सीएए के खिलाफ धरना से पुलिस व प्रशासन में खलबली , धरना स्थल पर डाला टैंकरों से पानी,धारा 144 लागू

Font Size

35 लोगों पर धारा 144 उल्लंघन करने का केस दर्ज
टेंट उखाड़ने पर लोगों ने जताई नाराजगी, किया प्रदर्शन
रात्रि में पुलिस पर मेज व अन्य सामान को तोड़ने का आरोप


अगोन गांव में सीएए के विरुद्ध धर्मानंद आचार्य हजारों लोगों को करेंगे सोमवार को संबोधित

नगीना/मेवात । जिला नूंह के बडकली चौक पर नागरिक संशोधन कानून के विरोध में मेवातियों का शांतिपूर्वक धरना चौथे दिन भी जारी रहा। जिला पुलिस प्रशासन पर धरना स्थल पर टैंकरों से पानी डालनेे के आरोप लगे और लोगों ने नाराजगी जाहिर करते हुए एक बड़ा शांतिपूर्वक प्रदर्शन भी किया। पुलिस शासन द्वारा टेंट उखाड़ फेंकने की बात आयोजकों द्वारा कही गई। धरने पर बैठे लोगों को मजबूती प्रदान करने के लिए गांवों से सैकड़ों की तादाद में लोग धरना स्थल पर पहुंचें।

दूसरी तरफ भादस गांव से युवाओं ने सैकड़ों की तादाद में प्रदर्शन करते हुए धरना को अपना समर्थन दिया। नगीना पुलिस थाने में अब तक 35 लोगों के खिलाफ धारा 144 का उल्लंघन करने के मामले में केस दर्ज हो चुका है। लगातार चौथे दिन धरने पर बैठे मेवात क्षेत्र के वरिष्ठ समाजसेवी रमजान चौधरी एडवोकेट की अचानक तबीयत खराब हो गई और वो गिर गए और उन्हें तुरंत प्रभाव से डॉक्टरों ने देखभाल किया और करीब 15 मिनट बाद उन्हें होश आया।

मेवात विकास सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सलामुद्दीन एडवोकेट ने कहा कि शांतिपूर्वक धरना प्रदर्शन करने का अधिकार हमें संविधान ने दिया हुआ है लेकिन जिला प्रशासन हमें जानबूझकर करने की परमिशन प्रदान नहीं कर रहा और धारा 144 का हवाला देकर झूठे मुकदमे दर्ज कर रहा है। इन मुकदमों से हम डरने वाले नहीं हैं हम राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पद चिन्हों पर चलने वाले लोग हैं। और बाबा भीमराव अंबेडकर के कानून को मानने वाले लोग हैं। उन्होंने कहा कि यदि सरकार ने सोमवार तक हमारे शांतिपूर्वक जाने को मंजूरी नहीं दी तो जिले में एक बड़ा आंदोलन होगा जो सरकार की चूलें हिला देगा। इसलिए बेहतर यही है कि जिला प्रशासन हमारे शांतिपूर्वक तथा जिन लोगों के खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज किए गए हैं उन्हें तुरंत प्रभाव से वापस किया जाए।

सामाजिक संगठन मेवात कारवां के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉक्टर अशफाक आलम ने धरना स्थल पर पहुंचकर शांतिपूर्ण धरने का समर्थन किया। सरकार द्वारा लाए गए नागरिक कानून की खामियों को विस्तार से गिनवाया। उन्होंने कहा कि यह कानून न केवल संविधान के खिलाफ है बल्कि हिंदू मुस्लिम भाईचारे में नफरत भरने की साजिश और वोट बैंक का हिस्सा है।

मोहम्मद आलम गुमटबिहारी ने बताया कि अगोन गांव में सीएए के खिलाफ कई हजार की संख्या में विशाल शांतिपूर्ण प्रदर्शन होगा। इधर जिला बार एसोसिएशन नूंह चेयरमैन सलीम अहमद और फिरोजपुर झिरका बार के वरिष्ठ अधिवक्ता यूसुफ एडवोकेट ने धरना के हित में समर्थन पत्र सौंपा है। जिसमें आचार्य धर्मानंद जी महाराज मुख्य अतिथि होंगे तथा अध्यक्षता मुफ्ती सलीम अहमद कासमी साकरस करेंगे और आयोजक समाजसेवी रशीद एडवोकेट होंगे। नगीना एसएचओ जगराम ने बताया कि बडकली चौक धरना से बिल्कुल शांतिपूर्ण चल रहा इससे किसी प्रकार की शांति भंग नहीं हो रही। और लोगों को भी किसी प्रकार की समस्या नहीं हो रही। इन संगठनों को तत्काल परमिशन लेनी होगी। 


धरना स्थल पर डाला गया पानी  

चौथे दिन चल रहे हैं धरने को समाप्त करवाने के लिए पुलिस प्रशासन पर आरोप लग रहे हैं कि उन्होंने टैंकरों से पानी डलवाया ताकि लोकतांत्रिक और शांतिपूर्ण धरना भी वहां बैठकर नहीं कर सकें। इतिहासकार सद्दीक अहमद ने कहा कि सविधान में शांतिपूर्वक धरने करने का हक जनता को मिला हुआ है। धरना स्थल पर पानी डालने से सरकार के मंसूबे पता चलते हैं कि वह मेवात के लोगों से कितना डरी हुई है। 


उमरा गांव में 9 लोगों के खिलाफ केस 31 जनवरी को उमरा गांव में हजारों की संख्या में प्रदर्शन करने वाले लोगों में से केवल 9 लोगों को पुलिस प्रशासन में चिन्हित करते हुए नगीना पुलिस थाना में केस दर्ज किया है। यहां पर लोगों ने नागरिक कानून के विरोध में एक बड़ा प्रदर्शन किया था। उमरा गांव के हारून ने बताया कि हाईवे पर धारा 144 लगी हुई है लेकिन हमारे गांव में नहीं लगी है फिर भी हमारे गांव के लोगों और मुझ पर केस दर्ज करना पुलिस प्रशासन की हताशा को दर्शाता है। 


बडकली धरने पर 9 पर केसशुक्रवार को बडकली चौक पर शांतिपूर्वक धरना करने वाले 9 लोगों को चिन्हित करते हुए केस दर्ज किया है। फिरोजपुर झिरका के डीएसपी वीरेंद्र सिंह ने बताया कि यह लोग बिना अनुमति के शांतिपूर्वक धरना कर रहे हैं इसलिए उन्हें परमिशन लेकर धरना करना चाहिए। 


रात्रि 13 लोगों पर हुआ केस दर्ज 

शनिवार को बडकली चौक पर शांतिपूर्वक धरना करने वाले लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुआ है।  उनमें मेवात विकास सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सलामुद्दीन एडवोकेट, इतिहासकार सद्दीक अहमद, रशीद एडवोकेट, सिरदार खान, मुबारिक, साबिर हुसैन, नईम, रियाज आलम, इकबाल, अलीम नंबरदार, साजिद, आलम एडवोकेट, गफ्फार आदि 13 लोग शामिल है। 


चलता रहेगा शांतिपूर्ण धरना

 मेवात विकास सभा के पूर्व प्रधान रमजान चौधरी, दीन मोहम्मद व अन्य ने बताया कि शांतिपूर्वक धरना बडकली चौक पर चलता रहेगा। यह पुलिस प्रशासन की नाकामी है कि हमें परमिशन नहीं दी जा रही तथा हमारे शांतिपूर्वक धरने को रोकने के लिए झूठे मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं जबकि देशभर के स्थानों पर दर्जनों राज्यों में शांतिपूर्वक धरने चल रहे हैं हमारी जिला प्रशासन से अपील है कि तुरंत प्रभाव से हम हैं शांतिपूर्ण धरने की मंजूरी दी जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: