गुरुग्राम पुलिस व मुख्यमन्त्री उडन दस्ता ने फर्जी काल सेंटर का किया भंडाफोड़, 17 व्यक्ति गिरफ्तार , अमेरिकी लोगों को सहयोग करने के नाम पर करोड़ों की ठगी

Font Size

गुरुग्राम। गुरुग्राम पुलिस व मुख्यमन्त्री उडन दस्ता की टीमों ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए फर्जी कॉल सैन्टर का फन्डाफोङ करके 17 आरोपियों को किया काबू।अमेरिका के लोगों को Technical Support देने के नाम पर धोखाधङी करके करते थे ठगी। 22.5 लाख रुपये, 06 लैपटॉप, 03 डैक्सटॉप व 18 मोबाईल फोन किए बरामद।

मामले की खास बातें :

▪️आज दिनांक 07.03.2022 को गुरुग्राम पुलिस व मुख्यमंत्री उड़नदस्ता की टीम ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए प्लाट नम्बर 309/310, उद्योग विहार, फेस-4, गुरूग्राम से एक फर्जी कॉल सैन्टर का भंडाफोड़ किया। ये लोग अमेरिका के नागरिकों को Popup भेजकर उनके कम्पयुटर सिस्टम को वायरस ग्रस्त (Infected) करते हुए फर्जी मैंसेज भेजने के बाद उन पर दबाव बनाकर Dialler/X-Lite/Text now application द्वारा कॉल करके उनसे 300 से 900 डॉलर ऐंठकर धोखाधडी करते थे।

गुरुग्राम पुलिस व मुख्यमन्त्री उडन दस्ता ने फर्जी काल सेंटर का किया भंडाफोड़, 17 व्यक्ति गिरफ्तार , अमेरिकी लोगों को सहयोग करने के नाम पर करोड़ों की ठगी 2

पुलिस टीम

राजीव यादव ए.सी.पी., गुरुग्राम, इंद्रजीत DSP CM Flying Squad, निरीक्षक सुन्दरपाल, थाना साईबर अपराध, निरीक्षक नरेश कुमार, प्रबन्धक थाना उद्योग विहार, गुरुग्राम।

पुलिस कार्यवाही

इस कॉल सेंटर में काफी लडके व लडकियां लैपटॉप/कम्पयुटर पर Dialer/X-Lite के माध्यम से अग्रेंजी भाषा में लोगों से बातचीत कर रहे थे, जिनसे कॉल सैन्टर चलानें के लिए DOT license, कम्पनी का रजिस्ट्रैशन, Mode of Payment, Source of Customer, Sources of data का रिकार्ड पेश करने बारे कहा तो वो कोई दस्तावेज पेश नही कर पाए। इनसे कॉल में कम्पयूटर पर काम करने वाले युवक/युवतियों से पूछा तो इन्होनें बतलाया कि कॉल सैन्टर के संचालकों द्वारा दिए गए निर्देशों अनुसार अमेरिका के नागरिकों को Popup भेजकर उसके कम्पयुटर सिस्टम वायरस ग्रस्त (Infected) करने के बाद फर्जी मैंसिज भेजते है और उनसे ठगी करके धोखाधडी का काम करते है।

▪️रेङिग टीम द्वारा कॉल सैन्टर से कुल 17 आरोपियों को काबू किया गया जिनमें से निम्नलिखित कॉल सैन्टर के संचालक, मैनेजर व हिस्सेदार हैः-

  1. देव प्रकाश उर्फ मोनू
  2. अनिरुध अग्रवाल उर्फ अन्नी
  3. हर्षद शर्मा उर्फ राहुल शर्मा पुत्र विजय
  4. आशीष आनन्द
  5. गोविन्द सिंह उर्फ रिंकी
  6. अनिस अनथेनी

▪️पुलिस पूछताछ में इन्होंने बतलाया कि उक्त कॉल सैन्टर का मालिक हंसराज यादव निवासी बादशाहपुर, गुरुग्राम है और उपरोक्त सभी 6 आरोपी 50 प्रतिशत के हिस्सेदार है तथा कॉल सेंटर का संचालन करते है।

ठगी का तरीका

▪️पूछताछ में यह भी ज्ञात हुआ कि ये इस कॉल सैन्टर को करीब 4/5 महिने से बिल्डिंग किराए पर लेकर हंसराज के साथ मिलकर पार्टनरशीप में चला रहे है और फर्जी कॉल सैंटर चलाने के लिए इन्होनें करीबन 106 लडकें व 43 लडकियां कस्टमर सर्विस के लिए नौकरी पर रखे हुए है। ये अमेरिका के नागरिकों को Popup भेजकर उसके कम्पयुटर सिस्टम वायरस ग्रस्त (Infected) का फर्जी मैंसिज भेजकर व उनके ऊपर दबाव बनाकर Dialer/X-Lite द्वारा कॉल करके/प्राप्त करके उनसे 300 से 900 डालर के ट्रांक्शजन करके धोखाधडी करते है। कम्पयुटर सिस्टम में इंटाल Dialer/ X-Lite पर विदेशी लोगों की कॉल आती है तथा विदेशी कस्टर इन्हें बताते है कि उनके कम्पयुटर सिस्टम में एक Popup message प्राप्त हुआ है। जिसे खोलने पर कम्पयुटर सिस्टम में वायरस होने की सूचना मिली है। जिस पर ये लोग स्क्रिट के अनुसार वायरस को ठीक करने का आश्वासन देते है तथा कस्टमर को उसे अस्थाई सिक्योरिटी देने के लिए Ultra-Viewer एप्लीकेशन/सोफ्टवेयर इंस्टाल कराते है। फिर कस्टमर के कम्पयुटर सिस्टम की स्क्रीन का एक्सैस शेयर कर लेते है फिर उसे कमाण्ड बॉक्स पर सिस्टम स्केन के लिए प्रोसेस कराते है जिसमें ये स्क्रीट में दी हुई फर्जी कन्टेट FINAL REPORT 1. ILLEGAL VISIT ON PORN WEBSITE, 2. WWW.PORNHUB.NE T (SOURCE CHINA), 3. CLAMPI VIRUS DETECTED, 4. CHILD PORNOGRAPHY DOWNLOADE, 5. FINANCIAL INFORMATION USED ON WWW.PORNHUB.NET, 6. DEBIT AND CREDIT CARDS ARE USED ON WWW.PORNHUB.NET., 7. ILLEGAL PURCHASES WITH CARDS, 8. PHONE LINES AND NETWORKS ARE HACKED इत्यादि REPORT Paste करके उन्हें भेजते हैं। उपरोक्त साईट पर उनकी डिटेल प्रयोग हुई है, जो गैर-कानूनी है। ये कस्टमर को बतलाते है कि बैंकिंग डिटेल बचाने के लिए उन्हें बैंक के टोल फ्री नम्बर कॉल लगाते है आप उनको अपनी उपरोक्त परेशानी बताए वो आपकी मदद करेगें, फिर ये अपने फर्जी कॉल सैंटर में काम करने वाली दूसरी टीम (Closer) को कॉल फारवर्ड कर देते तथा दुसरी टीम कस्टमर बैंक अधिकारी बनकर काल करते है और उससे बैंकिंग डिटेल सेव करने की एवज में उन से Googleplay, Traget, Apple, Nike के गिफ्ट कार्ड खरीदवाकर उन्हें डराकर/गुमराह करके तथा विश्वास में लेकर उनसे गिफ्ट कार्डो के नम्बर पूछ लेते है। फिर उन्हें ये अपने विदेशी जानकार को भेजते है तथा वह इन गिफ्ट कार्ड को Reedem कराकर पैसा कमाते हैं।

▪️पुलिस टीम द्वारा आरोपियों के कब्जा/कॉल सैन्टर से लगभग 22.5 लाख रुपयों की नगदी, 06 लैपटॉप, 03 डैक्सटॉप व 18 मोबाईल फोन बरामद किए है।

▪ आगामी कार्यवाही के लिए आरोपियों को अदालत के सम्मुख पेश किया जाएगा। करके पुलिस हिरासत रिमाण्ड पर लिया जाएगा। अभियोग अनुसंधानाधीन है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: