केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह गोवा में 10 दिसंबर को करेंगे इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल का उद्घाटन

8 / 100
Font Size

नई दिल्ली :   केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार); राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पृथ्वी विज्ञान; राज्य मंत्री प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष, डॉ जितेंद्र सिंह 10 से 13 दिसंबर, 2021 तक पणजी, गोवा में भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान उत्सव, (आईआईएसएफ) के सातवें संस्करण का उद्घाटन करेंगे।

डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा, आईआईएसएफ 2021 का विषय ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ है। इसे एक समृद्ध भारत के लिए रचनात्मकता, विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार के जश्न के रूप में मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा, इस वर्ष इसी थीम पर आधारित इस मेगा इवेंट में बारह कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

 

डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि आईआईएसएफ की श्रृंखला भारत में सतत विकास और नए तकनीकी नवाचारों के लिए वैज्ञानिक दृष्टिकोण के स्पेक्ट्रम को विकसित करने और व्यापक बनाने में भारत के दीर्घकालिक दृष्टिकोण का एक अभिन्न अंग है। उन्होंने कहा, इसका उद्देश्य विज्ञान और प्रौद्योगिकी की उन्नति के माध्यम से ग्रामीण भारत के लिए एक रणनीति बनाना भी है।

मंत्री ने बताया कि आईआईएसएफ ज्ञान और विचारों के आदान-प्रदान के लिए भारत भर के युवा छात्रों, वैज्ञानिकों और प्रौद्योगिकीविदों को एक मंच प्रदान करेगा। इसके साथ-साथ यह पिछले सात वर्षों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू किए गए ‘स्वच्छ भारत अभियान’, स्वस्थ भारत अभियान, ‘मेक इन इंडिया’, ‘डिजिटल इंडिया’, ‘स्मार्ट विलेज’, ‘स्मार्ट सिटीज’, ‘नमामि गंगे’, ‘उन्नत भारत अभियान’ आदि प्रमुख कार्यक्रमों का भी समर्थन करेगा।  उन्होंने कहा, विज्ञान महोत्सव का मुख्य उद्देश्य लोगों द्वारा नवाचारों का उपयोग करना और ऐसी तकनीक विकसित करना है जो जनता के लिए सस्ती हो।

डॉ जितेंद्र सिंह ने कहा कि इस वर्ष भारत आजादी के 75वें वर्ष को आजादी का अमृत महोत्सव के रूप में मना रहा है और प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने इसे मनाने के लिए पांच स्तंभों के विचार दिए हैं, जो आईआईएसएफ 2021 में विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से परिलक्षित होंगे।

इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय, पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय और विज्ञानभारती का एक संयुक्त कार्यक्रम है, जो भारत का एक स्वदेशी आंदोलन है। आईआईएसएफ का पहला कार्यक्रम वर्ष 2015 में आयोजित किया गया था और इस वार्षिक कार्यक्रम का छठा संस्करण वर्ष 2020 में आयोजित किया गया था। आईआईएसएफ का मुख्य उद्देश्य भारत और दुनिया भर में लोगों के साथ विज्ञान का जश्न मनाना है।

इन चार दिनों के दौरान किए जाने वाले कार्यक्रमों में साइंस फिल्म फेस्टिवल, साइंस लिटरेचर फेस्टिवल, इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स फेस्टिवल, साइंस विलेज फेस्टिवल, ट्रेडिशनल क्राफ्ट्स एंड आर्टिसन फेस्टिवल, गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स, फेस्टिवल ऑफ गेम्स एंड टॉयज, ग्लोबल इंडियन साइंटिस्ट्स और टेक्नोक्रेट्स मीट, इको-फेस्टिवल, न्यू एज टेक्नोलॉजी शो और नेशनल सोशल ऑर्गेनाइजेशन एंड इंस्टीट्यूशंस मीट शामिल होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page