गाजियाबाद में बदमाशों की गोली का शिकार हुए पत्रकार विक्रम जोशी की मौत, पत्रकारों में जबरदस्त रोष, धरना व प्रदर्शन , दोषी पुलिस अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की मांग

Font Size

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में बदमाशों की गोली का शिकार हुए पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत हो गई है। इस घटना को लेकर पत्रकार समुदाय में गहरा रोष है। पत्रकारों ने एसएसपी गाजियाबाद के कार्यलय के समक्ष धरना दिया व पुलिस की नाकामी के खिलाफ विरोध जताया। पत्रकारों ने दोषी पुलिसकर्मी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे है और हत्यारों को सख्त सजा दिलाने की भी मांग की है। यह मामला अब राजनीतिक रंग लेने लगा है। कांग्रेस पार्टी ने इसको लेकर योगी आदित्यनाथ सरकार पर हमला बोला है । दूसरी तरफ मुख्यमंत्री योगी ने पत्रकार की मौत पर गहरा दु:ख व्यक्त करते हुए 10 लाख रुपये आर्थिक सहायता की घोषणा की है। मृतक की पत्नी को नौकरी और बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा देने का भी ऐलान किया है।

उल्लेखनीय है कि गाजियाबाद के विजय नगर में बदमाशों ने सोमवार रात पत्रकार विक्रम जोशी को सरे आम उनकी बेटियों के सामने गोली मार दी थी। उनका शहर के यशोदा अस्पताल में इलाज चल रहा था। अस्पताल में पत्रकार की हालत लगातार चिंताजनक बनी हुई थी, उन्हें आइसीयू में रखा गया था। बुधवार सुबह उनके निधन की सूचना आई तो पुलिस प्रशासन में भी हड़कंप मच गया।
बताया जाता है कि विक्रम जोशी ने इससे पहले कुछ अवांछित तत्वों द्वारा अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ का विरोध किया था। साथ ही उन्होंने पुलिस में शिकायत दी थी लेकिन पुलिस ने मामले में कोई कार्रवाई नहीं। परिवारवालों का कहना है कि पुलिस ने कई बार शिकायतों के बाद कोई कार्रवाई नहीं की और छेड़छाड़ करने वाले बदमाशों का मनोबल बढ़ता रहा। घटना से एक दिन पूर्व भी पत्रकार ने पुलिस चौकी के इंचार्ज को फोन कर शिकायत की थी लेकिन चौकी इंचार्ज ने अनसुना कर दिया। इस बीच पत्रकार जोशी अपनी बहन के घर भांजी के जन्मदिन पर शामिल होने आया था।

बताया जाता है कि जब वह यहां से निकल कर जा रहा था तभी उसे कुछ बदमाशों ने चारों ओर से घेर लिया और मारपीट की व उसके सिर में गोली मारी। उस समय उनके साथ दो बेटियां भी थी जो जान बचाकर सड़क ले दूसरे किनारे पर चली गई। उनके सामने यह विभत्स और दिल दहला देने वाली घटना हुई।

पत्रकार विक्रम जोशी की मौत की खबर आते ही अस्पताल में बड़ी संख्या में परिजन व मीडियाकर्मी जुट गए। परिजनों ने आरोपितों पर सख्त कार्रवाई की मांग को लेकर अस्पताल में हंगामा भी किया।

विजयनगर थाना क्षेत्र की माता कॉलोनी में सोमवार देर रात पत्रकार विक्रम जोशी को बदमाशों ने उनकी बेटियों के सामने ही कनपटी से तमंचा सटाकर गोली मार दी थी और फरार हो गए थे। मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपित समेत नौ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

लापरवाही बरतने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने प्रताप विहार चौकी प्रभारी राघवेंद्र सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है और सीओ सिटी प्रथम राकेश मिश्रा को विभागीय जांच सौंपी है।

पत्रकार की मौत पर कांग्रेस पार्टी के नेता राहुल गांधी ने तीव्र प्रतिक्रिया जारी है। उन्होंने कहा है कि वायदा किया था राम राज्य का और दे दिया जंगल राज।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: