कैसा रहा अनलॉक वन का दूसरा दिन ?

Font Size

शहर के मुख्य सदर बाजार में खुली दुकानें, लोगों की बढऩी शुरु हो गई भीड़


सामाजिक दूरी का नहीं हो पा रहा है सख्ती से पालन


लापरवाह लोग फेस मास्क का भी नहीं कर रहे हैं इस्तेमाल


कोरोना पॉजिटिव की बढ़ती संख्या से आमजन हैं चिंतित
दिल्ली-गुडग़ांव सीमा अभी भी हैं सील


गुडग़ांव, 2 जून । वैश्विक कोरोना वायरस के प्रकोप का सामना गुडग़ांववासियों को करना पड़ रहा है। दिन- प्रतिदिन कोरोना पॉजिटिव की संख्या में वृद्धि होती जा रही है। यह आंकड़ा एक हजार को पार करने जा रहा
है। कोरोना पॉजिटिव की बढ़ती संख्या ने जिलेवासियों को भयभीत कर रख दिया है।

ओल्ड गुडग़ांव व पॉश क्षेत्र, नए गुडग़ांव तथा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना ने पैर पसार लिए हैं। जिला प्रशासन को कोरोना पीडि़तों के लिए करीब 100 कंटेनमेंट जोन भी घोषित किए हैं और इन क्षेत्रों से लगते क्षेत्रों को बफर जोन घोषित किया हुआ है। शहर के अधिकांश क्षेत्रों में कई-कई कोरोना पॉजिटिव मिल रहे हैं। चौथे चरण के
लॉकडाउन के बाद प्रदेश सरकार ने अनलॉक वन घोषित किया है, जिसमें अधिकांश आवश्यक सेवाओं को खोल दिया गया है। शिक्षण संस्थाएं आदि अभी बंद हैं।
शहरवासियों की आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाने के लिए जिला प्रशासन ने आगामी 8 जून से कुछ अन्य सेवाओं को भी खोलने का निर्णय लिया हुआ है। जिनमें शॉपिंग मॉल्स आदि शामिल हैं। जिला प्रशासन ने सामाजिक दूरी, फेस
मास्क व सैनिटाइजर का इस्तेमाल करने के दिशा-निर्देश भी जारी किए हैं।

अनलॉक वन के दूसरे दिन मंगलवार को शहर के मुख्य सदर बाजार में जिला प्रशासन के दिशा-निर्देशों के अनुसार दुकानें खुली। इन दुकानों में ज्वैलर्स, कपड़े, गारमेंट आदि शामिल थी। सदर बाजार में लोगों की भीड़ अब
बढऩी शुरु हो गई है, लेकिन सामाजिक दूरी का पालन कम ही किया जा रहा है।


फेस मास्क का इस्तेमाल भी कुछ लापरवाह लोग नहीं कर रहे हैं। उधर गुडग़ांव दिल्ली सीमा खुलने पर संशय बना हुआ है। दिल्ली-गुडग़ांव सीमा का मामला भी सुलझता दिखाई नहीं दे रहा है। दिल्ली सरकार ने दिल्ली सीमा में बिना वैध पास के प्रवेश करने पर पाबंदी लगा दी है। दिल्ली पुलिस इन आदेशों का पूरा पालन कराने में जुटी है।

राजधानी दिल्ली भीतर तो खुली है, लेकिन सीमाएं
लॉक है। गुडग़ांव-दिल्ली सीमा पर गुडग़ांव पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है। दिल्ली सीमा से गुडग़ांव में बिना वैध पास के प्रवेश नहीं करने दिया जा रहा है। मंगलवार की प्रात: भी इन सीमाओं पर बड़ी संख्या में श्रमिक
एकत्रित हो गए। पुलिस ने उन्हें समझा-बुझाकर वापिस किया और उनसे आग्रह किया कि जब तक उनके पास वैध पास नहीं होंगे, तब तक उन्हें गुडग़ांव सीमा व
दिल्ली सीमा में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। उद्योग विहार स्थित औद्योगिक प्रतिष्ठानों के समक्ष श्रमिकों की कमी की समस्या उत्पन्न हो रही है।

प्रतिष्ठानों के संचालकों का मानना है कि जो कुछ श्रमिक
प्रतिष्ठानों में काम कर रहे हैं कही वे भी काम पर आना बंद न कर दें। उधर जिला प्रशासन का कहना है कि प्रशासन सरकारी आदेशों का पालन करा रहा है, लेकिन जिलेवासियों की सुरक्षा जिला प्रशासन के लिए सर्वोपरि है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: