“अगले दो वर्षों में 15 लाख करोड़ की लागत से सड़क निर्माण का लक्ष्य”

20 / 100
Font Size

नई दिल्ली : केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और सूक्ष्म,लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई )मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि सरकार आधारभूत ढ़ांचे के विकास को भरसक प्राथमिकता दे रही है. उन्होंने कहा कि अगले दो वर्षों में 15 लाख करोड़ रुपये की लागत से सड़क निर्माण का लक्ष्य रखा है। श्री गडकरी ने विश्वास जताया कि सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय चालू वित्त वर्ष में 40 किलोमीटर प्रतिदिन राजमार्ग निर्माण के लक्ष्य को प्राप्त करेगा। उन्होंने कहा कि सरकार सड़क निर्माण क्षेत्र में 100% प्रत्यक्ष विदेशी निवेश( एफडीआई) की अनुमति दे रही है।

मंत्री ने कहा कि भारत में साल 2019-2025 के लिए नेशनल इन्फ्रास्ट्रक्चर पाइपलाइन जैसी परियोजनाएं अपनी तरह की पहली योजना है और सरकार अपने नागरिकों को विश्व स्तर का इन्फ्रास्ट्रक्चर प्रदान करने और उनके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि एनआईपी के तहत कुल 7,300 से अधिक परियोजनाएं कार्यान्वित की जानी हैं। इन परियोजनओं को पूरा करने में वर्ष 2025 तक 111 लाख करोड़ रुपये की लागत आएगी। उन्होंने कहा कि एनआईपी का उद्देश्य परियोजना की तैयारी में सुधार करना है और राजमार्ग, रेलवे, बंदरगाहों, हवाई अड्डों, मोबिलिटी, ऊर्जा और कृषि और ग्रामीण उद्योग जैसे बुनियादी ढांचे में निवेश को आकर्षित करना है।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से भारत-अमेरिका भागीदारी विजन समिट को संबोधित करते हुए श्री नितिन गडकरी ने कहा कि दोनों देशों के द्विपक्षीय संबंधों के नए युग में भारत और अमेरिका के राष्ट्रीय हित पूरे हो रहे हैं। इससे दोनों देशों के प्रशासन के बीच विश्वास बढ़ रहा है जिससे सभी लंबित व्यापार मुद्दों को हल जल्द निकाला जाएगा और जल्द ही बड़े व्यापारिक समझौतों पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और एमएसएमई मंत्री ने अमेरिकी कंपनियों को भारत में बुनियादी ढांचे और एमएसएमई क्षेत्रों में निवेश करने के लिए आमंत्रित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page