स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने पूर्व पीएम डॉ मनमोहन सिंह को दिया करारा जवाब !

58 / 100
Font Size

सुभाष चौधरी

नई दिल्ली :  पूर्व प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह द्वार प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र का जवाब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने सोमवार दिया. उन्होंने कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता द्वारा केंद्र सरकार के COVID-19 प्रबंधन की आलोचना को सिरे से खारिज कर दिया है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि महामारी की दूसरी लहर को कांग्रेस शासित राज्यों द्वारा बढ़ावा दिया गया क्योंकि वे लोगों को टीके लगवाने के बजाय लोगों में टीके के प्रति संदेह बढ़ाने में व्यस्त थे।

डॉ हर्षवर्धन ने पूर्व प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह की ओर से टीकाकरण की संख्या को लेकर उठाए गए सवालों का तीखा जवाब दिया है. उन्होंने कहा कि आपके द्वारा दिए गए तर्क अव्यवहारिक हैं और विश्व  स्तर पर तय मानकों के अनुरूप नहीं हैं ।

उन्होंने तंज कसते हुए कहा है की एक तरफ आप कोरोना से लड़ाई के लिए टीकाकरण को महत्वपूर्ण मानते हैं जबकि दूसरी तरफ आपकी पार्टी के ही बड़े पदों पर बैठे नेता और राज्य सरकारों के मुखिया आपके इस विचार से सहमत नहीं हैं।

उन्होंने इस बात पर आश्चर्य व्यक्त किया कि कांग्रेस पार्टी की ओर से आज तक कोविड-19 की रोकथाम के लिए भारत के वैज्ञानिकों के प्रति एक शब्द भी कृतज्ञता के लिए नहीं कहा गया है जबकि भारतीय वैज्ञानिकों द्वारा तैयार वैक्सीन देश और दुनिया के लिए मददगार साबित हो रही है।

स्वास्थ्य मंत्री ने पूर्व प्रधानमंत्री को उनकी पार्टी के नेताओं और कांग्रेस पार्टी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों द्वारा वैक्सीन के बारे में दिए गए गैर जिम्मेदाराना बयानों की याद दिलाई. उन्होंने कहा कि आपकी पार्टी के नेता और राज्यों में मुख्यमंत्री देशवासियों की जिंदगी से खेलने का काम कर रहे हैं. उनके द्वारा लोगों को भ्रमित और आशंकित करने वाले बयानों ने देश का बहुत नुकसान पहुंचाया है. आपकी पार्टी के नेताओं ने स्वदेशी निर्मित वैक्सीन पर अनर्गल सवाल खड़े किए जिससे उन राज्यों में औसत टीकाकरण का प्रतिशत कम रहा.

उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री को आईना दिखाते हुए यह भी कहां की कुछ कांग्रेसी नेताओं ने स्वदेशी निर्मित वैक्सीन का आम जनता के बीच विरोध किया जबकि चुपके से स्वयं वैक्सीन की डोज ली। इसलिए बेहतर होगा आप अपनी पार्टी के ऐसे नेताओं को व्यक्तिगत तौर पर ही सही अपनी सलाह दें जिससे वह इस प्रकार के जन विरोधी बयान देने से बचें और सरकार को रचनात्मक सहयोग करें।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे डॉ सिंह के पत्र का जवाब देते हुए स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने यह भी कहा कि वरिष्ठ कांग्रेस नेता का पत्र तैयार करने वाले कांग्रेसियों ने आप जैसे व्यक्तित्व के साथ बड़ा अन्याय किया है.

स्वास्थ्य मंत्री ने यह कहते हुए कटाक्ष किया कि जब डॉ मनमोहन सिंह यह स्वीकार करते हैं कि टीकाकरण से COVID-19 की लड़ाई में मदद मिलेगी फिर कुछ कांग्रेस नेताओं द्वारा किए गए “गैर-जिम्मेदार” सार्वजनिक घोषणाओं के परिणामस्वरूप वरिष्ठ नागरिकों का राष्ट्रीय औसत टीकाकरण कवरेज नीचे हो गया. साथ ही कांग्रेस नेताओं की ओर से फैलाई गई अफवाह के कारण कांग्रेस शासित कुछ राज्यों में फ्रंट-लाइन कार्यकर्ता टीके लेने से परहेज करते रहे ।

पूर्व प्रधान मंत्री डॉ सिंह को अपना जवाबी पत्र ट्वीट करते हुए, स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने कहा है कि , “इतिहास डॉ मनमोहन सिंह जी के प्रति दयालु होगा अगर आपके ‘रचनात्मक सहयोग’ और मूल्यवान सलाह और आपके प्रस्ताव पर आपकी ही कांग्रेस पार्टी के नेता  अमल करते !”

उल्लेखनीय है कि डॉ मनमोहन सिंह ने रविवार को प्रधान मंत्री मोदी को कोरोना संकट से निपटने के लिए पांच सुझाव दिए थे , जिसमें टीकाकरण और दवाओं की आपूर्ति को बढ़ावा देना शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: