चीफ सेक्रेटरी ने की अधिकारियों के साथ बैठक, बादशाहपुर नाला में ट्रीटेड पानी डालने के निर्देश , कमेटी गठित

Font Size

गुरुग्राम। जिला के बादशाहपुर नाला से संबंधित एनजीटी में विचाराधीन मामले को लेकर हरियाणा सरकार के मुख्य सचिव डी एस ढेसी ने आज गुरुग्राम में संबंधित विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि बादशाहपुर नाला में विभिन्न स्रोतों से आ रहे पानी की मात्रा और उसकी क्वालिटी को एक संयुक्त कमेटी चेक करेगी । इस कमेटी का गठन प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के गुड़गांव में तैनात रीजनल ऑफिसर शक्ति सिंह की अध्यक्षता में किया गया है। इस कमेटी में जीएमडीए तथा नगर निगम के अधिकारी भी होंगे जो 15 दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।

बैठक में चीफ सेक्रेटरी ढेसी ने यह निर्देश दिया कि ऊक्त नाले के राष्ट्रीय राजमार्ग से लेकर खांडसा गांव तक के 600 मीटर भाग के निर्माण की मॉनिटरिंग मंडलायुक्त मोहम्मद साइन करेंगे। इस 600 मीटर वाले भाग के निर्माण की जिम्मेदारी हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के पास है। प्राधिकरण के अधिकारियों ने इसका निर्माण 30 अप्रैल तक पूरा करवाने का आश्वासन दिया है।

आज की महत्वपूर्ण बैठक में एनजीटी के सदस्य भी शामिल हुए। बैठक में एनजीटी की ओर से इस बात पर बल दिया गया कि बादशाहपुर नाला से केवल ट्रीटेड पानी ही नजफगढ़ ड्रेन में जाए। इंडस्ट्रियल एफ्लूएंट तथा सीवरेज का पानी बिना ट्रीट किए नाले में डालने से मना किया ।

बदशाहपुर नाला में जिन उद्योगों का वेस्ट पानी डाला जा रहा है, उनमें हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी गुरुग्राम साउथ के रीजनल ऑफिसर शक्ति सिंह की देखरेख में चेक करेंगे कि प्रत्येक इंडस्ट्री में एफ्लूएंट ट्रीटमेंट प्लांट लगा है अथवा नहीं। यदि लगा हुआ है तो उनका ट्रीटेड पानी कहां जा रहा है।

मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव तथा गुरुग्राम महानगर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वी उमाशंकर ने बैठक में बताया कि नगर निगम द्वारा अलग-अलग क्षेत्रों में 350 छोटे-छोटे एसटीपी लगाने की योजना बनाई गई है। वहां से निकलने वाले पानी को ट्रीट कर रीसाइकिल्ड पानी का उसी क्षेत्र में बागवानी, पार्क में पानी देने, टॉयलेट की फ्लश आदि में उपयोग किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जीरो डिस्चार्ज का कांसेप्ट नए सेक्टरों में लागू किया जा रहा है। वहाँ बिल्डर के लाइसेंस में ही डुएल पाइपिंग सिस्टम लगाना अनिवार्य कर दिया गया है।

आज की बैठक में सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट पर भी चर्चा हुई।मुख्य सचिव ढेसी ने प्रशासन से 3 ग्राम पंचायतों का चयन कर उन्हें सॉलि़ड वेस्ट मैनेजमेंट में मॉडल विलेज बनाने की योजना तैयार करने का निर्देश दिवा।
साथ ही मुख्य सचिव ने गुरूग्राम पुलिस से सोहना रोड पर वाटिका चौक से एनएच- 48 तक के भाग में सड़क तथा सर्विस लेन में वाहनों की पार्किंग पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि साथ लगती रिहायशी सोसायटियो तथा शॉपिंग मॉल में उपलब्ध अधिकृत पार्किंग का ही उपयोग करवाएं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *