संसद सत्र में किसानों की आवाज को बुलंद तरीके से उठायेगें : डा सुशील गुप्ता

7 / 100
Font Size
– आम आदमी पार्टी के सांसद बोले. 7 महीने बीतने पर भी मोदी जी ने फोन नंबर किसानों को नहीं दिया, बात किस पर करें
-खोरी गांव के 1 लाख लोगों के बेघर होनेे तथा उनके पुर्नवास मुददे को भी संदद मे रखेंगे
-बेरोजगारी महंगाई और पेट्रोल व डीजल के बढ़ते दाम पर सरकार रही विफल
——————————
गुरुग्राम 17 जुलाई। संसद पटल पर कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में आम आदमी पार्टी के सभी सांसद उनकी बात रखने से पीछे नहीं हटेगें। आप के राज्यसभा सांसद व हरियाणा सहप्रभारी डा सुशील गुप्ता ने कहा है कि तीनों कृषि कानूनों के विरोध में 19 जुलाई से शुरू हो रहे मानसून सत्र में पार्टी के सभी सांसद मौजूद रहेंगे जहां वह किसानों के मुद्दों को प्रमुखता से उठाएंगे। उन्होंने कहा कि आप पहले भी किसानों के साथ थी और आगे भी रहेगी। दूसरा बेरोजगारी महंगाई पेट्रोल डीजल के बढ़ते दाम पर भी पार्टी अपनी बात संसद तक पहुंचाएगी आगामी मानसून सत्र सोमवार 19 जुलाई 2021 से शुरू होने जा रहा है।
डा सुशील गुप्ता ने विरोधी दलों के सभी संसद सदस्यों से अनुरोध करते हुए कहा कि उनको ऐसे नाजुक समय के दौरान किसानों का साथ देना चाहिए। उन्होंने वादा किया कि वह इस संबंध में सभी विरोधी पक्ष के संसद सदस्यों को भी जागरूक करने का प्रयास करेंगे। उन्होंने इस सत्र के दौरान किसानी के साथ संबंधित कई सवाल भी दाखिल किए हुए हैं और लोकसभा के स्पीकर की इजाजत के साथ वह किसानों के सवाल भी उठाएंगे।
डा गुप्ता ने मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह अति दुर्भाग्यपूर्ण है कि देश का किसान अपनी जायज मांगों को मनवाने के लिए भी पिछले करीब एक साल से सड़कों पर है। उनकी बात सरकार सुनने को तैयार तक नहीं है। जबकि मोदी जी कहते है कि वह एक फोन की दूरी पर है। मगर फोन नंबर आज तक नहीं बताया।
इसके अलावा वह फरीदाबाद में खोरी गांव के तोडे जाने से बेघर हुए 1 लाख लोगों के पुर्नवास को लेकर भी संसद में अपनी बात रखेंगें। उन्होंने कहा कि सरकार कहती आई है कि किसी को भी उजाडा नहीं जाएगा। अगर ऐसा होता है तो उनके पुर्नवास की जिम्मेदारी वहां की सरकार की होगी। मगर दिल्ली से सटी हरियाणा सरकार खोरी गांव के लोगों को लगभग उजाड चुकी है। ऐसे में वहां रहने वाले लोगों का का पुर्नवास कौन करेगा, यह बात भी वह संसद के पटल में उठायेंगे।
डॉ सारिका वर्मा दक्षिण हरियाणा प्रवक्ता ने कहा कि आम आदमी पार्टी शुरू से ही किसानों की आवाज को बुलंद करती आई है और इस संसद सत्र के दौरान भी जोर-शोर से किसानों के मुद्दे उठाएगी।  मुकेश डागर गुड़गांव अध्यक्ष ने कहा कि अन्नदाता की आवाज मोदी सरकार के कानों तक पहुंचाई जाए और इन कृषि कानूनों को रद्द करने की गुहार लगाई जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page