गुरूग्राम से 80 बसों में 2400 प्रवासी नागरिक उत्तर प्रदेश के चार जिले के लिए रवाना

Font Size

– नोडल अधिकारी की अपील-अपने घरों की ओर पैदल न निकलें कोई भी प्रवासी नागरिक

गुरूग्राम, 22 मई। कोविड-19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर चल रहे लॉकडाउन में प्रवासी नागरिकों को उनके गृह जिलों में भेजा जा रहा है। शुक्रवार को जिला गुरूग्राम में पांच अलग-अलग स्थानों से 80 बसों में 2400 प्रवासी नागरिकों को उत्तरप्रदेश के मुरादाबाद, अलीगढ़, बरेली तथा इटावा के लिए भेजा गया।

उपायुक्त अमित खत्री के दिशा-निर्देशानुसार गुरूग्राम जिला से एसडीएम चिनार चहल की देखरेख में सभी प्रवासी नागरिकों के स्वास्थ्य की जांच की गई और उसके बाद रोडवेज बसों से उन्हें गृह जिलों के लिए रवाना किया गया। एसडीएम ने बताया कि गुरूग्राम जिला से 80 बसों मे 2400 प्रवासी नागरिकों को 80 बसों में भेजा गया है। गुरूग्राम जिला में ये बसे पांच अलग-अलग स्थानों नामतः ताउ देवी लाल स्टेडियम, राजकीय महिला महाविद्यालय सैक्टर-14, मानेसर सैक्टर-8, गउशाला मानेसर व सिद्धरावली से रवाना हुई।

उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से प्रवासी नागरिकों को भेजने के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी चिनार चहल द्वारा निर्धारित किए गए शैड््यूल अनुसार ही प्रवासी नागरिकों को मास्क, पानी की बोतल व बिस्कुट पैकेट देते हुए निःशुल्क यात्रा के साथ घर भेजा जा रहा है।

गृह जिलों में भेजने में प्रशासन सहयोगी :  एसडीएम

प्रवासी नागरिकों को उनके गृह जिलों में भेजने के लिए नियुक्त प्रशासन की नोडल अधिकारी एवं एसडीएम चिनार चहल ने प्रवासी नागरिकों को धैर्य व संयम का परिचय देने की अपील की। उन्होंने कहा कि जिन प्रवासी नागरिकों द्वारा पंजीकरण करवाया गया है उन्हें भेजने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि गुरूग्राम जिला के प्रवासी नागरिकों को व्यवस्थित ढंग से सुरक्षित उनके गृह जिलों में भेजा जा रहा है। कोई भी प्रवासी नागरिक अपने घर जाने के लिए जल्दबाजी में पैदल अथवा साइकिल आदि से न निकलें। उन्होंने हर प्रवासी नागरिक से जिला प्रशासन का सहयोग करने की अपील की और कहा कि निर्धारित शैड्îूल के तहत ट्रेन व बसों के माध्यम से निशुल्क उन्हें गंतव्य के लिए रवाना किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि सरकार व प्रशासन की ओर से विशेष श्रमिक ट्रेन व बस के माध्यम से प्रवासी श्रमिकों को निरंतर भेजा जा रहा है किंतु यदि कोई प्रवासी नागरिक स्वयं अपने वाहन से भी घर जाना चाहते हैं तो गुरूग्राम जिला प्रशासन उसका सहयोग करने के लिए तैयार है। डा. चहल ने कहा कि स्वैच्छा से अपने वाहनों में जाने वाले प्रवासी नागरिकों के स्वास्थ्य की जांच करवाते हुए उन्हें तुरंत मूवमेंट पास जिला प्रशासन की ओर से जारी कर सुरक्षित घर भेज दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: