जिला में बढ़ाई जाएगी मतदान केंद्रों की संख्या

Font Size

– चुनाव आयोग से मंजूरी मिलने के बाद गुरुग्राम में मतदान केंद्रों की संख्या होगी 1257
-जिला की चारों विधानसभा में 21 नए मतदान केंद्र बनाए जाने के साथ ही 7 केंद्रों को किया जाएगा समायोजित

गुरुग्राम, 22 सितंबर। गुरुग्राम जिला के कुछ मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की संख्या अधिक होने के कारण जिला प्रशासन द्वारा नए मतदान केंद्र बनाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। इस बात की जानकारी अतिरिक्त उपायुक्त विश्राम कुमार मीणा ने दी। श्री मीणा वीरवार को लघु सचिवालय स्थित कांफ्रेंस हॉल में विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने सभी को इन प्रस्तावित नए बूथों के बारे में भी जानकारी दी।

एडीसी श्री मीणा ने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों को बताया कि जिला के चारों विधानसभा क्षेत्रों में मतदान केंद्रों की संख्या 1236 थी जो अब इस प्रस्ताव के बाद बढ़कर 1257 हो जाएगी। इस प्रस्ताव को मंजूरी के लिए निर्वाचन आयोग के पास भेजा जाएगा और वहां से स्वीकृति मिलने के बाद यह नए बूथ मान्य हो जाएंगे।

श्री मीणा ने बताया कि जिन मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की संख्या 1500 से अधिक होती है, उनके साथ ही उसी भवन में नए केंद्र बनाए जाते हैं जिसे सहायक बूथ भी कहा जाता है।

बैठक में इलेक्शन तहसीलदार राजेंद्र सिंह ने बताया कि प्रस्ताव के अनुसार पटौदी विधानसभा क्षेत्र में पहले 245 मतदान केंद्र थे जिनकी संख्या बढ़कर अब 247 हो जाएगी। बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र में वर्तमान में 404 मतदान केंद्र है जिसमें 16 नए मतदान केंद्र बनाने सहित एक मतदान केंद्र को समायोजित किया गया है जिससे बादशाहपुर विधानसभा में कुल मतदान केंद्रों की संख्या 420 हो जाएगी। इसी प्रकार गुरुग्राम विधानसभा क्षेत्र में 03 नए बूथ बनाए जाने का प्रस्ताव है। गुरुग्राम में अब मतदान केंद्रों की संख्या 348 से बढ़कर 351 हो जाएगी। सोहना विधानसभा क्षेत्र में बढ़े हुए मतदाताओं को 6 मतदान केंद्रों में समायोजित किया जाएगा। सोहना विधानसभा में अभी कोई नया बूथ नही बनाया गया है। यहाँ पहले की तरह कुल बूथों की संख्या 239 ही रहेगी। इस प्रकार से गुरुग्राम जिला की चारों विधानसभा में 21 नए बूथ बनाने व 7 बूथों को समायोजित करने के उपरांत अब गुरुग्राम जिला में मतदान केंद्रों की संख्या 1257 हो जाएगी।

-राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि गुरुग्रामवासियों को वोटर कार्ड को आधार से लिंक कराने के लिए करें प्रेरित -एडीसी

एडीसी श्री मीणा ने बैठक में उपस्थित राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों को बताया कि भविष्य में बेहतर चुनावी सेवाओं के लिए जिला में भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार वोटर कार्ड को आधार से लिंक कराने के अभियान चलाया जा रहा है जिसमें आप सभी का सहयोग अपेक्षित है। उन्होंने बताया कि गुरुग्राम जिला में एक अगस्त से सभी 1236 मतदान केंद्रों पर नियुक्त बूथ लेवल अधिकारी (बीएलओ) द्वारा घर घर जाकर आधार नंबर को मतदाता सूची के साथ लिंक कराने का अभियान चलाया जा रहा है। जिसके तहत जिला में कुल 12 लाख 86 हजार 86 मतदाताओं की तुलना में अभी तक कुल 01 लाख 81 हजार 194 मतदाताओं ने अपना आधार वोटर कार्ड लिंक कराया है।

एडीसी श्री मीणा ने कहा कि नई सुविधा के तहत मतदाता अब स्वयं भी अपने मतदाता पहचान-पत्र को आधार नंबर से लिंक कर सकते हैं। जिला में जिस व्यक्ति का नाम मतदाता सूची में दर्ज है, वह ऑनलाइन माध्यम से फार्म संख्या छह बी भरकर अपना आधार नंबर अपने फोटोयुक्त पहचान पत्र के साथ लिंक करा सकते हैं।

श्री मीणा ने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों को आश्वस्त करते हुए कहा कि मतदाता पहचान पत्र को आधार से लिंक करने के उपरान्त भी मतदाता का आधार डेटा पूर्णतः सुरक्षित रहेगा। ऐसे में आप सभी अपने अपने क्षेत्र में मतदाताओं को जागरूक करने का कार्य करें ताकि भविष्य के लिए त्रुटिरहित मतदाता सूची तैयार की जा सके। उन्होंने कहा कि आधार कार्ड लिंक होने के कई फ़ायदे होंगे। एक तरफ़ जहां डुप्लीकेट वोट नहीं बनाए जा सकेंगे, वहीं दूसरी ओर सूची त्रुटि रहित बनेगी। इस दौरान बैठक में उपस्थित सभी लोगों को मतदाता पहचान पत्र को आधार से लिंक कराने से संबंधित वीडियो भी दिखाई गयी।

बैठक में गुरुग्राम के एसडीएम रविंद्र यादव, पटौदी के एसडीएम प्रदीप कुमार, सोहना के एसडीएम जितेंद्र गर्ग, बादशाहपुर के एसडीएम सतीश यादव सहित विभिन्न राजैनतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: