यक्ति की हत्या करनी थी।

👉🏻 गाँव सौन्धी में एक व्यक्ति बकी हत्या करनी थी।

👉🏻 अलीपुर गांव में एक व्यक्ति की हत्या करनी थी।

👉🏻 गांव पातली में भी ये लोग 3 व्यक्तियों की हत्या को अन्जाम देने की फिराक में थे।

👁️‍🗨️ आरोपियों के कब्जा से कुल 05 पिस्टल, 04 देशी कट्टा, 36 जिन्दा कारतूस, 02 मोबाईल फोन्स व 01 wifi डोंगल पुलिस टीम द्वारा बरामद किए गए है।

👁️‍🗨️ उपरोक्त आरोपियों को माननीय अदालत के सम्मुख पेश करके पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया जाएगा। पुलिस हिरासत रिमाण्ड के दौरान आरोपियों से अन्य वारदातों व अन्य साथी आरोपियों के बारे में गहनता से पूछताछ की जाएगी। पुलिस पूछताछ में जो भी तथ्य सामने आएगें नियमानुसार आगामी कार्यवाही की जाएगी।

👁️‍🗨️ इससे पहले उपरोक्त अभियोग में 05 हजार रुपयों के ईनामी मुकेश कुमार उर्फ प्रिन्स सहित कुल 04 कुख्यात बदमाशों को गुरुग्राम पुलिस द्वारा काबू किया गया था, जिनके कब्जा से वारदात में प्रयोग की गई 01 पिस्टल व 03 जिन्दा कारतूस भी बरामद किए गए थे। अब तक इस मामले में कुल 07 आरोपियों को काबू किया जा चुका है। अभियोग अनुसंधानाधीन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page