सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल की छात्रा अवनि त्रिपाठी के नाम राष्ट्रीय टेबल टेनिस चैंपियनशिप अंडर-15 का खिताब

Font Size

-सब-जूनियर कैटेगरी टूर्नामेंट में पहला अखिल भारतीय राष्ट्रीय रैंक प्राप्त किया

-दिल्ली की सयानिका माजी को 4-2 से पराजित कर स्वर्ण पदक जीता

-सब-जूनियर नेशनल्स में अवनी ने अंडर-15 यूथ गर्ल्स ट्रॉफी अपने नाम कर लिया

गाज़ियाबाद :  सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल, वसुंधरा, गाजियाबाद की छात्रा अवनि त्रिपाठी ने अंडर-15 सब-जूनियर कैटेगरी टूर्नामेंट में पहला अखिल भारतीय राष्ट्रीय रैंक प्राप्त किया। आयोजन 26 मई से 1 जून, 2022 तक इंदौर में हुआ।

सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल की छात्रा अवनि त्रिपाठी के नाम राष्ट्रीय टेबल टेनिस चैंपियनशिप अंडर-15 का खिताब 2अवनि त्रिपाठी ने धैर्य और लगन के तालमेल से दिल्ली की सयानिका माजी को 4-2 से पराजित कर स्वर्ण पदक जीता। इंदौर के अभय प्रशाल में आयोजित 83वें कैडेट और सब-जूनियर नेशनल्स में अवनी ने अंडर-15 यूथ गर्ल्स ट्रॉफी अपने नाम कर लिया।

कक्षा आठ की छात्रा अवनि त्रिपाठी के यह विशिष्ट ख्याति प्राप्त करने पर उनके स्कूल की डायरेक्टर प्रिंसिपल शालिनी नांबियार और पूरे स्कूल के कर्मचारियों ने हर्षोल्लास से स्वागत और हार्दिक अभिनंदन किया। सुश्री नांबियार ने अवनि की शानदार उपलब्धि पर बधाई दी और ओलंपिक पदक जीतने के अवनी के सपने पूरे करने का प्रोत्साहन दिया।

डायरेक्टर प्रिंसिपल से बात करते हुए अवनि ने राष्ट्रीय स्तर पर अपनी सफलता का श्रेय अपने कोच और बड़ी बहन विदुषी त्रिपाठी को दिया जो खुद टेबल टेनिस की राष्ट्रीय खिलाड़ी है। अवनी के माता-पिता उनकी दोनों बेटियों के अखिल भारतीय स्तर पर असाधारण प्रदर्शन से गौरवान्वित हैं और उनके चेहरे पर खुशी झलकती है।सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल की छात्रा अवनि त्रिपाठी के नाम राष्ट्रीय टेबल टेनिस चैंपियनशिप अंडर-15 का खिताब 3

अवनि के पिता श्री दुर्गादत्त त्रिपाठी ने खुल कर कहा कि माता-पिता को चाहिए कि अपने बच्चों को उनके सपने पूरे करने में मदद दें और उनके सभी प्रयासों में हौसला बढ़ायें।

अवनी की अनुकरणीय उपलब्धि पर सेठ आनंदराम जयपुरिया स्कूल और माता-पिता को गर्व है और सभी उसके सुनहरे भविष्य की मंगलकामना करते हैं।

सेठ आनंदराम जयपुरिया ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस का परिचय :

सेठ आनंदराम जयपुरिया ग्रुप ऑफ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशंस एक प्रमुख शिक्षा समूह है जिसके तहत 16 के-12 स्कूल, 5 प्रीस्कूल, 2 प्रबंधन संस्थान और उत्तर और मध्य भारत का एक प्रमुख शिक्षक प्रशिक्षण अकादमी शामिल है। शिक्षा क्षेत्र में इस समूह की 76 वर्षों की विरासत है और इसके वर्तमान विद्यार्थी 20,000, पूर्व विद्यार्थी 15,000 हैं और शिक्षकों की संख्या 900 है।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: