हॉकी में छोरियों ने रखी लाज : सेमिफाइनल में झारखंड को 3-2 से हराकर एक ओर पदक किया पक्का

Font Size

चंडीगढ़, 9 जून- खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 के अंतर्गत पंचकूला के ताऊ देवीलाल खेल परिसर में हॉकी के लिए बनाया गया न्यू एस्ट्रोटर्फ हरियाणा के लिए लक्की रहा। गुरुवार को हुए हॉकी के दूसरे सेमिफाइनल में लड़कियों ने हरियाणा की लाज रखी और इस कड़े मुकाबले में झारखंड को 3-2 से हराकर फाइनल में पहुंच कर एक ओर पदक पक्का कर लिया।

नए हॉकी स्टेडियम में हुए इस मैच को देखने के लिए दर्शकों में भारी उत्साह था, दूसरे राज्यों के भी खिलाड़ी इस मैच को देखने के लिए दर्शक दीर्घा में उपस्थित थे। मैच की शुरुआत में झारखंड ने पहला गोल किया था और सेकेंड क्वार्टर फाइनल में हरियाणा की साक्षी ने गोल कर मुकाबले को बराबरी पर ला दिया। मैच के आखिरी क्वार्टर में प्रिया ने तीसरा गोल कर हरियाणा को बढ़त दिला दी। उस समय खेल खत्म होने में 5 मिनट 45 सेकंड का समय बचा था। झारखंड ने भरपूर कोशिश की परंतु हरियाणा की धाकड़ छोरियों ने जबरदस्त डिफेंडिंग कर झारखंड की लड़कियों को कामयाब नहीं होने दिया।

इस मैच को देखने के लिए खेल विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ महावीर सिंह, खेल विभाग के निदेशक श्री पंकज नैन व हॉकी फेडरेशन ऑफ इंडिया के अधिकारी विशेष रूप से उपस्थित थे, जिनका मुख्य उद्देश्य भारतीय टीम के लिए लड़कियों को शॉर्ट लिस्ट करना था।

उल्लेखनीय है कि भारतीय महिला हॉकी टीम कप्तान रानी रामपाल शाहबाद की रहने वाली है और शाहबाद को लड़कियों की हॉकी नर्सरी कहा जाता है, जहां से भारतीय टीम में 7-7 खिलाड़ी ओलंपिक जैसे खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व करते आए हैं। प्रदेश के खेल राज्य मंत्री सरदार संदीप सिंह, जो स्वयं ओलंपियन रहे हैं और उनको प्लेंटरी कॉर्नर में ड्रग फ्लीकर के रूप में जाना जाता है, उनके गोल की स्पीड 145 किलोमीटर प्रति घंटे की दर से नापी गई है। ओलंपिक क्वालिफाइंग में किसी भी खिलाड़ी द्वारा सर्वाधिक 5 गोल करने का रिकॉर्ड इनके नाम दर्ज है।

फाइनल में हरियाणा की लड़कियों का मुकाबला उड़ीसा की टीम के साथ इसी स्टेडियम में होगा, जो आज हरियाणा के लिए लक्की साबित हुआ।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: