भाजपा सांसद मनोज तिवारी प्रदर्शन के दौरान घायल हो गए

7 / 100
Font Size

नई दिल्ली : दिल्ली में भाजपा के सांसद मनोज तिवारी एक प्रदर्शन के दौरान घायल हो गए . उन्हें दिल्ली पुलिस इलाज के लिए सफदरजंग अस्पताल लेकर पहुंची. उन्हें अस्पताल के इमरजेंसी में भर्ती कराया गया, जहां उनका इलाज चल रहा है। प्रदर्शन में दिल्ली प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता भी शामिल हुए थे. खबर है कि उनके कान में गंभीर चोट लगी है। इस घटना में भाजपा के महामंत्री दिनेश प्रताप , पूर्वांचल मोर्चा अध्यक्ष  कौशल मिश्र एवं अन्य कार्यकर्ता भी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं.

 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की ओर से छठ पूजा घर में ही मनाने की अपील करने कम बाद से ही भाजपा ने उनके इस फरमान के खिलाफ जंग छेड़ी दी है. भाजपा सांसद मनोज तिवारी आज मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के घर के बाहर धरना दे रहे थे. प्रदर्शन के दौरान ही बेरीकेट से गिरने के कारण वह घायल हो गए.

 

उल्लेखनीय है कि दिल्ली सरकार ने इस बार भी कोरोना से बचाव के मद्दे नजर नदी किनारे और सार्वजनिक स्थानों पर छठ पर्व मनाने पर प्रतिबंध लगा दिया है. इस आदेश के खिलाफ उत्तर-पूर्वी दिल्ली लोकसभा सीट से भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने दिल्ली भाजपा नेताओं और सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ आज   मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के पास प्रदर्शन किया और धरना दिया।

सुरक्षा के लिहाज से दिल्ली पुलिस ने मुख्यमंत्री आवास के पास बैरिकेडिंग कर दी थी. लेकिन भाजपा सांसद और कार्यकर्ता सीएम आवास तक पहुँचने के लिए बेरीकेट पर चढ़ गए थे.

वहां मौउजूद पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब पुलिस की ओर से  प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया तो सभी भागने लगे । इस अफरातफरी में सांसद मनोज तिवारी जिस बैरिकेड पर चढ़े थे, उससे गिर गये और घायल हो गए। उन्हें सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया।

मनोज तिवारी ने छठ पूजा समारोह पर प्रतिबंध हटाने कि मांग की थी. प्रतिबंध नहीं हटाने पर उन्होंने विरोध प्रदर्शन करने का ऐलान किया था । तिवारी ने कहा है कि शहर में छठ पूजा पर रोक लगाकर केजरीवाल ने लाखों पूर्वांचलियों का अपमान किया है। उन्होंने कहा है कि अगर रोक नहीं हटाई गई, तो वह पूर्वांचलियों के साथ मिलकर बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page