सावधान ! अब सफाई कर्मी नहीं ,स्वच्छता दूत के नाम से जाने जायेंगे

Font Size

चण्डीगढ :  स्वच्छ भारत मिशन हरियाणा के कार्यकारी वाईस चेयरमैन सुभाष चंद्र ने कहा कि अब प्रदेश में सफाई कर्मी अब स्वच्छता दूत के नाम से जाने जाएंगे। इसके अलावा, सफाई कर्मियों को जिला स्तर पर विशेष ट्रेनिंग देकर दक्ष भी किया जाएगा।
यह जानकारी आज उन्होंने चंडीगढ़ सिविल सचिवालय में सफाईकर्मियों की बैठक  के दौरान दी। उन्होंने हरियाणा सरकार की ओर से सफाई कर्मियों को उनके द्वारा किये जा रहे स्वच्छता कार्य के लिए प्रोत्साहित किया। उन्होंने कहा कि सफाई कर्मियों ने साबित किया है कि दुनिया में नामुमकिन कुछ भी नहीं, सफाईकर्मी बिना किसी की प्रशंसा के चुपचाप अपना काम करते रहते हैं, उनके कार्य को देखते हुए प्रदेश में सफाई कर्मी अब स्वच्छता दूत के नाम से जाने जाएंगे।

सुभाष चंद्र ने कहा कि इनके बिना स्वछता अभियान की कल्पना नहीं की जा सकती ऐसे में इनकी कार्यक्षमता को बढ़ाने के लिए सफाई कर्मियों को जिला स्तर पर विशेष ट्रेनिंग देकर दक्ष किया जाएगा। जिस प्रकार से सैनिक देश की सीमाओं से दुश्मनों को दूर भगाते है, उसी प्रकार से सफाई कर्मी देश के अन्दर से गन्दगी रूपी राक्षस को भगाते है। इसलिए देश निर्माण में सफाई कर्मियों का बहुत बड़ा योगदान होता है। सफाई कर्मी स्वच्छता अभियान के सच्चे प्रहरी है। वे हर रोज प्रदेश को स्वच्छ बनाने के लिए लगातार कार्य करते हैं और उन्ही के प्रयासों की बदौलत हरियाणा प्रदेश स्वच्छता के मामले में देश के अन्य प्रांतों से काफी आगे है।

सुभाष चन्द्र ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में पहली बार सफाई कर्मचारियों की समस्याओं और सुविधाओं पर ध्यान दिया गया है, इसके अलावा केन्द्र व राज्य सरकार ने सफाई कर्मियों के कल्याण के लिए अनेक प्रकार की योजनाएं बनाई हैं। सफाई कर्मियों को चाहिए कि वे इन योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर अपने व अपने बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए इन योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ उठाएं।
उन्होंने कहा कि सफाई कर्मियों की हर समस्या का समाधान करने के लिए राज्य सरकार कृतसंकल्प है। प्रदेश सरकार ने सफाई कर्मचारियों की हर समस्या का समाधान प्राथमिकता के आधार पर किया है। राज्य सरकार द्वारा सफाई कर्मियों के हित में अनेक फैसले लिए है, जिनका फायदा सफाई कर्मचारियों को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत को स्वच्छ बनाने के लिए जो सपना संजोया है, उसे प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल पूरा करने की दिशा में स्वच्छ भारत अभियान को जन आंदोलन बनाकर चल रहे हैं।  इस सपने को साकार करने में सफाईकर्मियों की अहम भूमिका है, क्योंकि सफाई कर्मचारी स्वच्छता अभियान की रीढ़ की हड्डी है। आम लोगों को भी चाहिए कि वो प्रदेश को साफ-सुथरा बनाने के इस अभियान में अपनी भागीदारी निभाए, ताकि हरियाणा प्रदेश को देश का सबसे स्वच्छ एवं सुंदर राज्य बनाया जा सके।

उन्होंने कहा कि स्वच्छता मिशन हम सबका सांझा मिशन है, जिसमें सभी के निरंतर प्रयास की भागीदारी होना बहुत ही जरूरी है, ताकि आने वाली पीढी का जीवन सुखद व स्वच्छ हो। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के मुताबिक भी जिन देशों में स्वच्छता पर ध्यान दिया जाता है वहां बिमारियों का प्रकोप बहुत कम होता है और उनके नागरिकों की औसत आयु भी अधिक होती है, ऐसे में हमें सफाई का सारा बोझ सफाई कर्मचारी पर न डालते हुए अपनी जिम्मेदारी भी समझनी चाहिए।

इस अवसर पर उन्होंने सफाई कर्मचारियों की समस्याओं को सुना और विभाग के अधिकारियों को उनके निपटान बारे आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने सफाई कर्मियों से कहा कि अपना काम करते समय आवश्यक सुरक्षा उपकरणों का उपयोग करें और यूनिफार्म, मास्क लगाकर काम करें ताकि आपका स्वास्थ्य बना रहे।

इस मौके पर उनके साथ सचिवालय के प्रशासकीय अधिकारी कर्मबीर बौद्ध, टास्क फ़ोर्स के सदस्य पवन शर्मा, शाखा अधिकारी आनंद, अनिल कुमार, सुभाष त्रेहन सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: