उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने गुरुग्राम के सिविल डिफेंस कर्मियों से किया सीधा संवाद

Font Size

-मॉनसून में जिला प्रशासन की टीम की मदद करने शहर में उतरेंगे सिविल डिफेंस कर्मी

– ट्रैफिक व्यवस्था सुचारू करने में निभायेंगे सक्रीय भूमिका 

– समाज सेवा की भावना को बल देने के लिए तैयार किया जाएगा एक्टिविटी कैलेंडर

-हर 15 दिन में होगी जनसेवा संबंधी एक्टिविटी : डीसी 

गुरुग्राम 2 जुलाई। गुरुग्राम के उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने आज सिविल डिफेंस कर्मियों की टीम से सीधा संवाद करते हुए उन्हें मॉनसून में जलभराव की स्थिति से निपटने मैं जिला प्रशासन का सहयोग करते हुए आमजन की समर्पण भाव व तत्परता से मदद करने के लिए प्रेरित किया।

वे आज सेक्टर 38 स्थित ताऊ देवी लाल स्टेडियम में सिविल डिफेंस के वालंटियरो को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान सिविल डिफेंस के लगभग 200 से 250 वॉलिंटियरो ने भाग लिया । उपायुक्त ने कहा कि मॉनसून शुरू होने को है ऐसे में सिविल डिफेंस की टीम जलभराव वाले क्रिटिकल क्षेत्रों में जाकर लोगों की मदद करें। इसके साथ ही जिला प्रशासन द्वारा यातायात सुचारू करने या जल निकासी को लेकर अलग-अलग क्षेत्रों में लगाई गई टीम का भी सहयोग करें।

उन्होंने सिविल डिफेंस के कर्मचारियों को बरसात होने पर जन सेवा व समर्पण भाव से कार्य करने के लिए प्रेरित किया और कहा कि बरसात होने पर जिन जिन क्षेत्रों में सिविल डिफेंस कर्मियों की ड्यूटी लगाई जाए, पूरी निष्ठा से लोगों की मदद करें ताकि गुरुग्राम की सिविल डिफेंस की टीम की हरियाणा में ही नहीं बल्कि देश में अलग पहचान बने। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी वे सिविल डिफेंस की टीम के साथ रूबरू होते रहेंगे ताकि आपस में तालमेल स्थापित करते हुए प्रभावी ढंग से काम किया जा सके।

उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने गुरुग्राम के सिविल डिफेंस कर्मियों से किया सीधा संवाद 2उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि सिविल डिफेंस की टीम समाज सेवा के कार्य को लेकर अपना एक्टिविटी कैलेंडर तैयार करें जिसमें वह प्रत्येक 15 दिन में समाज सेवा संबंधी गतिविधियों जैसे स्वच्छता, रक्तदान या पौधारोपण आदि में भाग ले। उन्होंने कहा कि सिविल डिफेंस की टीम को मजबूत करने के लिए अन्य लोगों को भी इसमें शामिल करते हुए इस टीम का हिस्सा बनने के लिए प्रेरित करें ताकि समय के साथ-साथ इसके वॉलिंटियरो की संख्या बढ़ती रहे। सिविल डिफेंस की टीम को मजबूत करने के अलग-अलग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

उन्होंने सिविल डिफेंस की टीम के लिए समय-समय पर अलग-अलग तरह की आपदा जैसे आगजनी , जलभराव, भूकंप आदि से निपटने को लेकर प्रशिक्षण करवाने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि समाज में किसी भी प्रकार की आपदा हो या अन्य गतिविधियां उसमें आमजन का सहयोग अत्यंत आवश्यक है। समाज में प्रत्येक व्यक्ति को इस बारे में अपने उत्तरदायित्व समझने की जरूरत है कोई भी जनहित का काम केवल सरकारी अधिकारी की जिम्मेदारी तक सीमित नहीं रहना चाहिए।

उन्होंने इस अवसर पर सिविल डिफेंस कर्मियों को उनके उत्तरदायित्वो का बोध कराते हुए आपदा प्रबंधन में अपना महत्वपूर्ण सहयोग देने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा हालांकि सिविल डिफेंस की टीम गुरुग्राम में अपेक्षाकृत अधिक सक्रिय है और अच्छा काम करती है। सिविल डिफेंस की गुरुग्राम में इतनी बड़ी टीम यह दर्शाती है कि लोग स्वेच्छा से समाज सेवा करते हुए जनहित के कार्यों में आगे आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि गुरुग्राम के सिविल डिफेंस की टीम की अपनी अलग पहचान है जिसने कोविड-19 दिन-रात समर्पण भाव से कार्य किया। हमें इस पहचान को भविष्य में और अधिक मजबूत करना है।

इस अवसर पर उपायुक्त के साथ अतिरिक्त उपायुक्त विश्राम कुमार मीणा सहित सिविल डिफेंस के चीफ वार्डन तथा अन्य वॉलिंटियर भी उपस्थित थे।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: