सात दिवसीय ” मस्ती की पाठशाला ” में इन्टरनेट के माध्यम से जुड़े कई राज्यों के बच्चे

Font Size

फरीदाबाद :  इंटरनेट की आधुनिक तकनीक द्वारा सात दिवसीय “मस्ती की पाठशाला” नामक कार्यशाला का अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर समापन किया गया। वैश्विक महामारी काल / लॉक डाउन के दौरान इस कार्यशाला को इंटरनेट तकनीक की मदद से आयोजित किया था । महत्वाकांक्षा वेलफेयर सोसायटी एवं कार्यशाला की आयोजक सपना सूरी ने बताया कि कार्यशाला की सफलता के लिए उनकी पूरी टीम कई दिनों से प्रयासरत थी और सभी टीम के सदस्यों ने अपने अपने प्रयास से ( फ़ेसबुक और व्हाट्स ऐप ) के माध्यम से मस्ती की पाठशाला में लोगों को आमंत्रित किया. इसका परिणाम यह रहा कि ना केवल फ़रीदाबाद से वरन देश के अलग अलग हिस्सों से बच्चों ने पाठशाला में खूब  मस्ती की।

पाठशाला के पहले दिन जानी मानी शेफ़ किरण कालिया ने बिना आग का प्रयोग किये स्वादिष्ट व्यंजन बनाना सिखाया. वही पूनम अरोड़ा ने पूर्व और पचिम की डाँस शैली पर ज्ञान साँझा किया। संस्था की उपाध्यक्ष कुलप्रीत कौर ने बताया कि सभी बच्चों को इन सात दिनो में सुंदर लिखने की कला( हैंड राइटिंग ) टीम सदस्य कशिश गुलाटी द्वारा सिखाई गयी। योगा सेशन राहुल सूरी द्वारा संचालित किया गया।

इस कला को कैलीग्राफ़ी कहा जाता है , मयंक शर्मा ने बताया कि आज ‘मस्ती की पाठशाला’ का समापन योग के साथ हुआ जिसे उनकी पाठशाला का एक शिष्य कार्तिकेय सूरी ने बख़ूबी करके दिखाया। सपना सूरी ने सभी टीम सदस्यों व प्रतिभागियों का आभार व्यक्त किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: