अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में अब करनी सेना भी मैदान में कूदी

Font Size

राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू ने रहस्यमयी घटना की जांच सीबीआई से कराने की मांग की

सुशांत की मौत से पूर्व रात्री में मुंबई में हुई पार्टी का किया चौकाने वाला खुलासा 

महाराष्ट्र सरकार व मुंबई पुलिस पर किसी ख़ास को बचाने के लगाये गंभीर आरोप 

बिहार के आईपीएस को मुंबई में जबरन क्वारंटाइन करने को बेतुका कदम बताया

गुरुग्राम :  बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में  दो राज्यों के बीच बढ़ रहे विवाद में अब करणी सेना ने भी कूदने का ऐलान कर दिया. इस मामले में महाराष्ट्र सरकार,  मुंबई पुलिस एवं मुंबई महानगर पालिका के नकारात्मक रवैये की सख्त आलोचना करते हुए करणी सेना ने भी सुशांत सिंह के पिता और उनके वकील के सुर में सुर मिलाते हुए इस जघन्य व रहस्यमयी घटना की जांच केंद्रीय एजेंसी सीबीआई से कराने की मांग की है. संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू ने बिहार के आईपीएस विनय तिवारी को मुंबई में अनावश्यक तौर पर 14 दिन के लिए जबरन क्वारंटाइन करने को बेतुका कदम बताया साथ ही जांच में बाधा डालने की आशंका जताई .

इस मामले पर यहां आयोजित एक प्रेस वार्ता में सूरजपाल अम्मू ने पटना के एसपी सिटी को 14 दिन के लिए क्वारंटाइन करने पर सवाल खड़ा करते हुए कई चौंकाने वाले तथ्यों का खुलासा किया.  उन्होंने बताया कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से पहले  रात्रि में आदित्य पंचोली के बेटे सूरज पंचोली के निवास पर एक पार्टी आयोजित की गई थी.  उनके अनुसार उस पार्टी में महाराष्ट्र के वर्तमान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे और मंत्री आदित्य ठाकरे समेत कई नामचीन हस्तियों ने शिरकत की थी. उन्होंने दावा किया कि उक्त पार्टी में कुछ मामले को लेकर वहां झगड़ा हुआ था लेकिन पार्टी में सीएम के बेटे को बदनामी से बचाने के लिए वहां की घटना को छिपाया गया. 

करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष सूरजपाल अम्मू ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहां  की सुशांत सिंह की सेक्रेटरी दिशा सालियान के साथ इसी पार्टी में कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म किया गया था.  इसके बाद दिशा ने बहु मंजिली इमारत से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली थी.  उन्होंने बताया कि जांच में यह बात भी सामने आई है उस रात की पार्टी में हुए झगड़े को लेकर दिशा ने सुशांत को भी कॉल कर जानकारी दी थी. श्री अम्मू का कहना है कि महाराष्ट्र पुलिस इस अति गंभीर मामले में सुशांत के परिजनों को भी गुमराह कर रही है जबकि बिहार पुलिस द्वारा एफ आई आर दर्ज करने के बाद तत्काल जांच शुरू करने से इस मामले में कई चौकाने वाले खुलासे हो रहे हैं.

 श्री अम्मू ने कहा कि महाराष्ट्र पुलिस इस पूरे मामले में जांच को लटकाने भटकाने और अटकाने की कोशिश कर रही है.  उन्होंने आरोप लगाया कि ठाकरे परिवार और महाराष्ट्र सरकार भी इस मामले में सीबीआई जांच करवाने से कतरा रही है  जिससे करोड़ों लोगों के मन में आशंका के बादल गहरा रहे हैं. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा की सुशांत की मौत के मामले को केवल आत्महत्या मानकर केस को बंद करना उनके परिजनों के साथ सरासर अन्याय होगा.  उन्होंने यह कहते हुए सवाल खड़ा किया कि उनके परिजनों को एवं देश की जनता को यह जानने का अधिकार है कि आखिर रिया चक्रवर्ती ने सुशांत के बैंक खाते से कितने रुपए निकाले ? इसको लेकर रिया चक्रवर्ती से पूछताछ होनी चाहिए क्योंकि यह बेहद गंभीर मामला है जिसको लेकर आज पूरा देश मुंबई पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़ा कर रहा है. 

उनका कहना था कि समाज और देश में एक होनहार अभिनेता खोया है जबकि एक परिवार ने अपना इकलौता बेटा गवाया है. ऐसे में मामले की तह तक जाना और सच्चाई से पर्दा उठाना कानून व्यवस्था की जिम्मेदारी बनती है.  इस मामले को लेकर जांच एजेंसियों पर अपनी विश्वसनीयता लोगों की नजरों में स्थापित करने की  बड़ी चुनौती मुंह बाए खड़ी है. श्री अम्मू ने  2 राज्यों की पुलिस के बीच बढ़ते टकराव को देखते हुए इस प्रकरण की जांच केंद्रीय एजेंसी सीबीआई से कराने की पुरजोर मांग की. उन्होंने कहा कि  उनकी संस्था चाहती है कि  मामले में अब सीबीआई ही दूध का दूध और पानी का पानी करें.

इस अवसर पर करणी सेना की राष्ट्रीय महामंत्री शेफाली नांगल,  राष्ट्रीय मंत्री भीम भटेजा,  राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष दिनेश चौहान,  ऑडिटर संजय नांगल,  हरियाणा करणी सेना के अध्यक्ष ओम तवर एवं प्रदेश महामंत्री मनदीप सिंह सहित कई प्रमुख सदस्य भी मौजूद थे. 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: