झारखंड में 19 साल की युवती को जिंदा जला दिया

Font Size

 रांची : झारखंड के दुमका में मंगलवार को शाहरुख नाम के एक युवक ने एकतरफा प्यार में असफल होने पर 12वीं कक्षा में पढ़ने वाली 19 साल की युवती को जिंदा जला दिया जिससे उसकी मौत हो गई. घटना के बाद इलाके में स्थिति तनावपूर्ण होने के बाद प्रशासन ने वहां धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगा दी है. पुलिस ने आरोपी युवक शाहरुख को गिरफ्तार कर मंगलवार को ही न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था.

दुमका के पुलिस अधीक्षक अंबर लकड़ा ने ‘बताया है कि घटना में 90 फीसदी झुलस गई युवती को इलाज के लिए रांची स्थित रिम्स में भर्ती कराया गया था, जहां रविवार तड़के ढाई बजे उसकी मौत हो गई.उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद युवती अंकिता का शव दुमका लाया जाएगा. उन्होंने बताया कि युवती के जेरुवाडीह मोहल्ले स्थित घर पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं.

दुमका के एसडीओ महेश्वर महतो ने बताया कि युवती के मरने की सूचना दुमका पहुंचने पर वहां स्थिति तनावपूर्ण हो गई, वहां दोषी को फांसी देने की मांग को लेकर विश्व हिंदू परिषद (विहिप) और बजरंग दल ने जमकर नारेबाजी की और विरोध प्रदर्शन किया. उन्होंने बताया कि विरोध प्रदर्शनों के बाद हालात को ध्यान में रखते हुए दुमका शहर में सीआरपीसी की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है.

इस सिलसिले में गोड्डा से भाजपा सांसद डा निशिकांत दूबे ने ट्वीट किया है, ‘‘काश दुमका की बेटी अंकिता को हम लोग शाहरुख़ जैसे दरिंदे से बचा पाते.” सांसद ने आगे दुमका के पुलिस उपाधीक्षक की भूमिका पर सवाल उठाते हुए लिखा है, ‘‘मुस्लिम पदाधिकारी नूर मुस्तफ़ा का अपराधी का साथ देना देश के लिए घातक. संथाल परगना अपनी बेटी की हत्या के बाद उद्वेलित है.”

पुलिस ने बताया कि शाहरुख पिछले कुछ समय से अंकिता को परेशान कर रहा था और जब वह प्रेम संबंध रखने को राजी नहीं हुई तो आरोपी ने धमकी दी थी, ‘‘अगर मेरा कहा नहीं मानेगी तो तुम्हें मार डालूँगा.” पुलिस ने आरोपी युवक शाहरुख को गिरफ्तार कर मंगलवार को ही न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था.

बताया जा रहा है कि अंकिता सिंह ने शाहरुख नाम के लड़के से दोस्ती से इनकार कर दिया था. अंकिता ने मौत से पहले बयान दिया था, जिसमें वह कहती दिख रही हैं कि मैं रूम में अकेली सो रही थी, कि सुबह 4 बजे के करीब वह खिड़की से पेट्रोल फेंककर आग जलाकर भाग गया. शाहरुख के साथ छोटू भी था, मैंने खिड़की में से देखा था. उन्होंने बताया कि मुंह छोड़कर पूरा शरीर जल चुका है. अंकिता ने आखिर में कहा कि उसकी वजह से हम मर रहे हैं, उसके साथ भी ऐसा ही होना चाहिए. उसे कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए.

दूसरी तरफ झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने अंकिता के निधन पर श्रद्धांजलि दी है. इसके अलावा उन्होंने 10 लाख रुपये के मुआवजे का एलान किया है.इसके अलावा सीएम ने कहा है कि DGP को भी इस मामले में रिपोर्ट देने के लिए कहा हगया है. सीएम ने एक ट्वीट में कहा- “अंकिता बिटिया को भावभीनी श्रद्धांजलि. अंकिता के परिजनों को रु 10 लाख की सहायता राशि के साथ इस घृणित घटना का फ़ास्ट ट्रैक से निष्पादन हेतु निर्देश दिया है.

%d bloggers like this: