सेक्टर 4 की आर डब्ल्यू ए और वार्ड 15 की महिला पार्षद के बीच ठनी : पार्षद पर गलतबयानी का लगाया आरोप

Font Size

निगम के सदन को वार्ड 15 के पार्षद ने किया गुमराह : उर्वा सेक्टर 4/7

गुरुग्राम : आज नववर्ष के अवसर पर (उर्वा) अर्बन इस्टेट रेज़िडेंट वेलफ़ेयर एसोसिएशन ( रजि०) सेक्टर 4/7 की अपने कम्यूनिटी सेंटर स्थित कार्यालय में एक मीटिंग सम्पन्न हुई जिसकी अध्यक्षता प्रधान धर्म सागर के द्वारा की गई। इसमें संस्था के पदाधिकारियों व कार्यकारिणी के सदस्यों के अलावा अन्य संस्थाओं के गणमान्य लोगों ने भी हिस्सा लिया गाया। इसमें करोना काल में सभी के स्वस्थ तथा सुरक्षित रहने की प्रार्थना की गई। सेक्टर की प्रमुख समस्याओं तथा उनके निवारण पर भी चर्चा की गई।

उक्त मीटिंग में सर्वसम्मति के साथ निगम के सदन में वार्ड 15 की पार्षद सीमा पाहुजा के द्वारा उर्वा सेक्टर 4/7 के विषय में दिए गए ग़लत वक्तव्य की कड़े शब्दों में निंदा की गई। जिसमें हरियाणा के सबसे पुराने हुडा के सेक्टर की सबसे पुरानी संस्था उर्वा सेक्टर 4/7 को अभी कुछ समय पहले बनाई गई संस्था बताया गया। उर्वा सेक्टर 4/7 लगभग 42 वर्ष पुरानी संस्था है जिसमें लगभग 1700 सदस्य है। जो पहले रेजिस्ट्रॉर व सोसायटी ऐक्ट 1860 में पंजीकृत थी तथा बाद में वर्ष 2013 में एच आर आर एस ऐक्ट 2013 के अंतर्गत पंजीकृत है।इस संस्था पर कभी भी कोई रोक नहीं लगाई गई तथा यह निरंतर सेक्टर 4/7 के विकास के लिए प्रशासन के साथ मिलकर लगातार कार्य करती रही है।

उर्वा सेक्टर 4/7 के अध्यक्ष धर्म सागर ने बताया कि निगम के सदन की मीटिंग में अपनी बात को सही साबित करने के लिए वार्ड 15 की पार्षद सीमा पाहुजा के द्वारा उर्वा के विषय में दिया गया वक्तव्य पूरी तरह से झूठ का पुलिंदा है। उन्होंने सदन में झूठ बोलकर सदन को गुमराह करने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि अपने इस कथन के लिए माफ़ी माँगनी चाहिए तथा अपने मूल कार्य सेक्टर के विकास के प्रति सजग होना चाहिए क्यूँकि हमारे सेक्टरो के हालत बद से बदतर हो रहे है जो पहले कभी नहीं थे।

संस्था के महासचिव प्रमोद शर्मा ने कहा कि हरियाणा के सबसे पुराने सेक्टर की सबसे पुरानी इस संस्था का 40 वर्षों से अधिक का गौरवपूर्ण इतिहास है। इसके द्वारा पूर्व में किए गए अनेको कार्यों के कारण यह संस्था हमेशा एक उदाहरण के रूप में रही है।

आज भी पूरे गुरुग्राम में उर्वा सेक्टर 4/7 अपने सक्रिय व सार्थक भूमिका के लिए जानी जाती है। इस तरह से संस्था के विषय में ग़लत तथ्य देना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। यह ना केवल संस्था के सदस्यों का बल्कि सेक्टर 4 7 के सभी लोगों का भी अपमान है। किसी के कहने मात्र से उर्वा की गरिमा पर कोई आँच नहीं आयेगी। उर्वा सेक्टर के विकास कार्यों में पूरी ईमानदारी के साथ अपनी भागीदारी निभायेगी।

पार्षद के इस ग़लतबयानी को लेकर सेक्टर की अन्य संस्थाओं ने भी इस पर एतराज़ जताया है तथा इसकी निंदा की है। इस विषय पर लोगों में भी ख़ासी नाराज़गी है। लोगों का कहना है कि सेक्टर 4 व 7 की सड़कों, पार्कों, सीवर, सफ़ाई जलभराव की समस्याओं को लेकर प्रशासन पर दबाव बनाने के कारण उर्वा को बदनाम करने प्रयास किया जा रहा है परंतु सेक्टरवासी हक़ीक़त से पूरी तरह वाक़िफ़ है। लोगों का कहना है कि हमारे सेक्टर के इतने बुरे हालात इतने वर्षों में कभी नहीं हुए है।

इस अवसर पर धर्म सागर, प्रमोद शर्मा, एस के मानक, आर बी सिंगला, मनोज भारद्वाज, आर के शर्मा, धीरज सेठी, एस के शर्मा, विजय अग्रवाल, वी एस चौधरी, आर ऐ मित्तल, राम लाल ग्रोवर, आर ड़ी बंसल, पी सी भगत मौजूद रहे।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: