हरियाणा के ओलंपिक पदक विजेता मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिले

43 / 100
Font Size

अंतर्राष्ट्रीय खेलों में पदक विजेता खिलाडिय़ों को खेल विभाग में नौकरी दी जाएगी

चण्डीगढ : हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय खेलों में पदक विजेता खिलाडिय़ों को खेल विभाग में नौकरी दी जाएगी ताकि उनके अनुभवों से नए खिलाडिय़ों को प्रोत्साहन मिल सके। मुख्यमंत्री आज यहां अंतरराष्ट्रीय ओलम्पिक दिवस पर ओलम्पिक  पदक विजेता खिलाडिय़ों से बातचीत कर रहे थे। खेल मंत्री सरदार संदीप सिंह भी इस मौके पर उपस्थित रहे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पदक विजेता खिलाडिय़ों को खेल विभाग में नौकरी लगाए जाने के बाद शिक्षा विभाग के अलावा अन्य विभागों में खेल गतिविधियां बढाने के लिए आवश्यकता अनुसार उन्हें डेपूटेशन पर भेजा जाएगा। उन्होंने कहा कि अच्छा खिलाड़ी कोच बनेगा तो खेलों को प्रमोट किया जा सकेगा और मेडलिस्ट वर्ग से युवा खिलाडिय़ों को भरपूर लाभ मिलेेगा। उन्होंने खिलाडिय़ों को ओलम्पिक दिवस की बधाई देते हुए कहा कि खिलाडिय़ों को जिस विभाग में बेहतर ऑफर मिलें उसमें आगे बढने के लिए शामिल हो जाना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब खिलाड़ी मैट की ओर बढ रहे हैं लेकिन इसमें धन की अधिक आवश्यकता पडऩे लगी है। मैट पर आने के बावजूद खिलाड़ी स्वभाविक खेल की भावना छोड़ें पहलवान का सही अभ्यास अखाड़े की मिट्टी में ही होता है। इसलिए युवाओं को मिट्टी से लगाव रखना चाहिए। मेट से मिट्टी की ओर रहने वाले खिलाड़ी दूसरों के लिए प्रेरणा स्त्रोत बनेंगे। उन्होंने कहा कि खिलाड़ी देश के लिए अधिक मेडल लाने की भावना के साथ खेलें और अपने अभिभावकों के साथ देश प्रदेश का नाम रोशन करें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि खेलों को प्रमोट करने के लिए सरकार ने बेहतरीन पोलिसी बनाई है। इसके तहत खिलाडिय़ों को 3 प्रतिशत रिजर्वेशन के साथ साथ मेडल अनुसार नौकरी प्रदान की जा रही है। इसके अलावा खेल गतिविधियों को बढाने के लिए खेल स्टेडियमों का नवीनीकरण करने के साथ साथ उनमें इन्फ्रास्ट्रक्चर बढाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि खेलो इंडिया से युवा पीढी को आगे बढने के अवसर मिलेंगे

ओलम्पिक दिवस पर पौधरोपण

मुख्यमंत्री ने कहा कि खेल विभाग ने अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक दिवस पर पौधे लगाने का अच्छा निर्णय लिया है। अब तक रोटी, कपड़ा और मकान के अलावा पानी की आवश्यकता पर जोर दिया जाता था, लेकिन कोरोना के दौरान ऑक्सीजन के महत्व बारे पता लगा।

उन्होंने कहा कि पर्यावरण को बचाने के लिए पेड़ लगाने की ओर ध्यान दिया गया है। वन विभाग ने इस साल सघन वन योजना के तहत तीन करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य तय किया है। इसमें ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायती भूमि तथा शहरी क्षेत्रों में सरकारी भूमि पर पेड़ लगाए जाएंगे उन्होंने कहा कि इस वर्ष जितनी जमीन पर पौधे लगेंगे उन्हें ऑक्सीवन के नाम से जाना जाएगा।

टोक्यो ओलम्पिक के लिए 30 खिलाडिय़ों का चयन

इस अवसर पर हरियाणा के खेल मंत्री सरदार संदीप सिंह ने बताया कि आगामी टोक्यो ओलम्पिक खेलों के लिए 30 खिलाडिय़ों का चयन किया गया है। इन खिलाडिय़ों को 5-5 लाख रुपए तैयारी राशि के रूप में उपलब्ध करवाए गए हैं उन्होंने बताया कि ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक हासिल करने पर 6 करोड़ रुपए, रजक पदक विजेता को 4 करोड़ रुपए तथा कांस्य पदक विजेता को 2.50 करोड रुपए की नकद राशि प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक दिवस के अवसर पर हरियाणा के खेल परिसरों में 11 हजार पौधे लगाए जाएंगे जो पर्यावरण के लिए लाभदायक होंगे। उन्होंने बताया कि ओलंपिक दिवस पर चयनित खिलाडिय़ों के परिजनों, राज्य के पूर्व ओलम्पियनों एवं वरिष्ठ खिलाडिय़ों के सम्मान में पौधारोपण भी किया जाएगा। इसके अलावा युवाओं में खेलों के प्रति रुचि जागृत करने के लिए  जिला स्तर पर सेल्फी प्वांईट स्थापित किए गए हैं तथा साईकिल रैलियों का भी आयोजन किया गया है।  

मुख्यमंत्री ने ओलम्पिक दिवस पर मुख्यमंत्री आवास में शहीद हवलदार शिव कुमार के नाम पर पेड़ लगाया। इसके अलावा खेल मंत्री सरदार संदीप सिंह, प्रधान सचिव श्री के सिंह, निदेशक खेल विभाग श्री पंकज नैन ने भी पौधे लगाए। इस मौके पर खेल विभाग के संयुक्त निदेशक धीरज चहल, प्रशिक्षक राजबीर सिंह सहित ओलंपिक पदक विजेता योगेश्वर दत, साक्षी मलिक, दिनेश कुमार, जयभगवान, सरदार सिंह, अखिल कुमार, रमेश गुलिया, ममता सौदा, ममता खर्ब, जोगिन्द्र शर्मा, जितेन्द्र कुमार  भी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page