श्री दुर्गा रामलीला का हुआ भूमि पूजन, रामलीला 4 अक्टूबर से शुरू

50 / 100
Font Size

-भूमि पूजन के साथ किया गया गणेश विसर्जन
-बिना वैक्सीनेशन के कलाकारों, सदस्यों का प्रवेश वर्जित

गुरुग्राम। श्री दुर्गा रामलीला कमेटी की ओर से रविवार को रामलीला का भूमि पूजन जैकबपुरा स्थित रामलीला स्थल पर किया गया। इस दौरान गणेश जी की पूजा करके उनकी प्रतिमा का विसर्जन भी किया गया। इसी के साथ ही रामलीला का मंच बनाने का भी काम शुरू हो गया। रामलीला में भाग लेने वाले कमेटी के सदस्यों व कलाकारों को सख्त हिदायत दे दी गई है कि बिना वैक्सीन लगवाए वे इस आयोजन में शामिल नहीं हो सकते।


श्री दुर्गा रामलीला के चेयरमैन एवं मुख्य निर्देशक बनवारी लाल सैनी तथा प्रधान कपिल सलूजा (लवली) ने बताया कि भूमि पूजन के साथ ही रामलीला की तैयारियां शुरू हो गई हैं। आगामी 4 अक्टूबर से रामलीला का मंचन शुरू होगा। जैसे-जैसे रामलीला की यह तारीख निकट आएगी, वैसे-वैसे तैयारियां पूरी कर दी जाएंगी। उन्होंने कहा कि इस बार भी कोरोना की चुनौतियों के बीच रामलीला मंचित होगी। इस लिए सभी कलाकारों और कमेटी के सदस्यों को कोरोना रोधी वैक्सीन लगवाकर आना जरूरी कर दिया गया है, ताकि इस महामारी से किसी को नुकसान ना हो।

रामलीला कमेटी के निर्देशक अशोक सौदा व गोपाल जलिंद्रा, रामलीला के महासचिव अशोक प्रजापति ने बताया कि एक तरफ तो कलाकार दिन-रात हुनरमंद बनकर राम लीला का मंचन करने के कड़ा अभ्यास कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ प्रबंधन समिति भी तैयारियों में जुटी है। इस दौरान रामलीला के सभी कलाकार व सदस्य मौजूद रहे। रामलीला कमेटी के निर्देशक तेजिंदर सैनी रामलीला के मीडिया प्रभारी राज सैनी बिसरवाल ने बताया कि एक तरफ तो कलाकार दिन-रात हुनरमंद बनकर राम लीला का मंचन करने के कड़ा अभ्यास कर रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ प्रबंधन समिति भी तैयारियों में जुटी है।

रामलीला की मैनेजमेंट कमेटी ने निर्देशकों को जल्द से जल्द नए कलाकार व पुराने कलाकारों को तैयार करने को कहा है। इसी के साथ उन्होंने कहा कलाकार चयन कमेटी दिनांक 25 सितम्बर को सेमीफाइनल रिहर्सल लेगी। सभी कलाकार को वैक्सीन लगना अनिवार्य है। इस दौरान देवेंदर जैन, रमेश कालड़ा, विकास गुप्ता, महा सचिव अशोक प्रजापत, कौशाध्यक्ष प्रदीप गुप्ता, रजनीश पाहुजा, मनोज तवर, जे. बी. गुप्ता, मनीष वर्मा, संजय माचिवाल व सभी कलाकार मौजूद रहे…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page