अनलॉक-2 का अंतिम दिन : गुरुग्राम के औद्योगिक क्षेत्रों में कोरोना के बढ़ते मामलों से चिंतित हैं उद्यमी

Font Size

कोरोना को नियंत्रित करने में जुटा है जिला प्रशासन

प्लाज्मा बैंक की हो चुकी है शुरुआत

गुडग़ांव के बाजारों में खरीददारों की संख्या दिखाई दे रही है कम


गुडग़ांव, 31 जुलाई : कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से सक्रिय है। कोरोना पीडि़तों को प्लाज्मा आवश्यकता को देखते हुए गुडग़ांव में प्लाज्मा बैंक की स्थापना भी कर दी गई है और प्लाज्मा बैंक ने अपना काम भी शुरु कर दिया है।

पहले दिन ही 5 लोगों ने प्लाज्मा दान दिया। सिविल सर्जन डा. वीरेंद्र का कहना है कि 8 हजार 500 रुपए में एक यूनिट प्लाज्मा बैंक से खरीदा जा सकता है। प्लाज्मा बैंक में 100 यूनिट प्लाज्मा स्टोर करने की व्यवस्था फिलहाल की गई है। इसको आने वाले समय में बढ़ाया भी जाएगा। जिले में कोरोना के बढ़ते मामलों मे कमी आनी शुरु हो गई है और कोरोना से स्वस्थ होने वालों की संख्या में भी वृद्धि देखी जा रही है।

जिले में कोरोना की जांच को लेकर चल रहे अभियान को आगामी 9 अगस्त तक बढ़ा दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि कोरोना मरीजों के तेजी से स्वस्थ होने के कारण अब जिले में संक्रमितों के स्वस्थ होने का अनुपात 87 प्रतिशत से भी अधिक हो गया है। उधर जिला प्रशासन के सख्त दिशा-निर्देशों के बावजूद भी शहर के विभिन्न
क्षेत्रों में बनाए गए कंटेनमेंट जोन में लापरवाही की सूचनाएं मिल रही हैं।

बताया जाता है कि इन क्षेत्रों में लगाए गए बेरिकेट्स हटाकर लोग आवागमन भी कर रहे हैं। कुछ क्षेत्रों में तो गली-मौहल्ले की दुकानें भी खुल रही हैं, जिससे कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है। इन क्षेत्रवासियों का कहना है कि लापरवाही की शिकायत वे जिला प्रशासन से भी कर चुके हैं, लेकिन लापरवाह लोग बाज आते नहीं दिखाई दे रहे हैं। उधर जिले में कोरोना टेस्ट करने का आंकड़ा एक लाख से ऊपर पहुंच चुका है।


संक्रमितों का पता लगाने के लिए प्रतिदिन कोरोना जांच करने की गति भी बढ़ा दी गई है। औद्योगिक क्षेत्रों में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ जाने के कारण उद्यमी भी चिंतित नजर आ रहे हैं। उद्यमियों को अब ये चिंता
सता रही है कि संक्रमितों की संख्या बढऩे पर क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन बनाए जाएंगे तो उद्यमियों व श्रमिकों को और अधिक समस्याओं का सामना करना पड़ेगा। हालांकि उद्यमी जिला प्रशासन से मिलकर औद्योगिक क्षेत्रों में
कोरेाना जांच शिविर लगवा रहे हैं।

फिलहाल इस औद्योगिक क्षेत्र में कोरोना के 28 संक्रमित बताए जा रहे हैं। जिला प्रशासन अपनी ओर से हर संभव प्रयास कर रहा है कि कोरोना के बढ़ते मामलों को कैसे नियंत्रित किया जाए। अनलॉक-2 के 31वें व अंतिम दिन शहर के विभिन्न क्षेत्रों में आवागमन सामान्य ही रहा। बकरीद व रक्षाबंधन की तैयारियों को लेकर शहर के विभिन्न क्षेत्रों स्थित बाजारों में लोग खरीददारी भी करते दिखाई दिए। सदर बाजार में महिलाएं भी अपने भाईयों के लिए राखी खरीदने के लिए पहुंची, लेकिन इस बार महिलाओं की संख्या भी बाजारों में कम ही दिखाई दे रही है। दुकानदारों का कहना है कि ग्राहकों की कम संख्या का कारण कोरोना ही है। लोगों के मन से कोरोना का भय जाता दिखाई नहीं दे रहा है। उनकी दुकानदारी प्रभावित हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: