अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव 2020 का आयोजन 22 से 25 दिसंबर तक : डॉ हर्षवर्धन

Font Size

नई दिल्ली। भारत अंतर्राष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव का 6वां संस्करण (आई.आई.एस.एफ. 2020) 22 से 25 दिसंबर 2020 तक आयोजित किया जाएगा। केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने आज नई दिल्ली में समीक्षा बैठक में इसकी घोषणा की।

कार्यक्रम के प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि, आई.आई.एस.एफ. 2020 इससे पहले आयोजित हुए महोत्सवों की तुलना में इस बार बहुत बड़े स्तर पर लेकिन वर्चुअल माध्यम से आयोजित किया जाएगा। यह नई शुरुआत का परिचायक है। डॉ. हर्षवर्धन ने यह भी कहा कि इस वर्ष, सी.एस.आई.आर अन्य सभी संबंधित मंत्रालयों और विभागों के समर्थन के साथ आई.आई.एस.एफ. 2020 के आयोजन में अग्रणी भूमिका निभाएगा।

उन्होंने कहा कि, विज्ञान को प्रयोगशालाओं से बाहर लाकर युवाओं तथा विद्यार्थियों में विज्ञान के प्रति जज़्बे को बढ़ावा देने के अलावा आई.आई.एस.एफ. 2020 न केवल आत्म निर्भर भारत का निर्माण करेगा बल्कि वैश्विक कल्याण के लिए भारतीय वैज्ञानिकों तथा विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी नवाचारों की भूमिका की भी झलक प्रस्तुत करेगा। उन्होंने कहा कि, यह समय दुनिया के लिए वैश्विक चुनौतियों और लोगों के कल्याण में कार्य करते भारतीय वैज्ञानिकों की भूमिका को देखने का है। केंद्रीय मंत्री ने प्रतिभागियों से विचार-मंथन करने और उन तरीकों तथा साधनों की पहचान करने को कहा जिनके माध्यम से भारत ने कोविड -19 से निपटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

पहला और दूसरा आई.आई.एस.एफ. नई दिल्ली में, तीसरा चेन्नई में, चौथा लखनऊ में और पांचवा आई.आई.एस.एफ. कोलकाता में आयोजित किया गया था। इन सभी महोत्सवों (आई.आई.एस.एफ.) ने भारत से ही नहीं बल्कि विदेश के लोगों से भी अपार सराहना प्राप्त की थी।

आई.आई.एस.एफ. विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी से संबंधित मंत्रालयों और भारत सरकार के विभागों और विज्ञान भारती (विभा) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित एक वार्षिक कार्यक्रम है। आई.आई.एस.एफ. भारत और विदेशों के छात्रों, नवोन्मेषकों, शिल्पकारों, किसानों, वैज्ञानिकों और टेक्नोक्रेट्स के साथ भारत की वैज्ञानिक तथा तकनीकी प्रगति की उपलब्धियों को दुनिया के सामने प्रस्तुत करने का महोत्सव है।

आई.आई.एस.एफ. 2020 में भारतीय और विदेशी युवाओं के साथ-साथ बड़ी संख्या में वैज्ञानिक एवं संस्थानों की भागीदारी की उम्मीद है। आई.आई.एस.एफ. 2020 से पहले और उसके दौरान विभिन्न विषयों पर कई कार्यक्रम आयोजित होने हैं।

इस बैठक में विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव डॉ. आशुतोष शर्मा, सी.एस.आई.आर. के महानिदेशक डॉ. शेखर सी.मंडे, डीबीटी की सचिव डॉ. रेणु स्वरूप, आई.सी.एम.आर. के महानिदेशक डॉ बलराम भार्गव, श्री जयंत सहस्त्रबुद्धे और अन्य उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: