गुरुग्राम में मंगलवार को कोरोना संक्रमण में रिकॉर्ड वृद्धि : 160 नए केस मिले , कुल संख्या 1063

Font Size

सुभाष चन्द्र चौधरी 

गुरुग्राम। जिला में आज यानी मंगलवार को कोविड-19 वायरस संक्रमित 160 नए मामले सामने आए हैं। हरियाणा प्रदेश के सभी जिले में गुरुग्राम में प्रतिदिन सर्वाधिक 75% से अधिक नए पॉजिटिव मामले मिल रहे हैं। हालांकि गुरुग्राम के जिला उपायुक्त लोगों को यह कहकर आश्वस्त कर रहे हैं कि इनमें से 80% केस हल्के लक्षण वाले हैं जिन्हें अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत नहीं बल्कि ओम आइसोलेशन में रहकर ही ठीक किया जा सकता है। संक्रमण की बढ़ती रफ्तार को देख गुरुग्राम के निवासी अब स्वतः ही अपने घरों से निकलने से हिचकने लगे हैं। प्रतिदिन 100 से अधिक मामले नए आ रहे हैं जबकि स्वास्थ विभाग प्रतिदिन औसतन 30 से अधिक लोगों के ठीक होने का भी दावा कर रहा है। सोमवार को भी यहां 129 नए पॉजिटिव केस मिलने की पुष्टि की गई थी।

 

 

हरियाणा का यह औद्योगिक शहर अब कोविड-19 संक्रमण के नक्शे पर तेज गति से देश के कुछ चुनिंदा उन शहरों के साथ खड़ा होने को तत्पर दिख रहा है जहां सर्वाधिक तेज गति से लोग संक्रमित हो रहे हैं। पिछले 3 सप्ताह से जिस रफ्तार से संक्रमण फैल रहा है उसके फिलहाल रुकने की संभावना नहीं दिख रही है। यही कारण है कि आज गुरुग्राम के जिला उपायुक्त अमित खत्री की ओर से अगले 30 जून तक के लिए जारी अनलॉक वन की गाइडलाइन में फेस 2 में शामिल गतिविधियों को भी प्रतिबंधित रखने का आदेश जारी किया गया है। उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने अगले 1 माह के लिए केबल कंटेनमेंट जॉन में लॉक डाउन जारी रखने का आदेश दिया है।

 

केंद्र सरकार की गाइडलाइन में फेज 1 में सभी प्रकार के धार्मिक स्थल पूजा के स्थल होटल रेस्टोरेंट और शॉपिंग मॉल शामिल किए गए हैं। इन सभी गतिविधियों को आगामी 8 जून से आम जनता के लिए खोलने की अनुमति दे दी है लेकिन गुरुग्राम के जिला कलेक्टर ने आज जारी आदेश में इन सभी गतिविधियों पर भी प्रतिबंध जारी रखने का ऐलान किया है। इससे जाहिर होता है कि गुरुग्राम के हालात दिन-प्रतिदिन बदतर होते जा रहे हैं और यहां संक्रमित लोगों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। स्थित यह है कि कभी पूरे हरियाणा प्रदेश में भी कुल संक्रमित लोगों की संख्या 500 से कम थी आज केवल गुरुग्राम में कुल संक्रमित लोगों की संख्या 1063 हो चुकी है।

 

स्वास्थ विभाग का आंकड़ा यह स्पष्ट कर रहा है कि यहां वर्तमान में 775 व्यक्ति इलाज करवा रहे हैं जबकि 284 व्यक्तियों के ठीक होने का दावा किया गया है। सुखद बात यह है कि गुरुग्राम में इतनी बड़ी संख्या में पॉजिटिव मामले मिलने के बावजूद मृत्यु दर बेहद कम है और कुल 4 लोगों की मौत यहां इस महामारी से हुई है।

 

हालांकि स्वास्थ्य भाग अपने बुलेटिन में इस बात को स्पष्ट नहीं करता है कि 775 लोगों में से कितने व्यक्ति जिला में घोषित कोविड-19 अस्पतालों में भर्ती हैं और कितने व्यक्ति होम आइसोलेशन में हैं। जिला उपायुक्त की ओर से जारी बयान में कुल मामलों में से 80% के बिना लक्षण वाले संक्रमित व्यक्ति होने का दावा किए जाने से ही यह संकेत मिल रहा है की 775 लोगों में से 80% से भी अधिक व्यक्ति अस्पताल पर निर्भर नहीं बल्कि व्यक्तिगत खर्च कर अपनी इलाज पर निर्भर है। कुल मिलाकर जिला प्रशासन ने चाहे केंद्र सरकार के निर्देश पर या फिर हरियाणा सरकार के निर्देश पर बिना लक्षण वाले लोगों को ओम आइसोलेशन के लिए मजबूर करने का निर्णय लिया हो लेकिन यह तो स्पष्ट है कि प्रशासन ने लोगों को इस संक्रमण काल में अब अपने हाल पर छोड़ने का मन बना लिया है।

 

प्रदेश की मुख्य सचिव केशनी आनंद अरोरा ने सोमवार को गुरुग्राम सहित प्रदेश के सभी जिले के डीसी को संक्रमित व्यक्तियों की मदद के लिए सोमवार रात तक जिले का एक मैप जनसामान्य के लिए जारी करने को कहा था जिसमें कोविड-19 टेस्ट लाइव के नाम उनके फोन नंबर सहित दर्शाने को कहा था। मुख्य सचिव ने टेस्ट लैब्स के अलावा जिले में आइसोलेटेड वार्ड ओम क्वॉरेंटाइन और कोविड-19 अस्पतालों में उपलब्ध बेड की सुविधा के साथ सभी आवश्यक मोबाइल नंबरों की जानकारी सहित पोस्टर सार्वजनिक स्थलों पर डिस्प्ले करने का भी आदेश दिया था। मंगलवार देर शाम तक मुख्य सचिव के उक्त आदेश पर अब तक अमल होता नहीं दिखाएं हां उपायुक्त ने लोगों को बिना लक्षण वाले संक्रमित व्यक्तियों को फॉर्म आइसोलेटेड रहने की सलाह अवश्य जारी की है।

 

सोमवार की बैठक में स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव अरोड़ा ने स्वयं यह स्वीकार किया था कि अकेले गुरुग्राम में ही 100 कंटेनमेंट जोन है। दूसरी तरफ नित नए आवासीय सेक्टर और कालोनियों में पॉजिटिव केस मिल रहे हैं। इससे कंटेनमेंट जोन की संख्या शहरी क्षेत्र में आने वाले दो-तीन दिनों में ही 200 का आंकड़ा पार कर सकती है। इन हालात से सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि गुरुग्राम में रहने वाले जनसामान्य कोविड-19 वायरस से अब कितनी दूर है। अधिकतर विशेषज्ञों का मानना है कि इससे बचाव की दो ही तरीके हैं एक अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकलना और निकले तो मास्क पहनकर साथ ही थोड़ी थोड़ी देर में हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करें जबकि मिलने वाले लोगों से 2 मीटर की दूरी बनाए रखें। दूसरा तरीका अपने शरीर मैं रोग से लड़ने की प्रतिरोध क्षमता को संतुलित आहार से मजबूत बनाएं। विटामिन सी विटामिन डी विटामिन ई और विटामिन ए की पूर्ति करने वाले फल एवं खाद्य वस्तुओं के साथ-साथ आयरन की प्रचुर मात्रा देने वाले वस्तुओं का उपयोग अवश्य करें। सुरक्षा के लिए शारीरिक व्यायाम भी आवश्यक बताया गया है।

 

स्वास्थ विभाग हरियाणा की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार हरियाणा में आज कुल 296 नए पॉजिटिव केस मिले हैं जिनमें से अकेले गुरुग्राम में 160 फरीदाबाद से 26 सोनीपत से 21 झज्जर से दो अंबाला से 7 पलवल से 9:00 पानीपत से दो जींद से 3 करनाल से 4 सिरसा से चार फतेहाबाद से पांच भिवानी से 6 रोहतक से 45 नारनौल से एक और कुरुक्षेत्र से भी एक व्यक्ति के संक्रमित होने की पुष्टि हुई है। कुल मिलाकर आज हरियाणा के 15 जिले में नए केस मिले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: