कल मुंबई में हाइड्रोजन बम फटेगा ? महाराष्ट्र सरकार के केबिनेट मंत्री नवाब मलिक का दावा

Font Size

नई दिल्ली : महाराष्ट्र सरकार के केबिनेट मंत्री नवाब मलिक और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस एक दूसरे पर वाक बम फेंकने लगे हैं. आज देवेन्द्र फडणवीस ने नवाब मलिक पर बम फेंका तो कल नवाब मलिक हाइड्रोजन बम फोड़ेंगे. आज मलिक ने अपने ऊपर लगे आरोपों के साथ अंडरवर्ल्ड के संबंधों के आरोपों का मुकाबला किया और कहा कि वे कल देवेन्द्र फडणवीस के कथित अंडर वर्ल्ड के कनेक्शन का खुलासा करेंगे कि उन्होंने कैसे मुख्यमंत्री रहते हुए अंडर वर्ल्ड के साथ मिलकर पूरे शहर को बंधक बनाये हुए थे.

राकांपा नेता ने मंगलवार को फडणवीस पर अंडरवर्ल्ड से संबंध रखने का आरोप लगाया, जिसका वह खुलासा करेंगे। उन्होंने कहा कि बुधवार को वे एक “हाइड्रोजन बम” गिराएंगे । उनका कहना था कि “मैं देवेंद्र फडणवीस के संबंध में कल हाइड्रोजन बम गिराऊंगा। मैं देवेंद्र फडणवीस के अंडरवर्ल्ड लिंक का पर्दाफाश करूंगा . ”।

मलिक ने अपने ऊपर लगे आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि भाजपा नेता उनकी छवि खराब करने की कोशिश कर रहे हैं। मलिक ने कहा कि देवेंद्र फडणवीस मुझे विस्फोट के दोषियों और अंडरवर्ल्ड से जोड़कर मेरी छवि खराब करने की कोशिश की है । उल्लेखनीय है कि केबिनेट मंत्री नवाब मलिक का यह बयान तब आया जब देवेंद्र फडणवीस ने दावा किया कि 1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट के दोषियों और अंडरवर्ल्ड से उनके करीबी संबंध हैं।

“नवाब मलिक का अंडरवर्ल्ड के लोगों, 1993 के मुंबई बम धमाकों के मामले में दोषी ठहराए गए लोगों के साथ व्यवहार है। उसने मामले के दोषियों से बाजार भाव से कम कीमत पर जमीन खरीदी। क्या यह सौदा टाडा कानून के तहत प्रमुख भूमि को ज़ब्त होने से बचाने के लिए किया गया था ?” पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने मुंबई में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए आज ये बाते कही ।

फडणवीस ने आरोप लगाया कि नवाब मलिक के बेटे ने 2005 में एलबीएस रोड पर मुंबई बम विस्फोट के एक आरोपी से जमीन खरीदी थी। नवाब मलिक के बेटे और डी-गैंग के सदस्य के बीच एक कथित भूमि सौदे का विवरण उजागर करते हुए, फडणवीस ने दावा किया कि सरदार शाह वली खान और सलीम पटेल ने एक जमीन बेची थी।

उन्होंने दावा किया, “यह कंपनी नवाब मलिक के परिवार की है। नवाब मलिक सॉलिडस का हिस्सा थे।” फडणवीस ने यह भी दावा किया कि उनके पास इस तरह के पांच संपत्ति सौदों के दस्तावेज हैं और वह उन्हें उपयुक्त अधिकारियों को सौंप देंगे। वह राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के सुप्रीमो शरद पवार को भी यह बताने के लिए दस्तावेज  देंगे कि उनकी पार्टी के नेता क्या कर रहे हैं।

You cannot copy content of this page

%d bloggers like this: