परिवार पहचान पत्र बनाने को लेकर जिला में लगेंगे कैंप, जल्द ही जारी होगा क्षेत्रवार शिड्यूल

57 / 100
Font Size

25 अगस्त से 2 सितंबर तक स्कूलों में भी लगाए जाएंगे कैंप, शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश जारी

गुरूग्राम, 21 अगस्त। गुरूग्राम जिला में जल्द ही परिवार पहचान पत्र बनाने के साथ अपडेट करने का कार्य शुरू किया जा रहा हैए इसके लिए जिला के सरकारी विद्यालयों में कैंप लगाए जाएंगे। ये कैंप 25 अगस्त से लेकर 2 सिंतबर तक लगेंगे। इसे लेकर आज चंडीगढ़ मुख्यालय से सिटीजन रिसोर्स इंफोरमेशन डिपार्टमेंट की सचिव सोफिया दहिया ने संबंधित जिला के अधिकारियों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक की. उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिए। गुरूग्राम जिला से इस वीडियो कान्फ्रेंस में अतिरिक्त उपायुक्त प्रशांत पंवार सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों ने भाग लिया। 

वीडियो कान्फ्रेंसिंग में सुश्री दहिया ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे विद्यालयों में परिवार पहचान पत्र बनाने को लेकर सभी तैयारियां समय रहते पूरी कर लें। उन्होंने कहा कि कोविड.19 संक्रमण को ध्यान में रखते हुए वे विद्यालयों में सुरक्षा मानदंडो व निर्धारित एसओपी की पालना सुनिश्चित करें। इसके लिए स्कूलों में थर्मल स्कैनिंगए सेनिटाइजर आदि की व्यवस्था पर्याप्त होनी आवश्यक है । विद्यालय में सामाजिक दूरी की पालना तथा फेस मास्क का प्रयोग किया जाए।

उन्होंने स्पष्ट किया कि स्कूल में केवल परिवार का एक ही सदस्य परिवार पहचान पत्र बनवाने या अपडेट करवाने के लिए विद्यालय में आयोजित किए जाने वाले कैंप में पहुंचे। इस दौरान अभिभावक बच्चों को साथ लेकर ना आएं।उन्होंने कहा कि जिला शिक्षा अधिकारी व जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी अध्यापकों की तिथिवार ड्यूटी लगाना सुनिश्चित करें। इसके अलावाए परिवार पहचान पत्र बनाने को लेकर कक्षावार शैड्यूल बनाते हुए बच्चों को अभिभावकों को समय रहते सूचित करें और यह सुनिश्चित करें कि विद्यालय परिसर में ज्यादा भीड़ एकत्रित ना हो। उन्होंने कहा कि परिवार में केवल एक ही व्यक्ति विद्यालय के कैंप में पहुंचकर परिवार के अन्य सदस्यों का डाटा अपडेट करवाने आए। इसके लिए व्यक्ति को अपने साथ परिवार के सभी सदस्यों के आधारकार्ड ए बैंक खातों की पासबुक की प्रति आदि साथ लाना अनिवार्य है। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि वे सभी स्कूलों में कंप्यूटर तथा इंटरनेट की व्यवस्था सुनिश्चित करें। 


 वीडियो कान्फ्रेंसिंग में बताया गया कि परिवार को समृद्घ बनाने के लिए परिवार पहचान पत्र जरूरी है। इस पहचान पत्र से जरूरतमंद नागरिकों को घर द्वार पर प्रदेश सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा। परिवार पहचान पत्र जिसके पास है उसे बार.बार प्रमाण पत्र बनवाना जरूरी नही है। परिवार पहचान पत्र से किसी भी प्रकार की डुप्लीकेसी नही होगी और भ्रष्टाचार पर भी अंकुश लगेगा। गुरूग्राम जिला में इस वीडियो कान्फ्रेंसिंग में अतिरिक्त उपायुक्त प्रशांत पंवार के साथ ए नगर निगम के संयुक्त आयुक्त हरिओम अत्री तथा जितेन्द्रए जिला शिक्षा अधिकारी इंदु बोकनए जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी प्रेमलता यादव के साथ जोनल अधिकारीए खंड शिक्षा अधिकारी सहित कई अन्य अधिकारी उपस्थित थे।  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: