बेस्टेक पार्क व्यू संस्कृति सेक्टर 92 के टीम वालंटियर्स समाज के लिए बने प्रेरणा स्रोत 

14 / 100
Font Size

बेस्टेक पार्क व्यू आवासीय सोसायटी परिसर में 95 से अधिक लोग हो गए थे कोरोना संक्रमित  

गुरुग्राम : अप्रैल 2021 के मध्य के दौरान जब पूरा देश कोविड महामारी की चपेट में था, बेस्टेक पार्क व्यू संस्कृति ,सेक्टर 92,  गुरुग्राम में रहने वाले परिवार भी इस संक्रमण से पीड़ित हो गए थे। इस निजी आवासीय सोसायटी परिसर में 95 से अधिक लोगों की  कोरोना रिपोर्ट पोजिटिव मिली थी. इनमें से 8-10 व्यक्ति काफी गंभीर अवस्था में भी थे. संक्रमण की रफ़्तार इतनी तेज हो गई थी कि स्थिति दिन-ब-दिन बिगड़ती जा रही थी. इस विषम परिस्थिति से यहाँ के परिवारों को उबारने का परिसर के भीतर के लोगों के एक समूह ने बीड़ा उठाया. इस समूह ने अपनी जान की परवाह किये बिना समाज हित में कदम आगे बढाया और सामूहिक रूप से यहाँ के निवासियों की हर तरह से मदद की. युवाओं में कोरोना को हराने के जज्बे ने इस कैम्पस में टीम वालंटियर्स का गठन करा दिया।

खुद की परवाह किये बिना टीम वालंटियर्स ने सोसाइटी परिसर के परिवारों को मदद करने का उठाया बीड़ा

टीम वालंटियर्स ने प्रारंभ में कोविड संक्रमित व्यक्ति और उनके परिवारों के लिए बुनियादी जरूरतों का खाका तैयार किया और उसके अनुरूप सम्बंधित परिवारों को उसकी आपूर्ति शुरू की. इनमें दवाएं, चिकित्सा आपूर्ति, खाद्य वस्तुएं और अन्य आवश्यक चीजें भी शामिल थीं। स्थिति विषम थी इसलिए टीम के सदस्य, ऑक्सीजन की व्यवस्था करने और खाली सिलेंडरों को भरने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे थे ताकि वे परिसर में जरूरतमंद लोगों की जिंदगी बचा सकें। कहना न होगा कि 40 सदस्यों वाली टीम  ने पूरे समर्पण और निस्वार्थ भाव से कड़ी मेहनत की। उन्हें दिन है रात इस बात की कोई परवाह नहीं थी. सुबह हो या शाम हर क्षण यहाँ रहने वाले परिवारों को इस महामारी से बाहर निकालने को तत्पर रहे. टीम का हर सदस्य समाजहित के प्रति सक्रिय व समर्पित रहा।

टीम के भी कई सदस्य हो गये थे संक्रमित 

हालात बिगड़े तो ऑक्सीजन की व्यवस्था भी की  

हालात यहाँ तक बिगड़ गये कि टीम के कुछ सदस्य भी कोरोना संक्रमित हो गए। टीम के सदस्यों की सेवा भावना उफान पर थी. शायद यही कारण रहा कि परिसर के अधिक से अधिक निवासी स्वयंसेवी सेवा का विस्तार करने में मदद के लिए आगे आए। बाद में सभी सदस्यों के सहयोग से सोसायटी परिसर के अंदर एक मिनी कोविड वार्ड बनाया गया। वार्ड में दवाओं, ऑक्सीजन सिलेंडर, अलग बेड और कोविड के दौरान आवश्यक चिकित्सा उपकरण (जैसे ऑक्सीमीटर, स्टीमर आदि) की व्यवस्था थी। यह व्यवस्था समाज के अंदर और बाहर के रोगियों के लिए भी अत्यधिक मददगार साबित हुआ क्योंकि स्वयंसेवी सदस्य समाज के बाहर के रोगियों को भी अपनी सहायता प्रदान करने लगे थे।

सोसाइटी में कोरोना आइसोलेशन वार्ड भी स्थापित किया

स्वयंसेवी टीम का शानदार कार्य यहीं तक सीमित नहीं रहा, मई के पहले सप्ताह तक टीम ने सोसाइटी के अंदर 24 घंटे नर्सों और डॉक्टरों की उपलब्धता और चालक के साथ-साथ एम्बुलेंस की भी व्यवस्था कर ली। डॉ गुंजन (आईसीएमआर-इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च) और डॉ सुमन सांगवान (मनोवैज्ञानिक) के विशेषज्ञ पैनल के साथ एक जूम कॉल भी 23 मई, 2021 को निवासियों के लिए पूर्व और बाद के कोविड लक्षणों पर चर्चा करने के लिए आयोजित की गई थी ताकि संक्रमितों को इस रोग की सही जानकारी दी जा सके और उपचार के सही तरीके भी बताये जा सकें। टीम वालंटियर्स  ने जो कर दिखाया उसकी संभव है किसी ने कभी कल्पना भी नहीं की होगी कि महामारी से जूझने में सरकार से कहीं अधिक समाज ही काम आता है. बेस्टेक पार्क व्यू संस्कृति ,सेक्टर 92,  गुरुग्राम में इसका स्पष्ट नजारा देखने को मिला.

मुफ्त वॉक-इन टीकाकरण शिविर का भी आयोजन सफलतापूर्वक किया

पार्क व्यू संस्कृति की स्वयंसेवी टीम ने परिसर के अंदर 7 जून को मुफ्त वॉक-इन टीकाकरण शिविर का भी आयोजन सफलतापूर्वक किया. यह जनसेवा का सराहनीय रूप रहा . इस शिविर का आयोजन परिसर के निवासियों, उनके परिवार के सदस्यों, उनके घरेलू सहायक कर्मचारियों, सुरक्षा कर्मचारियों, रखरखाव कर्मचारियों और आसपास रहने वाले निवासियों के रिश्तेदारों और दोस्तों को मुफ्त में टीका लगाने के लिए किया गया था। शिविर में 200 लोगों का टीकाकरण किया गया जिसे सुरक्षा प्रक्रियाओं और कोविड दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सफलतापूर्वक किया गया। टीम ने आसपास के अन्य समाज में भी इसी तरह के शिविर आयोजित करने की संभावना दिखाई ।

इस टीम में अनिल अग्रवाल, संजय ढिल्लों, सलीम जावेद, नीरज चोपड़ा, जयपाल सांगवान, संतोष गोयल, हितेश आर्यन, रवि ढिल्लो, दीपक एस, नितिन शर्मा, विस्मिता शर्मा, संदेश गौतम, डॉ सुमन एस,  अपराजिता पल्लवी, रविंद्र खरब , हेमंत कुमार, रवि भाटिया, महेंद्र यादव सुमित ढल, जगदीश के, नीतीश मिश्रा, दिलशाद सईद, आकाश सक्सेना, एस एस भटनागर, आरती दहिया, मनोज नायर और गौरव चावला सहित दर्जनों सदस्यों ने सक्रीय भूमिका अदा की. इस टीम वालंटियर्स का उदाहरण कोरोना काल में पार्क व्यू संस्कृति के निवासियों के लिए अनुकरणीय तो रहा ही साथ ही न्यू गुड़गांव क्षेत्र में अन्य समाज के लिए भी प्रेरणा स्रोत बनकर उभरा है. यह अनुभव ” एकता में बल है”  इस कहावत को चरितार्थ करने वाला रहा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page