मुख्यमंत्री मनोहर लाल का हरियाणा के युवाओं के साथ कैसा रहा संवाद ?

Font Size

चंडीगढ़, 12 जनवरी :  हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि युवाओं को चरित्रवान व्यवहार के साथ दृढ़ संकल्पित होकर निडरता से अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए प्रयास करने चाहिए। हर युवा में ‘चासनी’ होनी चाहिए अर्थात चरित्र, दृढ़ संकल्प और निडरता, ये तीनों गुण जिस युवा में होंगे उसे सफल होने से कोई नहीं रोक सकता है। मुख्यमंत्री ने आज रेवाड़ी के के.एल.पी. कॉलेज में स्वामी विवेकानंद के जन्मदिवस पर आयोजित युवा संवाद कार्यक्रम में वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेशभर के युवाओं को संबोधित कर रहे थे।

मनोहर लाल ने स्वामी विवेकानंद को नमन करते हुए कहा कि देश को नया रूप देने के लिए सभी को साथ चलना है। सभी को मिलकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सोच को आगे बढ़ाते हुए देश की उन्नति में सकारात्मक सहयोग देना है। उन्होंने कहा कि बचपन में हम समाज से लेते हैं और युवा अवस्था समाज को देने का काल होता है। उन्होंने कहा कि जैसे कहा जाता है, तन समर्पित, मन समर्पित और ये जीवन समर्पित, इस तरह हर व्यक्ति समाज का ऋणी है। मुख्यमंत्री ने युवाओं का आह्वïान किया कि समाज के प्रति अपने कर्तव्य के लिए हमेशा तैयार रहना चाहिए।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि ईच वन-टीच वन, ईच वन-प्लांट वन की भावना के साथ समाज के लिए सबको आगे आना चाहिए। युवाओं को हर अनपढ़ व्यक्ति को साक्षर करने का प्रयास करना चाहिए। स्कूल में पढऩे वाला हर छात्र अपने स्कूली जीवन के दौरान हर साल पेड़ लगाए और समाज के प्रति भी अपना फर्ज निभाएं। उन्होंने कहा कि युवा वायु भी है, इसलिए युवाओं को करने से पहले सोचना भी चाहिए। उन्होंने कहा कि युवाओं को अपनी गति को उचित दिशा में बढ़ाना चाहिए और हमेशा अपनी शक्ति एवं क्षमता को याद रखते हुए राष्ट्र के लिए काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि युवाओं को अपने जोश को काबू में रखते हुए होश के साथ काम लेना चाहिए। युवाओं का आह्वïान किया कि वे संवेदनशीलता के साथ सोच रखते हुए नए विषयों पर शोध करते रहें।

 सोशल मीडिया का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि आज के समय में टैक्नोलॉजी का सदुपयोग के साथ-साथ दुरूपयोग भी हो सकता है। सोशल मीडिया पर लोग बिना कुछ सोचे समझे चीजों को शेयर कर देते हैं, इसलिए सोशल मीडिया लाभदायक होने के साथ-साथ घातक भी हो सकता है। बिना तथ्य जांचे सोशल मीडिया पर किया गया कॉमेन्ट नुकसानदायक हो सकता है। मुख्यमंत्री ने जल संरक्षण को लेकर भी युवाओं का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि युवा हर क्षेत्र में अपने देश व प्रदेश को आगे ले जाने के लिए सकारात्मक सहयोग दे सकते हैं।

 मनोहर लाल ने कहा कि हर युवा में ऐसा जज्बा होना चाहिए कि अगर कोई असामाजिक तत्व किसी महिला के साथ गलत व्यवहार तो युवा उसका पुरजोर विरोध करे। उन्होंने कहा कि देश और समाज के लिए जीने वालों को हजारों साल याद रखा जाता है। स्वामी विवेकानंद जी ने भी कहा था, ‘‘जागो, उठो और तब तक कोशिश करते रहो जब तक सफलता न मिल जाए।’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामी विवेकानंद शिकागो जाते समय कई देशों में रूके थे और जापान देश में युवाओं का आचरण देखकर भारत के लोगों का आह्वïान किया था कि समाज और देश की पूजा की जाए।

 उन्होंने कहा कि युवा अवस्था आयु नहीं बल्कि एक फेज है। शरीर का पूर्ण रूप से समन्वित चरित्रवान होना ही युवा की परिभाषा है। युवा अवस्था के दौरान कई बार ऐसे मोड़ आते है जब युवा को दिशा और दशा मिल जाती है। उन्होंने कहा कि युवा अवस्था के दौरान बाधाएं भी बहुत होती है, जिनको युवा ऊर्जा के चलते आसानी से हल किया जा सकता है।  व्यक्तिगत और पारिवारिक कार्य तो हर कोई करता है, इससे ऊपर उठकर देश के लिए काम करना बेहद जरूरी है।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि आज स्वामी विवेकानंद की जयंती पर आयोजित मैराथन में पूरे प्रदेश में चार लाख से भी अधिक लोग शामिल हुए। उन्होंने कहा कि वैसे तो 12 जनवरी, 1863 को स्वामी विवेकानंद का जन्मदिवस मनाया जाता है लेकिन असल में उस दिन नरेन्द्र दत्त का जन्म हुआ था, जो अपनी विशेषताओं एवं विवेक के कारण तीस वर्ष के बाद विवेकानंद कहलाए। उन्होंने कहा कि युवा अवस्था में जब स्वामी विवेकानंद जी ने शिकागो में भारतीय सभ्यता और संस्कृति पर आधारित भाषण के दौरान सारा हॉल तालियों से गूंंज उठा था और वहां के समाचार पत्र न्यूयार्क हैराल्ड में खबर छपी थी कि स्वामी विवेकानंद धर्म संसद में सबसे बड़ी शख्सियत थे और उनको सुनने के बाद यह बेवकूफी होगी कि भारत जैसे विद्वान देश में इसाई मिशनरियों को भेजा जाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामी विवेकानंद और अन्य महापुरूषों की सोच के अनुरूप ही प्रदेश में पिछले पांच साल के दौरान सकारात्मक बदलाव किए गए हैं, सभी वर्गों की सोच के अनरूप प्रदेश में सुशासन लागू किया गया है। प्रत्येक प्रदेशवासी को अच्छा शासन मिले, इसके लिए शिक्षा, सुरक्षा और स्वावलम्बन की भावना के साथ काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किए गए महत्वपूर्ण कार्यक्रम स्टार्ट-अप का लाभ प्रत्येक युवा को उठाना चाहिए। सरकार का प्रयास है कि प्रदेश के युवाओं का कौशल विकास किया जाए ताकि वे नौकरी लेने वाले नहीं देने वाले बनें। प्रदेश के बेराजगार युवाओं को सुविधा देने के लिए सरकार ने सक्षम योजना के तहत दो लाख 75 हजार पंजीकरण किए है जिनमें से 92 हजार को काम दिया गया है। उन्होंने बताया कि कौशल विकास के तहत 11 हजार युवाओं को श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय में प्रशिक्षण दिया गया है। लगभग 77 हजार से भी अधिक युवाओं को अप्रैन्टस के तहत रोजगार उपलब्ध करवाया गया है।

बाक्स

मुख्यमंत्री ने अपने सम्बोधन में कहा कि राष्ट्रवाद एक महत्वूपर्ण मुद्दा है। जिस देश को भारत माता कहा जाता है और देश की आजादी में लाखों नौजवानों ने अपना संघर्ष किया और  हजारों युवा देश की आजादी के लिए शहीद हो गए। उस आजादी के समय देश के लिए कुछ अपवाद बच गए थे, जो देशहित में नहीं थे और उनका समाधान करना बहुत जरूरी था। श्री मनोहर लाल ने कहा कि देश की भलाई और देशवासियोंं को ध्यान में रखते हुए धारा 370 हटाने और नागरिकता संसोधन अधिनियम जैसे अहम फैसले लिए गए। उन्होंने कहा कि जानकारी एवं ज्ञान के अभाव में युवाओं को भटकाने की कोशिश की जाती है। उन्होंने कहा कि सरकार सभी कार्य नहीं कर सकती है। समाज की जरूरत के अनुसार लोगों को जोडऩे का काम किया जाए।

विपक्षी दलों पर कटाक्ष

मुख्यमंत्री ने विपक्षी दलों पर कटाक्ष करते हुए कहा कि विपक्षी समाज को बांटने और तोडऩे का काम करते है। आवाज उठाना सबका अधिकार है। अगर विपक्षी दल किसी चीज को लेकर अपनी बात रखना चाहते है तो सकारात्मक तरीके से बात रखना उचित ढंग़ है। सरकार किसी भी योजना आदि के सुधार के लिए हमेशा तैयार है। उन्होंने कहा कि अब भ्रष्टाïचारियों की जेब में पैसा जाना बंद हो गया है और पंचायतों को भी पूरा पैसा मिल रहा है। पहले की सरकारों में जमीन अधिग्रहण कर लिया जाता था और सीएलयू किसी ओर को दे दिया जाता था। लोग रात को बैठकर पैसे गिनते थे। अब ऐसा काम नहीं चलता है। उन्होंने कहा कि भले ही विपक्षी दलों को साफ सुथरी सरकार से दिक्कत है, उसके बावजूद भी सरकार बिना किसी डर के ईमानदारी के साथ ऐसे ही जनता की भलाई के कार्य करती रहेगी।

उन्होंने कहा कि पहले युवा राजनेताओं के चक्कर काटते थे ताकि सरकारी नौकरी में उनका कोई जुगाड़ हो जाएं। भाजपा की सरकार ने आकर नौकरियों में भ्रष्टïाचार को पूरी तरह खत्म कर दिया है और अब प्रदेश में योग्यता के आधार पर ही नौकरियों मिलती है। उन्होंने कहा कि अब अगर किसी गरीब का बच्चा प्रोफेसर लगता है तो पूरा गांव खुश होता है।

भारत में 35 साल तक की उम्र के 68 करोड़ युवा 

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय संस्कृति और स्वामी विवेकानंद के अनुसार समाज में रहने वाले लोगों का आपस में अच्छा एवं भाईचारे का नाता होता है। उन्होंने कहा कि भारतीय संंस्कृति के अनुसार अगर हम अपने बच्चों को संस्कारित करेंगे तो समाज में अनैतिक कार्य नहीं होंगे।

 इससे पहले प्रदेश के सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल ने कहा कि भारत में 68 करोड़ युवा है जो 35 साल तक की उम्र के हैं। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद जी के संदेश के अनुसार इन युवाओं की ऊर्जा देशहित में लगनी चाहिए। अच्छी शिक्षा और संस्कारों के जरिए नैतिक कर्तव्य निभाते हुए अच्छे समाज का निर्माण करने में युवा अहम भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने कहा कि युवा हमारे देश का भविष्य हैं और युवाओं को सकारात्मक सोच से अपने भविष्य को निखारने की जरूरत है।

इससे पूर्व पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने भी उपस्थित युवाओं को सम्बोधित किया। इस अवसर पर कोसली के विधायक  लक्ष्मन सिंह यादव, मुख्यमंत्री के विशेष अधिकारी एवं एडीजीपी  ओ.पी. सिंह, एडीजीपी  आर.सी. मिश्रा, डीआईजी, सीआईडी,  अनिल राव, उपायुक्त  यशेन्द्र सिंह, पुलिस अधीक्षक  नाजनीन भसीन, पूर्व मंत्री  बिक्रम सिंह यादव, जिला भाजपा अध्यक्ष योगेन्द्र पालीवाल, हरियाणा सफाई आयोग के वाईस  चेयरमैन  कृष्ण कुमार,  वंदना पोपली सहित अनेक युवा व गणमान्य लाग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: