गुरुग्राम पुलिस ने ब्लाइंड मर्डर केस की गुत्थी सुलझाई, हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले दो गिरफ्तार, फोन भी बरामद

48 / 100
Font Size

गुरुग्राम : अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने थाना सैक्टर-40, गुरुग्राम के एरिया में हुए ब्लाइंड मर्डर की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है. पुलिस ने हत्या की वारदात को अन्जाम देने वाले दोनों आरोपियों के गिरफ्तार कर लिया है. आपसी कहासुनी होने पर मारपीट करते हुए चोटें मारते हुए हत्या की वारदात को अन्जाम दिया था। आरोपियों की निशानदेही पर घटनास्थल से मृतक का मोबाईल फोन भी पुलिस टीम ने बरामद कर लिया है।

यह जानकारी प्रीतपाल सिंह ए सी पी क्राइम गुरुग्राम ने दी. उन्होंने पतरकारों को बताया कि गत 15 सितम्बर 2020 को थाना सैक्टर-40, गुरुग्राम में एक सूचना पंकज पुत्र वेदप्रकाश निवासी भडफ की लडाई- झगडे में लगी चोटों के कारण सरकारी हस्पचाल सैक्टर-10ए, गुरुग्राम में मृत्यु हो जाने के सम्बन्ध में प्राप्त हुई।

▪️इस सूचना पर बिना किसी देरी के थाना सैक्टर-40, गुरुग्राम की पुलिस टीम सरकारी हस्पताल सैक्टर-10ए, गुरुग्राम पहुंची और मृतक का रुक्का ब्रॉड-डैड प्राप्त करके मृतक पंकज के परिजनों की तलाश की गई। कुछ समय पश्चात अजय कुमार पुत्र राजेश कुमार निवासी गाँव भडफ थाना कनीना जिला महेन्द्रगढ, उम्र 26 वर्ष ने पुलिस टीम के समक्ष प्रस्तुत होकर बतलाया कि पंकज पुत्र वेद प्रकाश निवासी भडफ थाना कनीना जिला महेन्द्रगढ उम्र करीब 28 वर्ष जो 05.09.2020 को काम की तलाश में गुरुग्राम में आया था और इसके साथ ही किराए के कमरे गली नं.-06 राजीव नगर, गुरुग्राम में रह रहा था। दिनाँक 14/15.09.2020 की रात को यह घुमने के लिए अपने चाचा की मोटरसाईकिल को लेकर व पंकज को पीछे बैठाकर कैटारिया चौक से होते हुए झाडसा रोड सर्विस रोड पर जा रहा थे तो मोटरसाईकिल बन्द हो गई। इसने सोचा कि तेल खत्म हो गया है और पैट्रोल पम्प नजदीक है तेल डलवा लेते है। ये मोटरसाईकिल को वापस मोडकर पैदल-पैदल पट्रोल पम्प की तरफ चलने लगे तो समय करीब 2.10 AM बजे रात दो लडके सफेद रंग की स्कुटी पर सवार होकर सामने की तरफ से आए तो इऩ्होनें उसने सहायता मांगी तो उनके साथ इनकी कहासुनी हो गई। वो दोनों अज्ञात लङको द्वारा पंकज को बुरी तरह पीटते देखकर पीटने के डर के मारे भाग गया वा छुपकर देखता रहा जब वह पंकज को मारपीट करके अपनी स्कुटी लेकर चले गये तो इसने पंकज को जाकर देखा तो पंकज बेहोशी की हालात में पडा हुआ था। जिसको चोटें लगी थी। वो लङके इसकी मोटरसाईकिल को लॉक करके चाबी अपने साथ ले गए।

एसीपी क्राइम ने बताया कि जब पंकज को होश आया तो उसने इसको बताया की उन दोनो लडको ने उसे लात घुसो से बुरी तरह से चोटें मारी वा इसके गिरने के बाद इसके गुप्त अंगो पर भी लात मारी। कुछ समय पश्चात एक आदमी आया तो इसने उसकी स्कुटी पर पंकज को बैठाकर चिंरनजीव हस्पताल झाडसा लाया जहां पर पंकज को दवाई दिलवाई और उसको आराम होने पर यह अपने कमरे राजीव नगर ले गया और सुबह 5.00 AM बजे के करीब पंकज ने कहा की इसे ज्यादा दर्द हो रहा है तो यह ईलाज के लिए लॉटस हस्पताल लेकर गया जो डाक्टर साहब ने देखने के पश्चात कहा की इसको किसी अच्छे हस्पताल में ले जाओ तो यह एक ऑटो करके मैदान्ता हस्पताल ले गया जहा पर डा0 साहब ने चैक करके कहा कि इसे सिविल हस्पताल ले जाओ। जब यह उसको उसी ऑटो में लेकर सिविल हस्पताल सैक्टर-10, गुरुग्राम पहुँचा तो सिविल हस्पताल के डाक्टर ने पंकज को मृत घोषित कर दिया। पंकज की मौत स्कुटी पर सवार दो अज्ञात व्यक्तियो द्वारा चोटे मारने के कारण हुई है। जिनके खिलाफ कानुनी कार्यवाही की जाए।

▪️इस शिकायत पर थाना सैक्टर-40, गुरुग्राम में कानून की उचित धाराओं के तहत अभियोग अंकित किया गया व मृतक का पोस्टमार्टम करवारकर उसके शव को उसके परिजनों के हवाले किया गया।

▪️इस अभियोग में निरीक्षक नवीन कुमार, प्रभारी अपराध शाखा सैक्टर-31, गुरुग्राम की पुलिस टीम ने तत्परता से कार्यवाही करते हुए अपने गुप्त सुत्रों की सहायता से व अपनी समझबुझ से इस अभियोग में हत्या करने की वारदात को अन्जाम देने वाले निम्नलिखित 02 आरोपियों को कल दिनांक 29.09.2020 को सिग्नेचर टॉवर एन.एच.-8, गुरुग्राम के पास से काबू करने में बङी सफलता हासिल की हैः-

  1. अताउल्ला खांन उर्फ तोतला पुत्र अशारुहक खांन निवासी दौरजन, थाना राघवपुर, जिला सुपौल, बिहार, हाल निवासी नजदीक सिग्नेचर टॉवर, गुरुग्राम।
  2. प्रियान्शु उर्फ सचिन उर्फ मोटा पुत्र धर्मबीर सिंह निवासी गाँव रोसर, थाना सहारनपुर, उत्तर-प्रदेश हाल निवासी गाँव हसनपुर, गुरुग्राम।

▪️दोनों आरोपियों को उपरोक्त अभियोग में नियमानुसार गिरफ्तार किया गया।

▪️आरोपियों ने प्रारम्भिक पुलिस पूछताछ में बतलाया कि उपरोक्त अभियोग में शिकायतकर्ता व मृतक पंकज के साथ रात के समय इनकी कहासुनी हो गई थी। जिसके कारण इन्होनें पंकज को साथ मारपीट की व मारपीट करते हुए इन्होनें पंकज की छाती पर ईंट से वार किया और ये वहां से अपनी स्कूटी पर सवार होकर भाग गए।

▪️आरोपियों द्वारा पुलिस को घटनास्थल की निशानदेही कराई तो आरोपियों की निशानदेही पर घटनास्थल से मृतक पंकज का फोन पुलिस टीम द्वारा बरामद किया गया, जिसे नियमानुसार पुलिस कब्जा में लिया गया।

▪️आरोपियों को आज अदालत के सम्मुख पेश कर पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया गया । इनसे वारदात में प्रयोग की गई स्कूटी पुलिस टीम द्वारा पुलिस हिरासत रिमाण्ड के दौरान बरामद की जाएगी। अभियोग अनुसंधानाधीन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: