आत्मनिर्भर गुरुग्राम की टीम ने लेटर बॉक्स में डाले मुख्यमंत्री के नाम 10 हजार पत्र

Font Size

लोगों ने की चाईनीज कम्पनी इकोग्रीन के अनुबंध को तत्काल निरस्त कराने की मांग

गुरूग्राम: आत्मनिर्भर गुरुग्राम के प्रवक्ता राजीव मित्तल ने बताया कि आंदोलन के प्रथम पखवाड़े में मुख्यमंत्री को 10हजार पत्र लिखवाने का अभियान चलाया गया था. उन सभी पत्रों को आज सदर बाजार स्थित मुख्य डाकघर के लेटर बॉक्स में आत्मनिर्भर गुरुग्राम की टीम ने डाल दिए।

गौरतलब है कि पोस्टकार्ड लिखवाने का लक्ष्य 10 हजार का था। इस लक्ष्य को जनता के उत्साह ने बड़ी सुगमता के साथ पूर्ण किया। इस अवसर पर आत्मनिर्भर गुरुग्राम के संयोजक अजय सिंहल ने कहा कि आज आंदोलन का 42 वां दिन है। विभिन्न कार्यक्रमों, उपक्रमों वह पराक्रमों के माध्यम से हम चाइनीस कूडा कंपनी इकोग्रीन के विरुद्ध जनता के बीच गए हैं। इसके अतिरिक्त हमने जनप्रतिनिधियों को भी ज्ञापन सौंपा है।

 

उन्होंने कहा कि हमें विश्वास है कि हम अपने इस देश भक्ति पूर्ण कार्य में अवश्य सफल होंगे। उन्होंने आह्वान किया कि गुरुग्राम की जनता इकोग्रीन को कूड़े का टैक्स ना दे। कूड़ा उठाने वाली कंपनी इकोग्रीन, जो कि चाइनीज है। वह अपने काम में खरी नहीं उतर रही है। साथ ही जन भावनाओं का निरादर हो रहा है। सीमा पर हमारे 20 जवानों की शहादत के बाद शहर के लोगों में गुस्सा है। वह नहीं चाहते कि चीनी कंपनी को कूड़ा उठाने का टैक्स इकोग्रीन को दें।

 

ज्ञात रहे कम्पनी द्वारा सरकारी करार में शामिल मापदण्ड़ो पर तो कम्पनी खरी उतरती ही नहीं है वरन कूड़े की आड़ में जनता और सरकार के करोड़ों स्वाहा हो रहे हैं । घरों से निकलने वाले कूड़े से उपयोगी सामान को भी अलग कर चहेते कबाड़ियों को देकर वारे न्यारे किए जा रहे हैं . कूड़े से बिजली निर्माण कर हरियाणा की विद्युत कमी को पूरा कर पाना गर्म आंच पर चढी खिंचड़ी की खाली हांड़ी के समान है। इस अवसर पर कोर टीम के सदस्य ललित हिंदुस्तानी, गिरीश सिंगला, प्रमोद गुप्ता श्री प्रकाश राय, तिलक राज आदि उपस्थित थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You cannot copy content of this page
%d bloggers like this: