जेईई (मेन) 2020 की परीक्षा में बैठने वाले 14 अप्रेल तक अपने फॉर्म कर सकेंगे सुधार

Font Size

नई दिल्ली : कोविड​​-19 की वर्तमान स्थिति के मद्देनजर और जेईई (मेन) 2020 की परीक्षा में बैठने वालों के सामने आने वाली कठिनाइयों को देखते हुए केन्‍द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को सलाह दी है कि वह छात्रों को आवेदन पत्र में सुधार करने के दायरे का विस्तार करे और उन्‍हें अपने केन्‍द्र के लिए शहरों की पसंद शामिल करने की अनुमति प्रदान करे। फलस्‍वरूप, जेईई (मेन) 2020 के लिए ऑनलाइन आवेदन पत्र में सुधार की सुविधा के बारे में नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने दिनांक 01.04.2020 को जारी सार्वजनिक सूचना को जारी रखते हुए आवेदन फार्मों में सुधार करने के दायरे का आज विस्तार किया, जिसमें अब केन्‍द्र के लिए शहरों का चुनाव भी शामिल किया गया है।

एनटीए अब प्रयास करेगा कि उम्‍मीदवार को आवेदन फॉर्म में दी गई उसकी पसंद के क्रम में क्षमता की उपलब्‍धता होने पर शहर आवंटित किया जाए। हालांकि, प्रशासनिक कारणों से, एक अलग शहर आवंटित किया जा सकता है और केन्‍द्र के आवंटन के बारे में एनटीए का निर्णय अंतिम होगा।

जेईई (मेन)-2020 के सभी उम्मीदवारों को सूचित किया जाता है कि ऑनलाइन आवेदन पत्र में केन्‍द्र के लिए शहरों की पसंद सहितविवरण में सुधारों की सुविधा अब वेबसाइट https: //jeemain.nta.nicपर उपलब्‍ध है और यह 14/04/2020* तक उपलब्ध होगी। उम्मीदवारों को सलाह दी जाती है कि वे वेबसाइट पर जाएं और अपने विवरण को सत्यापित करें और जहां भी आवश्यक हो, आवश्यक सुधार कर लें।

‘*’ऑनलाइन आवेदन फॉर्मों के विवरण में सुधार शाम 05.00 बजे तक ही स्वीकार किया जाएगा और फीस रात 11.50 बजे तक ली जाएगी।

आवश्‍यक (अतिरिक्त) शुल्क, यदि लागू है, तो उसका भुगतान क्रेडिट/ डेबिट कार्ड/ नेट बैंकिंग /यूपीआई और पेटीएमके जरिये किया जा सकता है।

यदि फॉर्म में किए गए परिवर्तनों के आधार पर अतिरिक्त फीस का भुगतान करने की आवश्यकता होती है, तो अंतिम अपडेट भुगतान के बाद दिखाई देंगे।

उम्मीदवारों से अनुरोध है कि वे बहुत सावधानी से सुधार करें क्योंकि सुधार का कोई और मौका प्रदान नहीं किया जाएगा।

उम्मीदवारों और उनके माता-पिता को सलाह दी जाती है कि वे नवीनतम जानकारी के लिए jeemain.nta.nic.in और www.nta.ac.in देखते रहें। उम्‍मीदवार किसी अन्‍य प्रकार के स्‍पष्‍टीकरण के लिए 8287471852,8178359845,9650173668,9599676953,8882356803 पर सम्‍पर्क कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: