हरीन्द्र धींगड़ा के खिलाफ डीएलऍफ़ ने की जमीन कब्जाने की शिकायत, गुरुग्राम पुलिस जांच में जुटी, जबरन गाड़ियाँ खड़ी कर धमकाने का आरोप

8 / 100
Font Size

बैंक से करोड़ों की कथित धोखाधड़ी के आरोप में दोनों बेटे सहित पुलिस ने किया है गिरफ्तार

ए सी पी क्राइम द्वितीय धरमबीर के नेतृत्व में एस आई टी कर रही है मामले की जाँच

बैंक्वेट हाल के मालिक ने भी कराया है 50 लाख रूपये मांगने के लिए दबाव बनाने की शिकायत

नई दिल्ली : करोङों रुपये के बैंक लोन का कथित गबन करने के मामले में गुरुग्राम पुलिस द्वारा गिरफ्तार आरोपी कथित आर टी आई एक्टिविस्ट हरिन्द्र धींगड़ा व उनके दो बेटों के बारे में पुलिस को जमीन कब्जाने की भी एक शिकायत मिली है. गुरुग्राम पुलिस ने कहा है कि डी.एल.एफ. की बेशकीमती जमीन पर अवैध कब्जा करने व व्यापारियों से व नामी संस्थानों को डर दिखाकर रुपए ऐंठने/ठगने की वारदातों को अन्जाम देने वाले आरोपी हरिन्द्र धींगड़ा के खिलाफ गुरुग्राम पुलिस को लगातार शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। पुलिस को दी शिकायत में धींगड़ा के अपने मकान के पास डी.एल.एफ. की खाली पङी बेशकीमती जमीन पर भी कथित अवैध कब्जा करने का मामला सामने आया है.  

पुलिस के पी आर ओ सुभाष बोकन का कहना है कि अपने आपको आर टी आई एक्टिविस्ट बताने वाले हरिन्द्र ढिंगङा व उसके 02 बेटों को बैंक लोन गबन करने के मामले में गुरुग्राम पुलिस ने गत 10 मई 2021 को गिरफ्तार किया था। पिता हरिंद्र धींगड़ा को न्यायिक हिरासत में है जबकि दोनों बेटे पुलिस हिरासत में हैं.

उल्लेखनीय है कि हरीन्द्र धींगड़ा पर लगे बैंक घोटाले के आरोप की जांच के लिए पुलिस कमिश्नर के के राव ने एक एसआईटी का गठन किया है. इसका नेतृत्व ए सी पी क्राइम द्वितीय धरमबीर कर रहे हैं. मामले में अब तक हरीन्द्र धींगड़ा सहित चार लोगों की गिरफ्तारी हुई है

उनके अनुसार आरोपी हरिन्द्र धींगड़ा व उसके बेते की गिरफ्तारी के बाद गुरुग्राम पुलिस को लगातार इनके द्वारा कानून के विरुद्ध किए गए कार्यों से सम्बन्धित शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। एक दिन पूर्व एक वैन्क्वेट हाल के मालिक ने 50 लाख की मांग करने और 5 लाख रूपये लेने की शिकायत की थी जबकि अब एक और शिकायत डीएलऍफ़ में ही करोड़ों की वेशकीमती प्लाट पर भी अवैध कब्जे की शिकायत मिली है.

श्री बोकन ने बताया कि आरोपी हरिन्द्र ढिंगङा ने अपने मकान के पास डी.एल.एफ. की खाली पङी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने की नियत से तारफेंसिंग कर रखी थी. उसने इस जमीन पर अपनी पुरानी गाङियां खङी कर रखी थी। शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया है कि जब डी.एल.एफ द्वारा हरिन्द्र धींगड़ा को इस जमीन को खाली करने के लिए कहा जाता तो वह उन्हें अपने ऊँची रसूख का हवाला देकर धमकी देता था। इस सम्बन्ध में गुरुग्राम पुलिस को डी.एल.एफ. की ओर से धींगड़ा के खिलाफ शिकायत दी गई है ।

गुरुग्राम पुलिस के पी आर ओ बोकन ने बताया कि डी एल ऍफ़ कंपनी से मिली शिकायत पर गुरुग्राम पुलिस द्वारा जांच की गई. पुलिस जांच में पता चला कि हरिन्द्र धींगड़ा ने अपने मकान के पास डी.एल.एफ. की खाली पङी करोड़ों की बेशकीमती जमीन पर अवैध रूप से कब्जा करने की नियत से कई गाडिया खड़ी की हुई हैं. वहां कड़ी गाड़ियों में (XUV (HR26 DP0111), क्रेटा (HR26EA0111), रैपिड (HR26CP0111), पजेरो (HR26AH2800), कैमरी व ओपेरा) का पुलिस द्वारा ऑथोरिटी से जानकारी ली गई. जाँच में पाया गया कि इनमें से कुछ गाड़िया पुरानी हैं और कुछ गाड़ियां बैंक से लोन लेकर खरीदी गई हैं. इनमें से कुछ वाहनों का लोन भी बकाया है।  बोकन के अनुसार गुरुग्राम पुलिस द्वारा इस सम्बन्ध में गहनता से जांच की जा रही है। इस दौरान जो भी तथ्य सामने आएंगे उनके अनुसार नियमानुसार आगामी कार्रवाई  की जाएगी।

उनका कहना है कि इसी प्रकार से हरिन्द्र धींगड़ा द्वारा एक बैंक्वेट हॉल चलाने वाले व्यक्ति से बैंक्वेट हॉल चलाने के नाम पर 50 लाख रुपए की डिमांड करने व 05 लाख रुपए पहले ऐंठ लेने के सम्बंध में गुरग्राम पुलिस को शिकायत दी गई है. इस सम्बन्ध में आरोपी के खिलाफ थाना सैक्टर 17/178, गुरुग्राम में 11मई 2021 को कानून सम्बन्धित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है जिसकी जांच चल रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page