टीकाकरण कराने वाले व्यक्तियों की संख्या टीका लगवाने योग्य आबादी से अधिक हुई

84 / 100
Font Size

टीकाकरण

टीकाकरणनई दिल्ली :   देश में पूर्ण रूप से टीकाकरण कराने वाले व्यक्तियों की संख्या पहली बार आंशिक रूप से टीका लगवाने योग्य आबादी की संख्या को पार कर चुकी है। यह उपलब्धि माननीय प्रधानमंत्री के ‘जन-भागीदारी’ और ‘संपूर्ण सरकारी दृष्टिकोण’, सरकार के प्रति लोगों का विश्वास एवं उनका भरोसा तथा वर्तमान में जारी ‘हर घर दस्तक’ अभियान के कारण संभव हो पाई है। इस अभियान को देश के विभिन्न हिस्सों के लोगों से जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ मनसुख मंडाविया ने आज यह जानकारी दी।

देश के लिए राष्ट्रव्यापी टीकाकरण कवरेज की एक महत्वपूर्ण उपलब्धि में पहली बार दोनों टीके लगवाने वाले व्यक्तियों की संख्या उन लोगों से अधिक हो गई है, जिन्हें केवल टीके की एक खुराक दी गई है। पिछले 24 घंटों में 67,82,042 वैक्सीन खुराक लगाने के साथ ही देश ने आज सुबह 7 बजे तक की अंतिम रिपोर्ट के अनुसार कुल 113.68 करोड़ (1,13,68,79,685) टीके देशवासियों को लगा दिए हैं। यह सफलता 1,16,73,459 सत्रों के माध्यम से प्राप्त की गई है। जिसमें से 75,57,24,081 टीके पहली खुराक के रूप में और 38,11,55,604 टीके दूसरी खुराक के रूप में लगाए गए हैं। इस प्रकार, पूरी तरह से टीकाकरण कराने वाले व्यक्तियों (38,11,55,604) की संख्या उन लोगों से अधिक है जिन्हें केवल एक खुराक (37,45,68,477) दी गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने इस उपलब्धि पर देश की सामूहिक भावना को बधाई दी। उन्होंने एक ट्वीट सन्देश में सभी पात्र नागरिकों से जल्द ही टीकाकरण कराने की अपील की। उन्होंने कहा कि हम मिलकर कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में जीतेंगे।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि महीने भर चलने वाले ‘हर घर दस्तक’ अभियान के अंत तक देश हर भारतीय का टीकाकरण करने का लक्ष्य हासिल कर लेगा। टीकाकरण के माध्यम से प्रत्येक नागरिक को कोविड-19 से बचाने के लिए भारत सरकार की दृढ़ राजनीतिक प्रतिबद्धता ने 16 जनवरी 2021 को अपनी शुरुआत के बाद से राष्ट्रव्यापी कोविड-19 टीकाकरण अभियान में कई महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं। डॉ मंडाविया ने कहा कि राष्ट्र ने 21 अक्टूबर 2021 को देशवासियों को 100 करोड़ खुराक देने का गौरव प्राप्त किया था। इसके पश्चात, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने एक स्पष्ट आह्वान किया और 3 नवंबर 2021 को हर घर दस्तक देने तथा हर घर तक पहुंचने और प्रत्येक नागरिक को अंत्योदय की भावना से जोड़कर कोविड-19 के खिलाफ प्रतिरक्षित करने के लिए ‘हर घर दस्तक’ अभियान की शुरुआत की थी।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा, महीने भर चलने वाले ‘हर घर दस्तक’ टीकाकरण अभियान का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि सभी वयस्क आबादी को कोविड वैक्सीन की पहली खुराक दे दी जाए, जबकि पहला टीका लगवा चुके लोगों को दूसरी खुराक लेने के लिए प्रेरित किया जाए। स्वास्थ्य कार्यकर्ता पूरे देश में पात्र लोगों का घर-घर जाकर टीकाकरण कर रहे हैं, जिसमें से खासतौर पर उन जिलों में विशेष ध्यान दिया जा रहा है, जहां टीका लगवाने योग्य आबादी का 50 प्रतिशत से कम टीकाकरण किया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने यह भी आश्वासन दिया कि देश में कोविडरोधी टीकों की कोई कमी नहीं हो रही है। डॉ मंडाविया ने लोगों से दूसरी खुराक के लिए आगे आने और अपने परिवार तथा समुदाय के लोगों को दोनों टीके लगवाने को प्रेरित करने का आग्रह किया।

Table of Contents

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page